NEW RESEARCH : मंगल ग्रह पर थे पानी के विशाल समुद्र, अब भी पानी मौजूद !

-चार अरब साल पहले था भरपूर पानी
-100 से 1500 मीटर गहरे थे समुद्र

By: pushpesh

Published: 23 Mar 2021, 02:58 PM IST

पृथ्वी के पड़ोसी ग्रह मंगल पर दुनियाभर वैज्ञानिक और अंतरिक्ष एजेंसियों की नजर है। नासा भी यहां पानी और जीवन की संभावनाओं को टटोलने के लिए कई रोवर भेज चुका है। अब नए शोध में इस बात का दावा किया गया है कि मंगल पर 30 से 99 फीसदी के बीच पानी का महत्वपूर्ण हिस्सा इसकी पपड़ी और चट्टानों में फंसा हुआ है। यह रिसर्च कैलिफोर्निया इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी और नासा की जेट प्रोपल्शन लेबोरेटरी की टीम ने संयुक्त रूप से किया है।

अटलांटिक महासागर के आधे हिस्से के बराबर
शोध टीम ने पाया कि लगभग चार अरब वर्ष पहले मंगल ग्रह पर 100 से 1500 मीटर गहरे समुद्रों में भरपूर पानी था। टीम ने यह भी बताया कि मंगल ग्रह के लिए ये पानी पर्याप्त था। लेकिन मात्रा की दृष्टि से समझें तो यह अटलांटिक महासागर के आधे हिस्से के बराबर कहा जा सकता है। यहां के समुद्रों में पानी एक अरब साल बाद सूख गया और आज की स्थिति में था।

फिर कहां गया पानी
इस अध्ययन से पहले वैज्ञानिकों का मानना था कि मंगल पर कम गुरुत्वाकर्षण के चलते उसका अधिकांश पानी अंतरिक्ष में चला गया। अब शोधकर्ताओं का विचार है कि कम गुरुत्वाकर्षण के चलते कुछ पानी जरूर अंतरिक्ष में चला गया होगा, लेकिन अधिकांश पानी के जाने की बात सही नहीं हो सकती। शोध अध्ययन के प्रमुख लेखक इवा शेलर का कहना है कि वायुमंडल से पानी लापता होना इस बात का संकेत नहीं देता कि ग्रह पर वास्तव में कितना पानी था।

Show More
pushpesh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned