चांद के मामले में शनि ने बृहस्पति को छोड़ा पीछे, वैज्ञानिकों ने सुलझाई ये अनसुलझी गुत्थी

चांद के मामले में शनि ने बृहस्पति को छोड़ा पीछे, वैज्ञानिकों ने सुलझाई ये अनसुलझी गुत्थी

Prakash Chand Joshi | Updated: 10 Oct 2019, 02:00:57 PM (IST) विज्ञान और तकनीक

  • वैज्ञानिकों ने 20 नए चांदों की खोज की

नई दिल्ली: ब्रह्मांड में नाजाने कितने रहस्य छुपे हैं क्योंकि वैज्ञानिक हर बार कुछ न कुछ रहस्य या कोई बड़ी जानकारी लेकर सामने आते हैं, जो दुनिया को चौंका देती है। हाल ही में वैज्ञानिकों ने बताया कि शनि ग्रह के इर्द गिर्द चक्कर लगाने वाले चांदों की संख्या अब बढ़कर 82 हो गई है। इससे पहले तक सबसे ज्यादा 79 चांद बृहस्पति के इर्द गिर्द मंडराते देखे गए थे। कार्नेगी इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस के अंतरिक्षविज्ञानी स्कॉट शेपर्ड ने कहा 'ये पता लगाना बड़ा मजेदार रहा कि शनि अब वास्तव में चांद के मामले में सरताज है।'

saturn2.png

शेपर्ड और उनकी टीम ने हवाई के एक टेलिस्कोप का इस्तेमाल करके शनि के नए चांदों की तलाश इस साल गर्मियों में की। शेपर्ड के मुताबिक, अभी 100 और छोटे चांद शनि के चक्कर लगा रहे हैं जिनकी तलाश की जानी बाकी है। शनि का चक्कर लगाने वाले 5 किलोमीटर के व्यास वाले और बृहस्पति का चक्कर लगाने वाले 1.6 किलोमीटर जितने छोटे चांदों का पता लगा लिया है। बृहस्पति की तुलना में शनि के इर्द गिर्द छोटे चांदों का पता लगाना ज्यादा मुश्किल है क्योंकि शनि पृथ्वी से बहुत दूर है।

saturn.png

वैज्ञानिकों ने जिन 20 नए चांदों की खोज शनि के चारों और की, इनमें से 17 उसके ईर्द गिर्द उल्टी दिशा में चक्कर लगा रहे हैं जबकि 3 उस दिशा में चक्कर काट रहेहैं जिस दिशा में शनि खुद घूमता है। इन चांदों की शनि से दूरी इतनी है कि इन्हें एक परिक्रमा पूरी करने में 2-3 साल लग रहे हैं। हालांकि, इस बात से भी इंकार नहीं किया जा सकता कि सौरमंडल का सबसे बड़ा तारा अब भी बृहस्पति के पास ही है। गेनीमेडे चांद पृथ्वी के आकार का लगभग आधा है। वहीं शनि के पास मिले सभी 20 चांद काफी छोटे हैं। इनमें से सभी का व्यास लगभग 5 किलोमीटर है।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned