Asteroid Apophis Image: धरती के बेहद करीब आ चुका है महाविनाशक एस्टरॉयड, सामने आई पहली तस्वीर

  • नासा के वैज्ञानिकों के अनुसार 6 मार्च को यह ऐस्‍टरॉइड (Asteroid Apophis)पृथ्‍वी के पास से गुजरेगा
  • खगोलविदों ने वर्चुअल टेलिस्कोवप (Virtual Telescope Project)की मदद से इस महाविनाशक ऐस्टुरॉइड की तस्वींर खींची है

By: Pratibha Tripathi

Updated: 19 Feb 2021, 05:09 PM IST

नई दिल्ली। धरती के विनाश का कारण बनने वाला तीसरा सबसे खतरनाक ऐस्‍टरॉइड अपोफिस (Asteroid Apophis) अब धरती के बेहद करीब पंहुच चुका है। जिसकी पहली तस्वीर भी दुनिया के सामने आ गई है। नासा के वैज्ञानिकों के अनुसार यह ऐस्‍टरॉइड 6 मार्च को पृथ्‍वी के करीब से गुजरेगा। आपको बता दें कि खगोलविदों ने वर्चुअल टेलिस्‍कोप की मदद से करोड़ों किलोमीटर की दूरी से इस महाविनाशक ऐस्‍टरॉइड की तस्‍वीर खींची है। जिसका सपळता उन्हें 8 साल की निगरानी के बाद मिली है। बताया जा रहा है कि करीब 370 मीटर चौड़ी इस चट्टान के धरती से 48 सालों में टकराने का खतरा है।

आपको बता दें कि अपोफिस ऐस्‍टरॉइड 6 मार्च को पृथ्‍वी के करीब से गुजरेगा वर्चुअल टेलिस्‍कोप प्रॉजेक्‍ट (Virtual Telescope Project) पर इसका लाइव प्रसारण 24 घंटे किया जाएगा। यह महाविनाशक ऐस्‍टरॉइड, सोलर सिस्‍टम में मौजूद सबसे खतरनाक चट्टानों में से एक माना जाता है।

पृथ्वी पर 88 करोड़ टन TNT के विस्‍फोट के बराबर असर होगा

यह ऐस्‍टरॉइड तेजी से पृथ्वी की ओर बढ़ रहा है और अगले 48 सालों में यह पृथ्‍वी से टकरा सकता है। हालांकि नासा के वैज्ञानिक इस ऐस्‍टरॉइड के हर कदम पर नजर रख हुए हैं. इस ऐस्‍टरॉइड के शक्तिशाली होने का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि यह अगर पृथ्‍वी से टकराता है तो 88 करोड़ टन TNT के विस्‍फोट के बराबर असर होगा। यह विशालकाय चट्टान साल 2029 में पृथ्‍वी के इससे भी ज्‍यादा करीब से गुजरेगी। महाप्रलय लाने वाले इस अपोफिस ऐस्‍टरॉइड का यूनानी भाषा में अर्थ होता है, 'तबाही का देवता।

Pratibha Tripathi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned