Blue Whale मामले में केंद्र सरकार का जवाब चाहता है सर्वोच्च न्यायालय

Jameel Khan

Publish: Sep, 17 2017 07:14:38 (IST)

Science & Tech
Blue Whale मामले में केंद्र सरकार का जवाब चाहता है सर्वोच्च न्यायालय

याचिकाकर्ता ने कहा कि Blue Whale गेम बच्चों व वयस्कों का जीवन छीन रहा है, इससे पहले ही बहुत नुकसान हो चुका है।

नई दिल्ली। सर्वोच्च न्यायालय ने शुक्रवार को ऑनलाइन गेम-ब्लू व्हेल पर प्रतिबंध लगाने की मांग वाली याचिका पर सुनवाई करते हुए इस संबंध में केंद्र से जवाब मांगा है। ब्लू व्हेल गेम को लोगों की मौत का जिम्मेदार ठहराया गया है। प्रधान न्यायाधीश दीपक मिश्रा, न्यायमूर्ति ए.एम. खानविलकर व न्यायमूर्ति डी.वाई. चंद्रचूड़ ने सरकार से मामले पर प्रतिक्रिया मांगी है और वकील सी.आर. जया सुकिन को अपनी याचिका की एक प्रति अटॉर्नी जनरल के.के. वेणुगोपाल को देने को कहा है।

सुकिन मदुरै के वकील याचिकाकर्ता एन.एस. पोन्नियाह (73) की तरफ से पेश हुए। याचिकाकर्ता ने मांग की है कि ब्ल्यू व्हेल गेम के घातक परिणामों के बारे में जागरूकता पैदा की जानी चाहिए।

रूस के पूर्व सजायाफ्ता द्वारा बनाए गए ब्ल्यू व्हेल गेम चैलेंज में कथित तौर पर खिलाडिय़ों को 50 दिनों की अवधि के लिए कई साहसी, आत्म विनाशकारी कार्यों के लिए उकसाया जाता है व अंतिम चुनौती में खिलाड़ी को आत्महत्या के लिए कहा जाता है।

याचिकाकर्ता ने कहा कि ब्लू व्हेल गेम बच्चों व वयस्कों का जीवन छीन रहा है, इससे पहले ही बहुत नुकसान हो चुका है। उन्होंने यह भी कहा कि इस गेम की वजह से माता-पिता दहशत में जी रहे हैं और समझ नहीं पा रहे कि हालात से कैसे निपटें।

याचिकाकर्ता के वकील ने उल्लेख किया कि खेल को सोशल मीडिया से लोकप्रियता मिल रही है और उन मीडिया रिपोर्ट का जिक्र किया जिसमें ऑनलाइन गेम खेलते समय 200 लोगों की आत्महत्या की बात है।

 

एपाल्या करेगी आईबीसी में ओटीटी समाधान का प्रदर्शन
हैदराबाद। एमस्टरडम में होने वाले आईबीसी 2017 में एशिया में मोबाइल टीवी की प्रमुख कंपनी एपाल्या अपनी ओटीटी सेवाओं के पूर्ण स्पेक्ट्रम का प्रदर्शन करेगी, जोकि सभी डिवाइसों के लिए उपलब्ध है।

इंटरनेशनल ब्रॉडकास्टिंग कंवेंशन (आईबीसी) 2017 एक प्रीमियर एंटरटेनमेंट और मीडिया शो है जिसका आयोजन 15 से 19 सितंबर तक किया जा रहा है। इसमें 1,700 से ज्यादा प्रदर्शक भाग लेंगे। एपाल्या 12 देशों में 31 भागीदारों को अपने ग्राहकों को पूरी तरह से प्रबंधित मोबाइल वीडियो और ओवर-द-टॉप (ओटीटी) समाधान मुहैया कराने में मदद करती है।

हैदराबाद की कंपनी ने कहा कि एपाल्या का ओटीटी प्लेटफार्म 'माइप्लेक्सà अत्याधुनिक प्रौद्योगिकी के साथ एक उत्तरदायी मॉड्यूलर डिजायन को लेकर आई है, जो ग्राहकों को बाधारहित तरीके से ओटीटी-रेडी होने में मदद करती है। एपाल्या ने इसके अलावा डॉल्वी समाधानों को पहली बार ओटीटी प्लेटफार्म से एकीकृत कर दिया है। एपाल्या इस समाधान का भी आईबीसी 2017 में प्रदर्शन करेगी।

एपाल्या के मुख्य कार्यकारी अधिकारी वाम्शी रेड्डी ने कहा, यूरोप के पास एक परिपक्व ओटीटी बाजार है, जो अपाल्या जैसी कंपनियों को व्यापक अवसर प्रदान करता है। हमारी पस्थिति पहले ही अफ्रीका, मध्य पूर्व और दक्षिण पूर्व एशिया है। हमारा लक्ष्य जल्द ही यूरोपीय बाजार में प्रवेश करने का है। आईबीसी में हमारी भागीदारी इसी दिशा में उठाया गया कदम है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned