अब ड्राइविंग के दौरान आसानी से कर सकेंगे कॉल रिसीव, एंड्रायड ने पेश किया ये खास फीचर

लोगों की सुरक्षा को ध्यान में रखकर एंड्रॉयड ऑटो में एक नए फीचर 'स्वाइप टू अनलॉक' को अपडेट किया गया है

By:

Published: 21 Mar 2018, 01:31 PM IST

नई दिल्ली। मोबाइल फोन एक ऐसी डिवाइस है जो है तो बड़े काम की लेकिन आजकल ये दुर्घटनाओं का कारण बनते जा रहा है। सड़कों पर पैदल चलते हुए या फिर बाइक या कार चलाने के दौरान हम रोज लोगों को मोबाइल में बात करते हुए देखते हैं। कभी-कभी लोगों का ध्यान भटक जाता है और वो दुर्घटनाओं के शिकार हो जाते हैं। खासकर आज का युवा वर्ग इसके चपेट में ज्यादा आ रहे हैं। सरकार की ओर से भी तरह-तरह के संदेश दिए जाते हैं ताकि लोग सचेत रहे और जख्मी होने से बचे रहें। सड़को पर भी बैनरों और एड्स के माध्यम से लोगों में जागरूकता फैलाने की कोशिश की जा रही है लेकिन अब कहां, कोई किसी का सुनता है?

Swipe to unlock

टेक्नोलॉजी को हमारी सुविधाओं को ध्यान में रखकर बनाया गया है। लोग इसका दुरूपयोग कर रहे हैं, ये हम इंसानों की ही गलती है। लोगों की सुरक्षा को ध्यान में रखकर एंड्रॉयड ऑटो में एक नए फीचर को अपडेट किया गया है, ताकि इसकी मदद से हादसों से बचने में मदद मिल सकें। इस फीचर का नाम 'स्वाइप टू अनलॉक' है।

इस फीचर की मदद से चालक अब गाड़ी के डिवाइस से फोन के कनेक्ट होने के बावजूद बस एक स्वाइप से ही उसे अनलॉक कर सकेंगे। पहले कार के डिवाइस से फोन को तुरंत डिस्कनेक्ट करने में काफी टाइम लगता था। 'स्वाइप टू अनलॉक' की मदद से इस परेशानी से मुक्ति मिलेगी।

'स्वाइप टू अनलॉक' से अब चालक कार से मोबाइल के पेयर होने के बाद भी इसे एक स्वाइप से अनलॉक कर सकेंगे। हालांकि यूजर्स का ऐसा कहना है कि एंड्रायड का अनलॉक फीचर मात्र 15 सेकेंड के लिए ही एक्टिव रहता है। इस पर एंड्रॉयड का कहना है कि ये टाइम लिमिट यूजर्स की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए ही तय किया गया है।

Swipe to unlock

'स्वाइप टू अनलॉक' से चालकों को काफी हद तक राहत दिलाएगी और इसकी मदद से दुर्घटनाओं से भी बचा जा सकता है। ये बात सौ प्रतिशत तक सच है कि कोई भी मशीन या डिवाइस हमें एक हद तक सुरक्षा दे सकती है, बाकी हमारे हाथ में हैं कि हम खुद को किस तरह मेंटेन करते हैं।

 

Show More
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned