जिले में 4952 को लगा टीका, कोरोना वायरस की विदाई जल्द !

हर्ड इम्युनिटी डेवलप होने से कोरोना नहीं कर पा रहा अटैक, छह महीने बाद शुक्रवार को नहीं मिला पॉजिटिव

By: Kuldeep Saraswat

Published: 30 Jan 2021, 11:41 AM IST

सीहोर. कोरोना वैक्सीनेशन शुरु होने के बाद से ऐसा लग रहा है कि कोरोना की विदाई का समय नजदीक आ गया है। छह महीने बाद शुक्रवार ऐसा दिन रहा है, जब जिले में एक भी नया कोरोना पॉजिटिव नहीं मिला है और जिले में एक्टिव कोरोना पॉजिटिव केस की संख्या भी 20 से कम है। बीते एक महीने से एक्टिव कोरोना पॉजिटिव की संख्या निरंतर कम होती जा रही है और रोज मिलने वाले नए पॉजिटिव की संख्या भी 10 से नीचे ही है। शुक्रवार को जिले में एक भी कोरोना पॉजिटिव नहीं मिला और 11 व्यक्तियों को रिकवर होने पर डिस्चार्ज किया गया।

जिले में 4952 को लगा टीका, कोरोना वायरस की विदाई जल्द !

कोरोना की विदाई का समय नजदीक आने का कारण वैक्सीन के बाद हर्ड इम्युनिटी डेवलप होने का माना जा रहा है। जिला अस्तपाल के सिविल सर्जन डॉ. आनंद शर्मा ने बताया कि वायरस से लडऩे के लिए शरीर में हर्ड इम्युनिटी डेवलप हो गई है, जिसके करण वायरस असर नहीं कर पा रहा है। कोरोना से बचाव के लिए निरंतर मास्क लगाना और बार-बार साबुन से हाथ धोना, सैनेटाइजर का उपयोग करना भी व्यक्ति के व्यवहार में आ गया है, जिससे वायरस की चैन लंबी नहीं हो पा रही है। उन्होंने बताया कि कोरोना से बचाव के लिए वैक्सीनेशन का कार्य भी तेजी से चल रहा है, उम्मीद है जिले से जल्द की कोरोना की विदाई होगी।

जिले में दूसरी बार बनी है ऐसी स्थित
मध्यप्रदेश में कोरोना संक्रमणकाल की शुरुआत मार्च के महीने में हुई थी। प्रदेश में पहला कोरोना पॉजिटिव 20 मार्च को जबलपुर में मिला। इसके बाद धीरे-धीरे आधे से ज्यादा प्रदेश में कोरोना फैल गया, लेकिन इंदौर-भोपाल के कोरोना हॉट स्पॉट बनने के बाद भी सीहोर जिला सुरक्षित रहा। जिले में कोरोना का पहला पॉजिटिव 7 मई को मिला, जिसकी दो दिन बाद भोपाल में मौत हो गई। इसके बाद निरंतर कोरोना पॉजिटिव की संख्या बढ़ती गई, लेकिन 9 जुलाई 2020 को बीच में एक दिन ऐसा आया, जब जिले में एक भी नया कोरोना पॉजिटिव नहीं मिला। तब से अब तक यह मौका छह महीने बाद दूसरी बार फिर से आया है, जब शुक्रवार को एक भी नया कोरोना पॉजिटिव नहीं मिला है।

11 पॉजिटिव रिकवर होने के बाद डिस्चार्ज
सीएमएचओ डॉ. सुधीर कुमार डेहरिया ने बताया कि पिछले 24 घंटे के दौरान एक भी कोरोना पॉजिटिव नहीं मिला है। शुक्रवार को 11 कोरोना पॉजिटिव को रिकवर होने के बाद डिस्चार्ज किया गया है। जिले में एक्टिव केस 18 है। जिले में अभी तक 2725 कोरोना पॉजिटिव स्वस्थ हो चुके हैं और 48 की उपचार के दौरान मौत हुई है। 29 जनवरी को जिले से 223 सैंपल लिए गए हैं। सीहोर शहरी क्षेत्र से 26, नसरुल्लागंज से 40, आष्टा से 58, इछावर से 13, श्यामपुर से 60, बुदनी से 26 सैंपल लिए हैं। जिले में कोरोना पॉजिटिव व्यक्तियों की संख्या 2791 है। जिले से अभी तक जांच के लिए 67726 सैंपल भेजे गए थे, जिसमें से 63715 की रिपोर्ट नेगेटिव आई है। 891 कोरोना सैंपल की रिपोर्ट आना शेष है। जांच के दौरान 71 सैंपल रिजेक्ट किए गए हैं।

अब तक 4952 हेल्थ वर्कर्स को लगा टीका
कोविड-19 का टीका शुक्रवार को भी किया गया। शाम 5.30 बजे तक तक 4952 स्वास्थ्यकर्मियों को कोरोना टीका लगया जा चुका है। 16 जनवरी से टीकाकरण अभियान की शुरूआत 4 स्वास्थ्य संस्थाओं में की गई थी। निर्धारित लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए द्वितीय सप्ताह में सत्रों की संख्या 7 और फिर बढ़ाकर 16 और अब 23 की गई है। जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ. एमके चंदेल ने बताया कि अब तक आष्टा सिविल अस्पताल में आयोजित टीकाकरण सत्र में 628, आष्टा-2 में 96, आष्टा-3 में 12, कोठरी में 67, मैना 82, सीएचसी जावर 241, सिद्दीकगंज में 87, सीएचसी बुदनी मं 438, सीएचसी रेहटी 118, पीएचसी शाहगंज 27, बकतरा 62, सीएचसी इछावर 280, रामनगर 80, दिवडिय़ा 93, पीएचसी अमलाहा 86, कोलार डैम 90, सिविल अस्पताल नसरुल्लागंज 330, नसरुल्लागंज सीएचसी-2 में 78, लाड़कुई 154, इटावा ईटारसी 161, सीएचसी श्यामपुर 463, बिल्सिकगंज 139, दोराहा 191, अहमदपुर 103, सीहोर ग्रामीण जिला चिकित्सालय 70, सीहोर शहरी क्षेत्र डीएच-1 में 567, शहरी क्षेत्र डीएच-2 में 138 तथा सीहोर शहरी क्षेत्र डीएच-3 में 71 हेल्थ वर्कर्स और अफसरों को टीका लगाया गया है। शनिवार को भी चिन्हित स्वास्थ्य संस्थाओं पर टीका लगाया जाएगा।

 

Kuldeep Saraswat
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned