republic day: प्रभारी मंत्री रामपाल ने सीहोर में लहराया तिरंगा, परेड की ली सलामी

परेड में शामिल विशेष सशस्त्र बल, पुलिस और होमगार्ड समेत कुल 13 टुकड़ियों ने हर्ष फायर किया।

By: दीपेश तिवारी

Published: 26 Jan 2018, 10:20 PM IST

सीहोर। गणतंत्र दिवस समारोह जिले में शुक्रवार को उत्साह और उमंग के साथ मनाया गया। जिले का मुख्य समारोह मंडी स्थित डीआरपी लाइन में आयोजित हुआ ,जहां प्रदेश के पीडब्ल्यूडी और जिले के प्रभारी मंत्री रामपाल सिंह ने ध्वजारोहण कर परेड की सलामी ली। मंत्री ने सीएम शिवराज सिंह चौहान के संदेश का पढ़ा।

परेड में शामिल विशेष सशस्त्र बल, पुलिस और होमगार्ड समेत कुल 13 टुकड़ियों ने हर्ष फायर कर मार्च पास्ट किया। इस अवसर पर स्कूली बच्चों ने राष्ट्र भक्ति के सामूहिक नृत्य और सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किए। अंत में कार्यो के बेहतर तरीके से करने के लिए शासकीय और अशासकीय लोगों को मंत्री रामपाल सिंह ने प्रशस्ति पत्र दिये। इस अवसर पर मंत्री ने प्रदेश वासियो को गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएं दीं।

कार्यक्रम में उपस्थित सीहोर विधायक सुदेश राय भारतीय जनता पार्टी के जिला अध्यक्ष सीताराम यादव जिला पंचायत अध्यक्ष उर्मिला बरेठा सीहोर कलेक्टर तरुणकुमार पेट्रोल एसपी सिद्धार्थ बाहुगुणा जिला पंचायत सीईओ डॉ केदार सिंह एसडीएम सीहोर राजकुमार खत्री सहित जनप्रतिनिधि और प्रशासनिक अधिकारी उपस्थित रहे।

इधर, 12 वर्ष की छात्रा से कराया थाने का झंडावंदन:-
जिले के आष्टा में टीआई ने थाने का झंडावंदन उस 12 वर्ष की छात्रा से कराया, जो पुलिस का बड़ा अधिकारी बनने की तमन्ना रखती है। टीआई ने छात्रा को पुलिस केप भी पहनाया जिससे उसे यह एहसास हो कि वो पुलिस की अधिकारी है। वही पूरे थाना स्टॉफ ने इस पल को कैमरे में भी कैद किया गया।

दरअसल, कुछ दिनों पहले आष्टा तहसील के ग्राम खेमपुर गुलरिया की एक 12 वर्षीय एक छात्रा मोबाइल में वीडियो गेम ना खेले जाने से नाराज हो गई। और घर से भागने के लिए निकली कि आष्टा टीआई बीड़ी बीरा सीहोर रोड दरगाह के पास से समझा कर थाने ले आये औऱ उसे पिता के साथ घर भेज दिया। छात्रा ने बातचीत के दौरान टीआई को अपनी इच्छा बताई थी कि वो भी पुलिस का बड़ा अधिकारी बनना चाहती है,तब टीआई ने उससे वादा किया था कि उसे एक दिन का आष्टा थाने का टीआई बनाऊंगा।

आज यानि शुक्रवार को गणतंत्र दिवस के मौके पर टीआई ने छात्रा को थाने में बुलाया और उससे झंडावदन करने को कहा। ध्वजारोहण के बाद छात्रा को पुलिस कैंप पहना कर यह एहसास कराया गया कि वो पुलिस की अधिकारी है,और पूरे थाना स्टॉफ ने इस पल को कैमरे में भी कैद किया ।

ज्ञात हो कि आष्टा थाने के इतिहास में ये पहली बार हुआ है कि किसी टीआई ने एक बच्ची से झंड़ावंदन कराया हो। इस अनूठी पहल और एक छात्रा की इच्छा का सम्मान कर जो अनूठा कार्य आज 69 वे गणतंत्र के मौके पर आष्टा टीआई बीरा ने किया है, वो निश्चित ही इतिहास रचने जैसा है। इसे आष्टा थाने का वर्तमान स्टॉफ और छात्रा जीवन भर याद रखेंगें। बता दें कि इसके पहले आष्टा एसडीओपी जीपी अग्रवाल ने भवानी चौक पर एक सफाईकर्मी महिला से ध्वजारोहण कराया था,जिसे पूरे प्रदेश ने सराहा था।

BJP
दीपेश तिवारी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned