कर्जमाफी के लिए दूसरे चरण में मांगी 137 करोड़ 88 लाख की राशि

सूची में 150 किसान 1.99 लाख रुपए के कर्जदार,द्वितीय चरण में 19 हजार 774 किसानों का कर्जा होगा माफ, पहले चरण में 82 हजार 328 को मिल चुके हैं 306 करोड़ रुपए

By: Kuldeep Saraswat

Published: 06 Jan 2020, 01:57 PM IST

सीहोर. जय किसान फसल ऋण माफी योजना के तहत दूसरे चरण में करीब 20 हजार किसानों का कर्ज माफ होगा। कृषि विभाग ने संचालक संजीव सिंह को प्रस्ताव भेजकर 138 करोड़ 88 लाख रुपए की राशि मांगी है। अफसरों ने दूसरे चरण में कर्जमाफी के लिए जो सूची तैयार की है, उसमें करीब 150 किसान ऐसे हैं, जिनका 1 लाख 99 हजार रुपए का कर्जा माफ होना है और यह किसान इस समय डिफाल्टर हैं। मालूम हो, सीहोर जिले में जय किसान फसल ऋण माफी योजना के पहले चरण में 82 हजार 328 किसानों का कर्जा माफ हुआ है। इन किसानों के खाते में सरकार ने 306 करोड़ रुपए जमा कराया है।

फसल ऋण माफी योजना के तहत सीहोर जिले में दो लाख 30 हजार किसानों ने आवेदन किया है। इन किसानों में कई वह किसान हैं, जिनके एक से अधिक खाते हैं। अफसरों की माने तो करीब 60 फीसदी किसान ऐसे हैं, जिनके दो-दो, तीन-तीन खाते हैं। किसानों ने खाते के हिसाब से कर्ज माफी के फार्म भरे हैं, लेकिन फिलहाल सहकारी बैंक को प्राथमिकता देते हुए कर्ज माफ हो रहा है। पहले चरण में एक से 50 हजार रुपए तक के कर्जदार 82 हजार 328 किसानों का 306 करोड़ रुपए माफ किया गया। अब सरकार ने दूसरे चरण की प्रक्रिया शुरू कर दी है। सीहोर जिले से दूसरे चरण के लिए कृषि विभाग के अफसरों ने 137 करोड़ 88 लाख 24 हजार 628 रुपए की राशि मांगी है। यह राशि 19 हजार 774 किसानों के खाते में जमा कराई जाएगी। अफसरों ने दावा किया है कि इस सूची में एनपीए (डिफाल्टर) खाते वाले करीब 150 किसान वह हैं, जिनका 1 लाख 99 हजार का कर्जा माफ होगा।

डबल खाते का चक्कर समझें किसान
यदि किसी किसान के चार बैंक में खाते हैं तब भी उसे दो लाख रुपए तक की कर्जमाफी का लाख मिलेगा। यह राशि एक ही खाते की हो सकती है और अलग-अलग खातों की भी। कृषि विभाग के अफसर डबल खाते वाले किसानों में से प्राथमिकता सहकारी बैंक वाले किसानों को दे रही है। किसान के चार खाते हैं तो पहले सहकारी बैंक के खाते का कर्ज माफ होगा। सीहोर जिले में डबल खाते वाले किसान कितने हैं, अभी स्पष्ट नहीं है। यह कर्जमाफी की प्रक्रिया पूरी होने के बाद ही स्पष्ट हो सकेगा। ऐसे किसानों की संख्या जिले के पोर्टल पर दिखाई नहीं दे रही है, इसकी गिनती प्रदेश स्तर पर ही पोर्टल से की जा रही है।

दूसरे चरण की कर्जमाफी का गणित
- राष्ट्रीयकृत बैंकों के 4 हजार 567 पीए खातों के लिए 33 करोड़ 49 लाख 19 हजार 394 रुपए की राशि मांगी गई है। इसी प्रकार 124 एनपीए खाते के लिए 29 लाख 64 हजार 564 रुपए की राशि मांगी है।
- जिला सहकारी बैंक के 15 हजार 21 खातों के लिए 103 करोड़ 89 लाख 13 हजार 169 रुपए की राशि मांगी गई है। इसी तरह 62 एनपीए खाते के लिए 20 लाख 27 हजार 501 रुपए की राशि मांगी गई है।


खास-खास
- राष्ट्रीयकृत बैंक के पीए और एनपीए : 4691
- जिला सहकारी बैंक के पीए और एनपीए : 15083
- जिले के पीए और एनपीए : 19774
- पीए और एनपीए को मिलने वाली राखि : 1378824628
(नोट : 3 जनवरी 2020)

वर्जन....
- जय किसान फलस ऋण माफी योजना के तहत दूसरे चरण में 19 हजार 774 किसानों के लिए 137 करोड़ 88 लाख रुपए की राशि मांगी है। इस सूची में करीब 150 डिफाल्टर किसान ऐसे हैं, जिनका 1.99 लाख रुपए तक का कर्जमाफ होगा।
रामशंकर जाट, सहायक संचालक कृषि सीहोर

Kuldeep Saraswat
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned