एक-एक परिवार से दो-दो, तीन-तीन ने भरा नामांकन

एक-एक परिवार से दो-दो, तीन-तीन ने भरा नामांकन

Manoj Vishwkarma | Publish: Nov, 11 2018 01:02:02 AM (IST) Sehore, Sehore, Madhya Pradesh, India

सीहोर जिले की चार विधानसभा सीट कुल ७३ उम्मीदवारों ने दाखिल किया है नामांकन

सीहोर. सीहोर जिले की चार विधानसभा सीट बुदनी, इछावर, सीहोर और आष्टा से कुल ७३ उम्मीदवारों ने नामांकन दाखिल किया है। नामांकन दाखिल करने में उम्मीदवारों को फार्म रिजेक्ट होने का डर बहुत रहा है। गलती के डर से एक-एक परिवार के दो-दो, तीन-तीन सदस्यों ने नामांकन फार्म जमा किए हैं। सीहोर में तो निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में पति-पत्नी और बेटा तीनों ने नामांकन दाखिल किया है।

 

जानकारी के अनुसार सीहोर विधानसभा सीट से १५, आष्टा से १०, इछावर से २७ और बुदनी से २१ उम्मीदवार मैदान में हैं। सबसे ज्यादा नामांकन फार्म इछावर और सबसे कम आष्टा विधानसभा में जमा हुए हैं। इसके अलावा सीहोर में एक ही परिवार से निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में पूर्व विधायक रमेश सक्सेना, उनकी पत्नी ऊषा सक्सेना, बेटा शशांक सक्सेना और इछावर में भाजपा उम्मीदवार पूर्व राजस्व मंत्री करण सिंह वर्मा और उनके बेटे विष्णु वर्मा ने नामांकन फार्म जमा किया है। यदि नामांकन फार्म वापस नहीं लिया जाता है तो सीहोर में पति, पत्नी और बेटा का आमना-सामना होगा, वहीं इछावर में पिता-पुत्र आमने सामने होंगे।

नामांकन फार्म जमा करने की प्रक्रिया शुक्रवार को पूरी हो गई। अब नामांकन फार्म की जांच का काम चल रहा है। १४ नवंबर को नामांकन वापसी होगी और इसके बाद उम्मीदवारों को चुनाव चिन्ह वितरण किया जाएगा। चुनाव की तिथि जैसे-जैसे नजदीक आती जा रही है, राजनीतिक गतिविधियां तेज होती जा रही हैं। जिलेभर में राजनीतिक दलों के उम्मीदवार चुनाव प्रचार में लग गए हैं।

पेड न्यूज को लेकर फिर नोटिस

चुनाव आयोग ने पेड न्यूज को लेकर सीहोर और आष्टा विधानसभा के उम्मीदवारों को फिर नोटिस दिए हैं। सीहोर विधानसभा में कांग्रेस उम्मीदवार सुरेन्द्र सिंह ठाकुर, निर्दलीय गौरव सन्नी महाजन और आष्टा में कांग्रेस उम्मीदवार गोपाल सिंह इंजीनियर को नोटिस दिया गया है। इससे पहले सीहोर में भाजपा उम्मीदवार सुदेश राय, निर्दलीय रमेश सक्सेना और आष्टा में भाजपा उम्मीदवार रघुनाथ मालवीय को भी पेड न्यूज मामले में नोटिस मिल चुका है।

इधर, दूसरे उम्मीदवार का प्रचार किया तो माना जाएगा भ्रष्ट आचरण

सीहोर. एक उम्मीदवार ने किसी दूसरे उम्मीदवार को चुनाव प्रचार किया तो यह भ्रष्ट आचारण माना जाएगा। चुनाव आयोग भ्रष्ट आचरण करते हुए आचार संहिता के उल्लंघन का मामला दर्ज कर कठोर कार्रवाई करेगा। सभी उम्मीदवार इस बात का ध्यान रखें कि उनके वाहन में दूसरे उम्मीदवार की चुनाव सामग्री नहीं रखी जाए। यह बात शनिवार को व्यय मदों के लेखा संधारण संबंधी प्रशिक्षण में जिला निर्वाचन अधिकारी व कलेक्टर तरूण कुमार पिथौड़े ने कही।

जिला पंचायत के सभाकक्ष में आयोजित प्रशिक्षण शिविर में कलेक्टर ने कहा कि राजनीतिक दल और उम्मीदवारों की पहली प्राथमिकता है कि वह आदर्श आचार संहिता का पालन करें। प्रत्येक अभ्यर्थी को निर्वाचन व्यय का ब्यौरा निर्धारित समय पर दाखिल करना होगा। निर्वाचन आयोग द्वारा अभ्यर्थी को प्रचार-प्रसार के लिए 28 लाख रुपए की सीमा निर्धारित की गई है। अभ्यर्थी को हर स्थिति में 11 जनवरी तक लेखा का ब्यौरा जिला निर्वाचन अधिकारी के कार्यालय में जमा करना है और नामांकन जमा करने की तिथि से मतदान तक व्यय की गणना की जाएगी। प्रशिक्षण शिविर में लेखादल के नोडल अधिकारी अमन पस्तोर और आरती शर्मा ने विस्तार से अभ्यर्थियों को व्यय संबंधी जानकारी दी। उन्होंने बताया कि अभ्यर्थी को अपने नाम से या स्वयं के ऐजेंट के साथ नया बैंक खाता खुलवाना अनिवार्य है। 20 हजार रुपए से अधिक का भुगतान चैक के माध्यम से ही किया जाएगा।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned