scriptBig game by manipulating a word in the name of the hospital | अस्पताल के नाम में एक शब्द का हेरफेर कर सीएमएचओ ऑफिस ने कर दिया बड़ा खेल | Patrika News

अस्पताल के नाम में एक शब्द का हेरफेर कर सीएमएचओ ऑफिस ने कर दिया बड़ा खेल

सीएमएचओ ऑफिस से पहली बार नहीं हुआ है, इससे पहले भी ऐसे कई अप्रत्याशित काम हुए हैं।

सीहोर

Updated: December 27, 2021 03:20:24 pm

सीहोर. नर्सिंग कॉलेज की संबद्धता के लिए 100, 200 और 300 बेड के अस्पताल को एक रात में अनुमति देने जैसा कारनामा सीहोर सीएमएचओ ऑफिस से पहली बार नहीं हुआ है, इससे पहले भी ऐसे कई अप्रत्याशित काम हुए हैं। रविवार को पत्रिका की पड़ताल में सामने आया है कि जिला प्रशासन ने कोरोना संक्रमणकाल के दौरान मिली अनियमितताओं को लेकर जिन हॉस्पिटल के पंजीयन निरस्त किए थे, सीएमएचओ ऑफिस ने उन्हें नाम में एक शब्द फेरबदल कर फिर से पंजीयन कर चालू करा दिया है।

अस्पताल के नाम में एक शब्द का हेरफेर कर सीएमएचओ ऑफिस ने कर दिया बड़ा खेल
अस्पताल के नाम में एक शब्द का हेरफेर कर सीएमएचओ ऑफिस ने कर दिया बड़ा खेल

जावर का न्यू देवश्री हॉस्पिटल और सीहोर के बरखेड़ी का न्यू रूद्र हॉस्पिटल भी उन्हीं में से हैं। अस्पताल के नाम में एक शब्द का हेरफेर कर पूर्व में दोषी पाए गए व्यक्ति को फिर से उसी जगह, उसी सेटअप पर अस्पताल संचालन की अनुमति देना भी स्वास्थ्य विभाग की कार्यप्रणाली पर सवाल खड़े करने वाला है।


केस 1.
आष्टा के जावर में साल 2016 से देवश्री हॉस्पिटल का संचालन किया जा रहा है। इस हॉस्पिटल के संचालक देवेन्द्र सिंह हैं। कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर के दौरान इस अस्पताल में कुछ अनियमितताएं मिलीं, जिसे लेकर स्वास्थ्य विभाग ने रजिस्ट्रेशन निरस्त कर दिया। रजिस्ट्रेशन निरस्त के एक-दो सप्ताह तो यह अस्पताल बंद रहा, लेकिन कुछ दिन बाद फिर से चालू हो गया। जब इसकी पड़ताल की गई तो सामने आया है कि सीएमएचओ ऑफिस ने उसी बिल्डिंग, उसी संचालक के नाम से न्यू शब्द जोड़कर पंजीयन कर दिया है। अब यह अस्पताल न्यू देवश्री हॉस्पिटल के नाम से संचालित हो रहा है। इसमें एक खास बात यह भी है कि रेकॉर्ड में एक शब्द का हेरफेर हुआ है, मौके पर वह भी नहीं है। अस्पताल में बोर्ड अभी भी देवश्री का ही लगा है। यदि यहां कुछ बदला है तो सिर्फ अस्पताल का रजिस्ट्रेशन नंबर, जो पहले एनएच/3006/ अक्टूबर-2016, अब एनएच/ 3879/ जुलाई-2021 हो गया है।

केस 2.
सीहोर मुख्यालय से महज 9 किलोमीटर की दूरी पर बरखेड़ी में रुद्र हॉस्पिटल का संचालन किया जा रहा है। यह हॉस्पिटल साल 2017 में डॉ. धर्मेन्द्र धनगर ने खोला था। चार साल तो इसके कामकाज पर किसी की भी नजर नहीं पड़ी, लेकिन कोरोना संक्रमण काल के दौरान जब राजस्व और स्वास्थ्य विभाग की टीम ने शिकायत होने पर इस अस्पताल का जायजा लिया तो हालात गंभीर मिले। राजस्व अमले की रिपोर्ट पर स्वास्थ्य विभाग ने तत्काल पंजीयन निरस्त किया, यहां भी देवश्री हॉस्पिटल जैसी कहानी बनी। कुछ दिन अस्पताल बंद रहा और फिर जैसे ही मौका मिला, सीएमएचओ ने डॉ. धनगर को न्यू रुद्र हॉस्पिटल के नाम से अनुमति दे दी। अब यह अस्पताल पहले की ही जगह पर, पहले की ही जैसी व्यवस्थाओं के साथ केवल रजिस्ट्रेशन नंबर बदलकर फिर से पूर्व की तरह संचालित हो रहा है। पहले रजिस्ट्रेशन नंबर एनएच/4182/ फरवरी-2017 था, अब एनएच/ 3878/जुलाई-2021 हो गया है।

यह भी पढ़ें : तुषार के कहर से सब्जियों में नुकसान, सड़क पर फेंकने को मजबूर किसान

पूरे कुएं में घुली है भांग

सीएमएचओ कार्यालय से प्राइवेट अस्पतालों को अनुमति देने में किए जा रहे इस खेल की एक के बाद एक परत खुल रही है। इससे स्पष्ट है कि केवल सीएमएचओ या बाबू नहीं, यहां पदस्थ पूरा अमला इस खेल में शामिल है। पूरे कुएं में ही भांग घुली हुई है। स्वास्थ्य विभाग की गाइड लाइन के हिसाब से जब भी किसी अस्पताल का पंजीयन किया जाता है, पहले जांच समिति मौका मुआयना करती है। औपचारिकता के लिए न्यू रुद्र हॉस्पिटल और न्यू देवश्री हॉस्पिटल का भी जांच समिति ने मुआयना किया होगा। निश्चित तौर पर उस दौरान यह बात सामने आई होगी कि यह वही अस्पताल है, जिसका पंजीयन निरस्त किया गया है, लिहाजा सीएमएचओ ऑफिस की जांच कमेटी ने अनुमति कैसे दे दी, यह भी बड़ा सवाल है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Video Weather News: कल से प्रदेश में पूरी तरह से सक्रिय होगा पश्चिमी विक्षोभ, होगी बारिशVIDEO: राजस्थान में 24 घंटे के भीतर बारिश का दौर शुरू, शनिवार को 16 जिलों में बारिश, 5 में ओलावृष्टिदिल्ली-एनसीआर में बनेंगे छह नए मेट्रो कॉरिडोर, जानिए पूरी प्लानिंगश्री गणेश से जुड़ा उपाय : जो बनाता है धन लाभ का योग! बस ये एक कार्य करेगा आपकी रुकावटें दूर और दिलाएगा सफलता!पाकिस्तान से राजस्थान में हो रहा गंदा धंधाइन 4 राशि वाले लड़कों की सबसे ज्यादा दीवानी होती हैं लड़कियां, पत्नी के दिल पर करते हैं राजहार्दिक पांड्या ने चुनी ऑलटाइम IPL XI, रोहित शर्मा की जगह इसे बनाया कप्तानName Astrology: अपने लव पार्टनर के लिए बेहद लकी मानी जाती हैं इन नाम वाली लड़कियां

बड़ी खबरें

Corona Vaccine: वैक्सीन के लिए नई गाइडलाइंस, कोरोना से ठीक होने के कितने महीने बाद लगेगा टीकाGood News: प्रियंका चोपड़ा और निक जोनस बने माता-पिता, एक्ट्रेस ने पोस्ट शेयर कर फैंस को बताया- बेबी आया है...यूपी की हॉट विधानसभा सीट : गुरुओं की विरासत संभालने उतरे योगी आदित्यनाथ और अखिलेश यादवक्या चुनावी रैलियों पर खत्म होंगी पाबंदियां, चुनाव आयोग की अहम बैठक आजदेश विरोधी कंटेंट के खिलाफ सरकार की बड़ी कार्रवाई, 35 यूट्यूब चैनल किए ब्लॉकमंत्री ने किया दावा कहा- राज्य की खनन नीति देश में बनेगी मिसालभिलाई में ईंट से सिर कुचलकर युवक की हत्या, रातभर ठंड में अकड़ा शव, पास में मिली शराब की बोतल और पर्चीथाने से सौ मीटर दूरी पर युवक की चाकू से गोदकर हत्या, इधर पत्नी का गला घोंट स्वयं फांसी पर झूल गया पति
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.