सेकंड ग्रेड के लिए नर्सों ने काली पट्टी बांधकर किया काम, जताया विरोध

मांगे पूरी नहीं हुई तो आंदोलन के अगले चरण में सभी नर्स, एलएचबी और एएनएम अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाएंगी। इससे स्वास्थ्य सेवाएं पूरी तरह से प्रभावित होंगी। 

By: Bharat pandey

Published: 09 Nov 2016, 11:20 PM IST

सीहोर। नर्सों को सेकंड ग्रेड का दर्जा अन्य प्रदेश की तरह दिया जाए। इसके साथ ही प्रदेश की पे बैंड एक से अपग्रेड करते हुए पे बैंड दो किया जाए की लंबे समय से मांग को लेकर नर्सेस एसोसिएशन के तत्वावधान में जिला अस्पताल की नर्सों ने बुधवार को काली पट्टी बांधकर विरोध जताया। 


नर्सें लंबे समय से अपनी मांगों के निराकरण की मांग उठा रही हैं। इसी तरह नर्सो की अन्य मांगों में तीन व चार अग्रिम वेतन वृद्धि का लाभ  2007 से पदस्थ नर्सेस को दिया जाए, समयमान वेतनमान का प्रस्ताव विगत कई सालों से सामान्य प्रशासन विभाग को भेजा जाना लंबित है। जिससे मांगों का निराकरण नहीं होने से स्टाफ नर्स, नर्सिंग सिस्टर, मेट्रन आदि को चिकित्सा शिक्षा विभाग में समयमान का लाभ नहीं मिल पा रहा है, लेकिन प्रदेश सरकार इनकी मांगों पर कोई ठोस निर्णय नहीं ले पा रही है। इसी को लेकर बुधवार को जिला अस्पताल की नर्सों ने काली पट्टी बांधकर विरोध जताया। संयुक्त मोर्चा नर्सेस एसोसिएशन की अध्यक्ष विमला यादव ने बताया कि मांगों के निराकरण नहीं होने पर आंदोलन को तेज किया जाएगा। आंदोलन के अगले चरण में सभी नर्स, एलएचबी और एएनएम अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाएंगी। हड़ताल से स्वास्थ्य सेवाएं पूरी तरह से प्रभावित होंगी। 
Bharat pandey Desk
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned