भाजपा राज में जो किसान हक मांगता उसे गोली मार दी जाती- बावरिया

सरकार को घेरने कांग्रेस का होगा पूरे प्रदेश में आंदोलन, धरना प्रदर्शन...

By: brajesh tiwari

Published: 10 Feb 2018, 11:26 AM IST

सीहोर। प्रदेश सरकार के राज में जो किसान अपना हक मांगता, उसको गोली मार दी जाती है। प्याज तुलाने जाने पर मार दिया जाता है।बिजली कंपनी किसानों को आत्महत्या करने मजबूर कर देती है।

25 दिन तक जेल में बंदकर उसके ऊपर गंभीर प्रकरण दर्ज कर दिया जाता है। कोई मीडिया इसका खुलासा करता हैतो उसको डराया, धमकाया जाता है। ऐसी सरकार से क्या उम्मीद जा सकती है। जनता को सिवाय परेशानी के अलावा कुछ नहीं मिल रहा है।इन सबका जनता की अदालत जल्द ही फैसला करेगी।

जिला कांग्रेस कमेटी द्वारा मंडी स्थित रेस्ट हाउस में आयोजित बैठक में शामिल होने आए प्रदेश प्रभारी दीपक बावरिया ने प्रदेेश सरकार पर यह आरोप लगाए हैं। उनके साथ प्रदेश उपाध्यक्ष और जिला प्रभारी आभा सिंह भी मौजूद थीं।

लगातार पिछले कुछ सालों से हार का मुंह देख रही कांग्रेस में वापस जान फूंकने की कवायद इन दिनों की जा रही है।इसी के तहत यह बैठक आयोजित की गई थी।इसमें शहर सहित पूरे जिले से कांग्रेस पदाधिकारी और कार्यकर्ता शामिल हुए।

प्रदेश प्रभारी बावरिया ने शुरूआत में कहा कि कई बार कमजोरी होती है कि हमारी जानकारी छोटे स्तर तक नहीं पहुंचती है, उसे दूर करें।किसान, जनहित की समस्या को लेकर पूरे प्रदेश में आंदोलन शुरू किया जाएगा।इस दौरान भावांतर योजना, कृषि, रोड टूटने, सफाई, पानी सहित अन्य बात आएगी,इसकी सूची बना लो।आंदोलन, घेराव आदि की व्यवस्था बनाने सभी मंडल, ब्लॉक, जिला कांग्रेस कमेटी की रहेगी।

जो प्रत्याशी रहेगा, उसकी भी जिम्मेदारी होगी।बावरिया ने कहा कि जिले में कांगे्रस का अभी एक ही इछावर में एमएलए (विधायक) है।आने वाले विधानसभा चुनाव में मुख्यमंत्री के क्षेत्र बुदनी सहित जिले में कांग्रेस का विधायक बनाना है।इसके लिए जनता से संपर्क बनाकर चले तो हम जीत सकते हैं।

चुनाव लडऩे वालों को अभी से तलाशों
प्रदेश प्रभारी बावरिया ने बाहर से कांग्रेस पार्टी में शामिल होने वालों को टिकट देने पर आपत्ति दर्ज कराई। उन्होंने कहा कि बाहर से आए कार्यकर्ता को टिकट देना पाप के समान है।विधानसभा चुनाव लडऩे की मंशा रखने वालों पर भी फोकस किया।बावरिया ने कहा कि ऐसे प्रत्याशी को अभी से तलाशे।

बैठक मेें शामिल होने आए बावरिया से भोपाल के कांग्रेस विधायक हेमंत कटारे से मीडिया ने सवाल पूछा तो इसे साजिश बताकर पल्ला झाड़ लिया।बावरिया ने कहा कि कटारे को राजनीतिक द्वेष के चलते फंसाया गया।उन्होनें मुख्यमंत्री को भी जुमलेबाज बताया।

 

राजस्थान के नतीजों ने बता दिया
बावरिया ने कहा कि हाल ही में राजस्थान में आए चुनाव परिणामों ने बता दिया कि अब कांग्रेस राज आने वाला है।मप्र में भी सरकार बनेगी।इस दौरान सीएम के गृह जिले में नर्मदा नदी में हो रहे अवैध खनन का मामला भी उठा।बावरिया ने अपने बयान में कहा कि कोई बड़ा मामला आता है तो उसमें भी सरकार प्रमाणित अधिकारी को जांच नहीं देती।

जांच समिति में उसको बैठाते जो उनके हाजिया रहते हैं। ऐसे में उनसे क्या न्याय की उम्मीद की जा सकती है।हम तो यही उम्मीद करते हैं कि प्रजा की अदालत सबसे बड़ी होती है।वहीं इसका फैसला करेगी।सरकार किसानों, गरीबी के मामले में विषयों को टालते रहते, भावनात्मक मुद्दे को जोडऩे की कोशिश की नाकायमबी को छुपाने कांग्रेस पर थोपा जाता है।आने वाले दिनों में कांग्रेस इसको बड़ी चुनौती देगी।

 

चाय पीकर आता हूं
कांग्रेस की महिला पार्षद आरती नरेंद्र खंगराले प्रदेश प्रभारी को शिकायत दर्ज कराने पहुंची थी। बावरिया कार्यकर्ता से चर्चा करने के बाद उनसे मिले और शिकायत बताई तो किसी तरह का जवाब देने की बताया चाय पीकर आता हूं की बात कहकर चले गए।पदाधिकारी और कार्यकर्ता भी उनसे एक साथ मिलने की कोशिश कर रहे थे।

ऐसा नहीं करते हुए उन्होंने ग्रुप बनाकर बात की।इस दौरान उनसे पार्टी का फीडबैक लेने के साथ ही कई जानकारी दी। इस अवसर पर राहुल यादव, कैलाश परमार, कमलेश कटारे, एचआर परमाल, हरपाल ठाकुर, रतन सिंह ठाकुर, दामोदर राय, पंकज शर्मा, कुतुबद्दीन शेख आदि उपस्थित थे।

 

इन पर रहेगा आने वाले दिनों में कांग्रेस का फोकस
आंदोलन, धरना देकर प्रदेश सरकार को घेरेगी।
मंडलम बनाकर बड़े स्तर से छोटे स्तर तक पकड़ बनाना।
जनता की समस्या को नोट कर उसकी सूची बनाना।
चुनाव लडऩे वाले प्रत्याशी को भी पदाधिकारी, कार्यकर्ता के साथ मेहनत करना होगी।

brajesh tiwari
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned