दिग्विजय सिंह ने कमलनाथ को कहा सिंघम मुख्यमंत्री

भू-माफियाओं से सरकारी जमीन मुक्त कराने को लेकर दी सिंघम की संज्ञा

By: Kuldeep Saraswat

Published: 06 Jan 2020, 03:14 PM IST

सीहोर. पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने रविवार को मुख्यमंत्री कमलनाथ को सिंघम बताया है। कमलनाथ को सिंघम की संज्ञा भू-माफियाओं से सरकारी जमीन को मुक्त कराने को लेकर दी है। सीएम कमलनाथ को दिग्विजय सिंह से सिंघम कहा है, वहीं प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह को दो शरीर और एक आत्मा बताया है। एक निजी कार्यक्रम में शामिल होने आए पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने सरकारी जमीन पर हरिजन आदिवासी को पट्टे देने के सवाल पर कहा कि मध्यप्रदेश में सरकारी जमीन तो बची नहीं है। हमारे सिंघम मुख्यमंत्री सारी सरकारी जमीन से कब्जा हटा रहे हैं। अगर कब्जा हटाने के बाद खाली जमीन बचती है तो पहला अधिकार गरीब का है, उसको देना चाहिए।

मीडिया से रूबरू होते हुए एनआरसी के सवाल पर उन्होंने कहा कि नरेंद्र मोदी के पास बर्थ सार्टिफिकेट है क्या? मैं पूछना चाहता हूं कि उनकी श्रद्वेय माताजी के पास बर्थ सार्टिफिकेट है क्या? यहां पर जो लोग मजदूरी करने आते हैं, उनसे पूछा जाएं कि जन्मतिथि क्या है, तो बताते मां कहती थी कि दीपावली के पहले हुई थी या फिर होली के बाद। कौन से साल में पैदा हुई ये तक मालूम नहीं।

एनआरसी केवल पैसा कमाना है। असम में एनआरसी लगे 11 साल हो और उसमें 1600 करोड़ रुपए खर्च हुए। पता क्या लगा कि साढ़े 19 लाख लोग विदेशी हैं, जिसमेें से साढ़े 12 लाख हिन्दू है। ये केवल अपने अर्थ व्यवस्था से ध्यान भटकाने के लिए है। रोजगार की बात करो तो एनआरसी लाना है, महंगाई बढ़ती जा रही है, पागल कोर्ट करेंगे। नरेंद्र मोदी, अमित शाह एक जीव हैं और दो शरीर। इनकी आत्मा एक है, इनको अलग नहीं किया जा सकता है, आज भाजपा के नेता भी इन दोनों से परेशान है।

patrika news mp news sports news
Kuldeep Saraswat
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned