अस्पताल के हालात सुधारो, ऐसा नहीं चलेगा

अस्पताल के हालात सुधारो, ऐसा नहीं चलेगा

sanjana kumar | Publish: Oct, 12 2017 03:39:40 PM (IST) Raisen, Madhya Pradesh, India

प्रभारी मंत्री ने लगाई स्टॉफ को फटकार, नर्स का झूठ पकड़ा...

 

रायसेन। जिला अस्पताल की बदहाली की कलई आए दिन खुलती है। कई बार मंत्री और अधिकारियों के सामने भी ऐसे हालात बने कि अस्पताल स्टॉफ को फटकार सुनना पड़ा, लेकिन हिदायतों के बाद भी सुधार नजर नहीं आया। गुरुवार को एक बार फिर ऐसे ही हालातों से सामना हुआ।

जिले के प्रभारी मंत्री सूर्यप्रकाश मीणा बस दुर्घटना में घायल हुए यात्रियों को देखने अचानक जिला अस्पताल पहुंच गए। जिसकी जानकारी अस्पताल स्टॉफ को नहीं थी। अचानक मंत्री को सामने पाकर डॉक्टर और नर्स हड़बड़ा गए और अपनी कमियों को छुपाने के लिए झूठ का सहारा लेने लगे, लेकिन असलियत सामने देख मंत्री ने जमकर फटकार लगाई और आगे हालात सुधारने के निर्देश दिए।

घायलों को देखने मेल वार्ड में पहुंचे मंत्री मीणा को घायलों के परिजनों ने पलंगों पर बिछी चादरों के हालात बताए। जो बहुत गंदे थे। मीणा ने वार्ड में मौजूद नर्स और आरएमओ डा. यशपाल बाल्यान से पूछा कि चादर कब से नहीं बदले, तो नर्स ने तुरंत जबाब दिया कि सुबह ही बदले हैं। लेकिन चादरों के हालात बता रहे थे कि ये गुरुवार को बदले ही नहीं गए। मीणा ने नर्स के झूठ बोलने पर नाराजगी जाहिर करते हुए हर दिन चादर बदलने और बेहतर सफाई रखने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि मैं फिर निरीक्षण करने आउंगा यदि कमियां मिलीं तो कड़ी कार्रवाई होगी।

पहले भी मिल चुकी हैं हिदायतें

ये कोई पहला मामला नहीं है, इससे पहले पीडब्ल्यूडी मंत्री रामपाल सिंह लगभग एक साल पहले इसी मरह एक दुर्घटना के घायलों को देखने जिला अस्पताल पहुंचे थे। तब उन्होंने भी बदहाली को सुधारने के निर्देश अस्पताल के जिम्मेदारों को दिए थे। एक साल बाद फिर एक मंत्री के सामने वही हालात नजर आए। इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि स्वास्थ्य अमला कितना संजीदा है और मंत्रियों के निर्देश उनके लिए कितने मायने रखते हैं।

Ad Block is Banned