यूरिया लेने सात घंटे भूखे-प्यासे कतार में खड़े रहे किसान, नहीं मिला तो खाली लौटे

मंडी स्थित एमपी एग्रो केंद्र पर पुलिस के साएं में बाटा यूरिया

सीहोर.
यूरिया का संकट किसानों का पीछा छोडऩे का नाम नहीं ले रहा है। इसकी बानगी जिले की सोसायटियों के साथ सीहोर के मंडी स्थित एमपी स्टेट एग्रो डेवलपमेंट कॉर्पोरेशन लिमिटेड सेंटर पर लगी किसानों की भीड़ बता रही है। मंडी केंद्र पर यूरिया को लेकर गुरुवार को किसानों की भीड़ दोगुनी हुई तो पुलिस को व्यवस्था संभालने में पसीना आ गया। करीब सात घंटे से ज्यादा भूखे-प्यासे कतार में खड़े होने के बाद किसानों को तीन बोरी यूरिया मिला। कई का नंबर नहीं आया तो खाली लौटना पड़ा। जिससे उनको परेशानी उठाना पड़ी।

कृषि विभाग के अफसर भरपूर यूरिया का ढिंढोरा पीट रहे हैं, लेकिन असल में हकीकत कुछ और ही है। अंदाजा इससे लगाया जा सकता है कि एक बोरी यूरिया को लेकर किसानों को भटकना पड़ रहा है। गुरुवार को मंडी एमपी एग्रो सेंटर पर अलसुबह से ही महिला और पुरूष किसानों के पहुंचने से फिर व्यवस्था बिगड़ गई। व्यवस्था संभालने दो पुलिस जवान पहुंचे तो उनको तक जद्दोजहद करना पड़ी। करीब 300 से अधिक किसानों को लंबी कतार में खड़ा कराने के बाद यूरिया वितरण कराना पड़ा।

किसान बोले नहीं बढ़ाएं काउंटर
किसानों का आरोप था कि अफसर चाहते तो एमपी एग्रो केंद्र पर काउंटर बढ़ाकर समस्या दूर कर सकते थे। बावजूद इसके ऐसा नहीं किया गया। एक काउंटर से ही खाद की पर्ची मिलने के कारण व्यवस्था बिगड़ रही है, जिसका खामियाजा उनको परेशानी के रूप में भुगतना पड़ रहा है। कतार में खड़े कई किसान नंबर नहीं आने के चलते बीच में आक्रोश भी जाहिर करते हुए नजर आएं। किसानों ने बताया कि बाजार में जमकर यूरिया की कालाबाजारी चल रही है। कई व्यापारी मनमाने रुपए वसूल कर ब्लैक में यूरिया बेच रहे हैं।

क्या है यूरिया की स्थिति
कृषि विभाग के अधिकारियों की माने तो करीब 60 हजार से अधिक मीट्रिक टन यूरिया की डिमांड बनाकर उच्च स्तर पर भेजी है। जिसमें अब तक 49 हजार 300 मीट्रिक टन यूरिया आया है। जिसे सोसायटियों में भेजकर किसानों को डिस्ट्रीब्यूट करा दिया है। मंडीदीप से 600 एमटी यूरिया और आने का है।

Show More
Anil kumar Reporting
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned