सेवढ़ा टीआइ पर एफआइआर, दतिया एएसपी की जांच में दोषी पाए जाने पर निलंबित

नायब तहसीलदार को घर में घुसकर दी थी धमकी, टीआइ के साथ सीहोर आया आरक्षण भी निलंबित

By: Kuldeep Saraswat

Published: 20 Jan 2021, 11:04 AM IST

सीहोर. कोतवाली थाना पुलिस ने महिला नायब तहसीलदार की शिकायत पर दतिया जिले के सेवढ़ा टीआइ शिशिर दास के खिलाफ एफआइआर दर्ज कर ली है। टीआइ पर एफआइआर होते ही दतिया एसपी अमन सिंह ने टीआइ दास और उनके साथ सेवढ़ा से सीहोर आए आरक्षक विपिन यादव को निलंबित कर दिया। एसपी ने निलंबन की कार्रवाई दतिया एएसपी कमल मौर्य की रिपोर्ट के आधार पर की है। एएसपी ने अपनी जांच में टीआइ और आरक्षक को दोषी माना है।

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार रविवार रात टीआइ शिशिर दास दतिया के सेवढ़ा थाने से सीहोर आए और यहां पर एक महिला नायब तहसीलदार के घर में घुसकर अभद्रता की। नायब तहसीलदार ने इस बात की शिकायत दतिया पहले दतिया एसपी अमन सिंह और फिर सीहोर एसपी एसएस चौहान से की, जिसे लेकर सोमवार रात कोतवाली पुलिस ने टीआइ दास और उनके साथ आए आरक्षक विपिन यादव के खिलाफ एफआइआर दर्ज कर ली। सीहोर में एफआइआर होते ही दतिया एसपी ने एएसपी कमल मौर्य ने पूरे मामले की जांच कराई, जिसमें दोषी पाए जाने पर निलंबित कर दिया। एएसपी मौर्य ने बताया कि प्रारंभिक जांच रिपोर्ट में सामने आया है कि टीआइ दास अपने अधीनस्थ आरक्षक यादव को लेकर सीहोर गए थे, जहां महिला नायब तहसीलदार के घर में घुसकर उनके साथ अभद्र व्यवहार किया। टीआइ और आरक्षक का यह कृत्य अनुशासनहीनता की श्रेणी में आता है, जिसे लेकर दोनों को निलंबित किया गया है।

एक लंबित शिकायत में समझौता करने आए थे टीआइ
महिला नायब तहसीलदार और टीआइ के बीच लंबे समय से विवाद चल रहा है। इससे पहले भी महिला नायब तहसीलदार की तरफ से दतिया एसपी से एक शिकायत की गई थी। पुलिस लंबे समय से उस मामले को दबाए बैठी है। बताया जा रहा है कि टीआइ दास नायब तहसीलदार की तरफ से की गई शिकायत पर होने वाली कार्रवाई से बचने के लिए उनसे समझौता करने की मंशा से सीहोर उनके घर गए थे। बातचीत के दौरान दोनों के बीच झगड़ा हो गया, जिसे लेकर महिला अफसर ने फिर से दतिया एसपी को फोन कर शिकायत कर दी और एसपी ने तत्काल सीहोर कंट्रोल रूम संपर्क कर नायब तहसीलदार के घर रात को ही पुलिस भेज दी।

टीआइ पिस्टल से फायर करने पर आए थे चर्चा में
टीआइ शिशिरदास करीब डेढ़ साल सीहोर में पदस्थ रहे हैं। सीहोर मंडी थाना प्रभारी रहते समय इन्होंने दशहरे के दिन थाने के अंदर निजी पिस्टल से हवाई फायर किया। सोशल मीडिया पर हवाई फायर करते वीडियो वायरल होने पर पुलिस अधीक्षक ने एसडीओपी से जांच कराई, इस दौरान यह काफी दिन तक चर्चा में रहे थे। इसके बाद दास का सीहोर मंडी थाने से नसरुल्लागंज ट्रांसफर हो गया, जहां रेत के अवैध उत्खनन में वसूली को लेकर कई शिकायत हुई, लेकिन जब तक कार्रवाई होती, सीहोर से दतिया ट्रांसफर हो गया। बताते हैं दास की पत्नी और बच्चे अभी भी सीहोर में रहते हैं।

Kuldeep Saraswat
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned