मन शुद्ध रहेगा तो विचार भी अच्छे आएंगे- नागर

श्रीमद भागवत कथा का हो रहा है आयोजन

By: Anil kumar

Published: 30 Dec 2018, 11:07 AM IST

आष्टा। मन शुद्ध रहेगा तो इसमें विचार भी अच्छे आएंगे। विचार अच्छे आएंगे तो सब कुछ अच्छा ही होता चला जाएगा। इस बात को सभी अच्छी तरह से समझे। कभी किसी के बारे में बुरा नहीं सोचे और बुरा नहीं करे। ऐसा करने वाला भी पाप का भागीदार होता है। इस पाप को करने से बचे और ईश्वर के नाम का जाप कर जीवन को सफल बनाएं।
यह बात शहर में सुदामा जाने सेवा समिति की आयोजित श्रीमद भागवत कथा में मोहित नागर ने कही। नागर ने कहा कि अपने भक्तों की परीक्षा लेने के लिए भगवान ने बामन रूप धारण कर राजा बलि से तीन पग जमीन दान करने का वरदान मांगा। राजा बलि ने तीन पग भूमि दान करने का संकल्प लिया। दैत्य गुरू शुक्रचार्य कमंडल की नली में बैठ गए और संकल्प से रोकने लगे तो भगवान ने एक तंग कुशा से शुक्रचार्य की आंखे फ ोड़ दी। नागर ने कहा कि कभी भी धर्म की राह में रोड़ा नही बनना चाहिए। भागवत कथा मे समुद्र मंथन सहित अनेक कथाओं का सुंदर वर्णन किया। इसमें नागर ने बताया कि जब आपके घुटने दुखने लगे तो समझना कि ग्रह ने आपका पैर पकड़ लिया है। इसलिए जब तक शरीर स्वस्थ रहे भगवान का भजन कर लेना चाहिए। बीच बीच में कथावाचक ने मधुर और सुंदर भजनों का रसपान कराया।
किया नृत्य कीर्तन
भगवान के जन्मोत्सव पर सभी श्रद्धालुओं ने नृत्य कीर्तन किया। इस मौके पर विधायक रघुनाथ सिंह मालवीय ने संतश्री से आर्शीवाद प्राप्त किया और व्यास पीठ का पूजन भी किया। इस अवसर पर महेंद्र कुमार मूंदड़ा, अनोखीलाल खंडेलवाल, कृ पाल सिंह पटाड़ा, विजय खंडेलवाल, ज्ञान सिंह, राकेश विश्वकर्मा, पर्वत प्रलाथिया, कुमेर सिंह, भगवत मेवाड़ा आदि थे।
मुनिश्री के जयकारों से गूंजा शहर, गाजे बाजे से की अगवानी
आष्टा। शहर में शुक्रवार को शुजालपुर से मंगल विहार कर आए मुनि संघ की इंदौर नाके अलीपुर पर समाज के श्रावक श्राविकाओं ने अगवानी कर एक जुलूस के रूप में प्रवेश कराया। इस दौरान समाजजन मुनिश्री के जयकारे लगाते हुए चल रहे थे।
संत शिरोमणि आचार्य विद्या सागर महाराज के शिष्य मुनि प्रशांत सागर महाराज, मुनि निर्वेग सागर महाराज, मुनि विशद सागर महाराज, क्षुल्लक देवानंद सागर महाराज के नगर आगमन पर सकल जैन समाज ने मुनि संघ की अगवानी की गई। 108 प्रशांत सागर, मुनि निर्वेग सागर महा मुनिराज ससंघ नगर में 23 से 28 जनवरी तक होने वाले पंच कल्याणक प्रतिष्ठा, गजरथ महोत्सव एवं विश्व शांति महायज्ञ को सा आनंद संपन्न कराने के लिए 28 दिसंबर को नगर प्रवेश किया। अलीपुर इंदौर नाके से गाजे बाजे के साथ मुनि संघ को पंच कल्याणक प्रतिष्ठा स्थल अयोध्या नगरी का भी अवलोकन कराया गया।

इस मौके पर जहां समाज के अध्यक्ष सुनील जैन आदिनाथ, महामंत्री नरेंद्र जैन उमंग, पंचकल्याणक प्रतिष्ठा समिति के अध्यक्ष अनूप जैन कचरू सहित काफ ी संख्या में समाज के श्रावक-श्राविकाएं उपस्थित थे। भीषण ठंड के बावजूद नग्न दिगंबर जैन मुनि संघ नगर में पधारे तो अन्य समाज के लोग आश्चर्यचकित हुए और कहां कि तपस्या दिगंबर जैन मुनि की है। मुनि संघ को स्वागत कर गाजे बाजे के साथ नगर के अलीपुर, पुराना बस स्टैंड, अस्पताल तिराहा, परदेसीपुरा, बुधवारा, बड़ा बाजार, भवानी चौक, पुरानी सब्जी मंडी से किले पर स्थित पाश्र्वनाथ दिगंबर जैन मंदिर में मुनि संघ को जैन समुदाय लेकर आए।

Anil kumar Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned