कमलनाथ और दिग्विजय सिंह ने वल्लभ भवन को बनाया दलालों का अड्डा : शिवराज

भाजपा पर लगाया लोकतंत्र की हत्या का आरोप, ग्रेसेस रिसोर्ट जा रहे कांग्रेस कार्यकर्ताओं को पुलिस ने रोका

By: Kuldeep Saraswat

Published: 19 Mar 2020, 11:50 AM IST

सीहोर. सियासी पारा जैसे-जैसे ऊपर चढ़ता जा रहा है, नेता आपा खोने लगे हैं। बुधवार को पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रदेश की कांग्रेस सरकार पर हल्ला बोलते हुए कहा कि कमलनाथ और दिग्विजय सिंह ने मध्यप्रदेश के वल्लभ भवन को दललों को अड्डा बना दिया, प्राइवेट लोग वहां से सत्ता चला रहे हैं। यह माफियाओं की बात कर रहे हैं। माफियाराज आपने कायम किया है। दिग्विजय सिंह हमेशा संकट खड़ा करके कमल नाथ सरकार से कहते है कि संकट का निवारण में ही कर सकता हूं। मैं संकटमोचक हूं, डरा-डरा कर कमलनाथ से काम कराते रहे हैं। सरकार बचाने की बात करते हैं, सरकार ने बहुमत खो दिया है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष बीडी शर्मा ने दिग्विजय सिंह को हुड़दंगाई बताया।

उन्होंने कहा हुड़दंग गैंग ने बेंगलूर जाकर हुड़दंग का प्रयास किया है। पहले उनके मंत्री कर चुके हैं। भाजपा के कार्यकर्ता लड़ाई लडऩा ही नहीं, जवाब देना भी जानते हैं। हम सुप्रीम कोर्ट पर विश्वास रखते हैं। पूरे घटना की सुनवाई चल रही है। पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि कांग्रेस ने कुछ अधिकारी विधायकों को प्रलोभन देने और दवाब बनाने के लिए लगाया है, उनकी संख्या बहुत है। अफसर विधायकों के परिवारों से संपर्क कर रहे हैं, प्रलोभन दे रहे हैं जिंदगी बन जाएगी। हम सात पीढिय़ों का इंतजाम कर देंगे। शिवराज सिंह ने अफसरों को चेतावनी देते हुए कहा कि बहुत महंगा पड़ेगा। चौहान ने कहा लोकतांत्रिक मूल्यों की बात कर है, वह इस शब्द का मतलब समझते तो अब तक इस्तिफा दे देते। थोड़ी नैतिकता बची होती तो फ्लोर टेस्ट करवा लेते, लेकिन ये नहीं कराएंगे, यह लोग हुडदंग करेंगे।

शिवराज सिंह ने कहा कि कहा हम चाहते तो 15 महीने पहले ही सरकार सरकार बनने के प्रयास कर सकते थे, लेकिन हमने तय किया कि हमारे वोट ज्यादा है और सीट कम है, जिसकी सीट ज्यादा है वह सरकार बनाए। शिवराज सिंह बोले- विधायक बिसाहूलाल सिंह जैसे वरिष्ठ नेता बोल रहे है कि यह बेबकूफ बनाते हैं। अपने परिवार को मंत्री मंडल में ले लिया और बेटा भतीजा सब शामिल हो गए, वरिष्ठ रह गए। 15 महीने से किसी ने नहीं सुनी, अब कह रहे है कि माफियाओं पर कार्रवाई के कारण भाजपा ने सरकार गिरा दी। शिवराज सिंह ने कहा कांग्रेस और कमलनाथ को जबाव देना पड़ेगा जनता की अदालत है। यह माफिया राज किसने चलाया। शराब की नीति शराब माफिया बना रहे हैं। दुकानों पर उप दुकान खोलो, शराब की नदियां बहा दो। जब सरकार चला चली की बेला में है, तब भी ट्रांसफर किए जा रहे हैं। राजनीतिक पदों पर नियुक्तियां की जा रही हैं।

 

Kuldeep Saraswat
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned