सड़क की ऐसी हालत, यात्री परेशान

सड़क की ऐसी हालत, यात्री परेशान

Sunil Sharma | Publish: Sep, 11 2018 12:48:14 PM (IST) Sehore, Madhya Pradesh, India

सड़क की ऐसी हालत, यात्री परेशान

सीहोर। रेलवे स्टेशन पर जाना यात्रियों के लिए किसी दुविधा से कम नहीं। यात्रियों को दलदल भरे मार्ग से निकलकर स्टेशन पहुंचना पड़ता है। इस दौरान कई बार लोगों की ट्रेन तक छूट जाती है। पूरे शहर में जहां सड़कों का जाल बिछाया जा रहा है, वहीं शहर के रेलवे स्टेशन जाने वाले मार्ग की हालत किसी गांव के रास्ते से कम नहीं ही।

प्लेटफार्म नंबर दो पर जाने के लिए लोगों को दलदल से होकर निकलना पड़ता है। वहीं ओवर ब्रिज निर्माण के चलते मुख्य मार्ग बंद होने से कई वाहन चालक भी इसी मार्ग से मजबूरी भरा सफर करने मजबूर हैं। मंडी से प्लेटफार्म जाने के लिए करीब आधा किलोमीटर के उबड ख़ाबड़ मार्ग पर वाहन चलाना तो दूर पैदल चलना भी मुश्किलों भरा है। बारिश होने पर हालत बद से बदतर हो जाते है। इस दौरान कई बार यात्री और वाहन चालक गिरकर घायल तक हो रहे हैं। अचानक ट्रेन आने से मार्ग की हालत के चलते यात्रियों की ट्रेन तक छूट जाती है। शहर के बीचों-बीच बने स्टेशन की हालत पर किसी का भी ध्यान नहीं है। मार्ग निर्माण को लेकर अब तक किसी ने कोई पहल शुरू नहीं की है।

भारी भरकम ट्रक से बना रहता है डर
प्लेटफार्म दो से ही रैक पाइंट का रास्ता भी है। इस मार्ग पर दिन भर भारी भरकम ट्रकों का तेज रफ्तार से आना जाना होता है। कई बार मंडी चौराहे पर ट्रकों के कारण जाम के हालात बनते रहते हैं। शनिवार को माता मंदिर के पास चलते ट्रक का टायर फटने से एक व्यक्ति घायल हो गया था। ट्रकों की आवाजाही के कारण भी मार्ग की हालत खस्ताहाल हो रही है। वहीं ट्रकों के कारण दुर्घटना का डर भी यात्रियों में बना रहता है।

क्या कहते हैं यात्री

प्लेटफार्म दो पर जाना आसान नहीं है। फिसलन और कीचड़ ने दो कदम चलना तक मुश्किल कर दिया है। मार्ग को सुधारने किसी की भी रूचि नजर नहीं आ रही है।
वासुदेव शर्मा, रहवासी

भोपाल अप डाउन करने हर रोज समस्या का सामना करना पड़ता है। कई बार रात के समय अंधेरा होने के कारण डरावनी स्थिति बनी रहती है।
रितेश यादव, अपडाउनर

स्टेशन जाते समय मंडी के दोनो ही मार्गो पर किचड़ के हालात बने रहते है। भारी भरकम ट्रको के कारण भी स्थिति और खराब हो रही है।
सुरेश विश्वकर्मा, यात्री

ओवर ब्रिज से लेकर मंडी और मंडी से रेक पाइंट तक मार्ग नजर ही नहीं आता है। कई बार लोगों को गिरकर घायल होते भी देखा है।
सुरेन्द्र गौर, यात्री

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned