परीक्षा में फेल हुई तो जिंदगी की जंग हारी दसवीं की छात्रा

दो विषय में सप्लीमेंट्री आने पर फांसी लगाकर की आत्महत्या

By: दीपेश तिवारी

Published: 14 May 2018, 05:47 PM IST

सीहोर/ नसरुल्लागंज। समीपस्थ ग्राम अमलाहा में परीक्षा में सप्लीमेंट्री (पूरक) आई तो एक छात्रा जिंदगी की ही जंग हार गई। उसने अपने ही घर में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। परिजन ने जब उसे फंदे पर लटका देखा तो जिला अस्पताल लेकर आए। जहां डॉक्टर ने जांच के बाद उसे मृत घोषित कर दिया। इसी तरह एक अन्य मामले में नसरुल्लागंज के टीकामोड़ में एक छात्रा ने जहर खाकर खुदकुशी का प्रयास किया गया।
जानकारी के अनुसार अमलाहा निवासी नेहा (1७) पिता धर्मेंद्र चौहान ने कक्षा 10 वीं की परीक्षा दी थी। सोमवार को रिजल्ट घोषित होते ही जब उसने अपना परिणाम देखा तो दो विषय में सप्लीमेंट्री आई।

इससे हताश होकर उसने जिंदगी को छोडऩेे का मन बना लिया। इसके बाद घर में फांसी का फंदा बनाया और उसके ऊपर झूल गई। जिस समय यह कदम उठाया, उस दौरान कोई नहीं था। छात्रा के माता-पिता रिश्तेदारी में एक बच्चे का स्वास्थ्य खराब होने से उसे देखने सीहोर आए थे। जब वापस परिजन अपने घर लौटे तो उनको नेहा बेसुध अवस्था में मिली। उसे तत्काल जिला अस्पताल सीहोर लेकर आए। डॉक्टर ने जांच के बाद मृत घोषित कर दिया। पीएम के बाद शव वापस परिजन को सौंप दिया। बुआ रेखा चौहान ने बताया कि सप्लीमेंट्री आने का नेहा को सदमा बैठ गया था।

मृतक छात्रा के हैं दो छोटे भाई-बहन
छात्रा के चाचा अंबाराम ने बताया कि नेहा पढ़ाई लिखाई में अच्छी थी। गांव के ही नूतन स्कूल में पढ़ती थी। इसके पहले कभी भी फेल नही हुई थी। अचानक सोमवार को उसे फेल होने की बात पता चली थी तो उसने तनाव में आकर गलत कदम उठा लिया। छात्रा के दो छोटे भाई-बहन शानू और नैतिक के बारे में भी उसने कुछ नहीं सोचा।

दो विषय में फेल होने पर छात्रा ने खाया जहर
इधर, नसरुल्लागंज थाना क्षेत्र के टीकामोड़ ग्राम पंचायत में दसवीं में फेल होने पर एक छात्रा ने जहर खाकर खुदकुशी का प्रयास किया। बताया जाता है कि रिजल्ट देख कर छात्रा ने आपा खोने के बाद जहर खा लिया। छात्रा को प्राथमिक उपचार के लिए नसरुल्लागंज स्वास्थ्य केंद्र ले जाया गया था, जहां से गंभीर अवस्था में होशंगाबाद के लिए रेफर किया। पुलिस की माने तो टीकामोड़ निवासी किरण बारेला पिता राय सिंह बारेला हाईस्कूल टीकामोड़ की छात्रा है और उसने दसवीं की परीक्षा में दो विषय में फेल होने पर जहर खाकर जान देने की कोशिश की।

Show More
दीपेश तिवारी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned