scriptMonsoon 2024: रास्ते में अटका एमपी का मानसून, मौसम विशेषज्ञ बोले तीन दिनों बाद बदलेगी स्थिति | monsoon 2024 sehore weather update Pre-Monsoon rainrall madhya pradesh imd news | Patrika News
सीहोर

Monsoon 2024: रास्ते में अटका एमपी का मानसून, मौसम विशेषज्ञ बोले तीन दिनों बाद बदलेगी स्थिति

Sehore Monsoon news: सीहोर का अधिकतम 40.5 डिग्री और न्यूनतम तापमान 30.5 डिग्री सेल्सियस रेकॉर्ड किया गया है। आगे भी अभी तीन दिन मौसम ऐसा ही रहेगा। मानसून ही राहत देगा…।

सीहोरJun 18, 2024 / 11:00 am

Manish Gite

sehore weather update
Sehore Monsoon 2024: मानसून का इंतजार कर रहे लोग एक बार फिर गर्मी से परेशान हैं। सीहोर में दिनभर गर्मी और उमस का दौर चल रहा है। रात-दिन के पारे में साढ़े तीन डिग्री का उछाल आया है, दिन का पारा एक सप्ताह बाद एक बार फिर 40.5 डिग्री पर पहुंच गया है। मध्यप्रदेश आने वाला मानसून अटक जाने से यह स्थिति बनी है।
आरएके कृषि महाविद्यालय के मौसम विशेषज्ञ डॉ. एसएस तोमर ने बताया कि सीहोर का अधिकतम 40.5 डिग्री और न्यूनतम तापमान 30.5 डिग्री सेल्सियस रेकॉर्ड किया गया है। आगे भी अभी तीन दिन मौसम ऐसा ही रहेगा। दिन की शुरुआत बादल युक्त मौसम के साथ हुई थी, दिनभर बादल छाए होने के कारण धूप नहीं खिली, हर समय यह लगता रहा कि बारिश शुरु होने वाली है, लेकिन बारिश नहीं हुई, उमस से लोग दिनभर परेशान हुए। हवा की गति 12 से 18 किलोमीटर प्रति घंटे रेकॉर्ड की गई। अरब सागर और बंगाल की खाड़ी में ब्रांच कमजोर होने से मानसून गुजरात में ठहर गया है। पहले 15 जून तक मध्य प्रदेश में एंटर होने के आसार थे, लेकिन अब मानसून 19-20 जून तक आएगा।
IMD Alert

Sehore Weather: सीहोर की तरफ बढ़ रहा है मानसून, यहां 18-19 जून को करेगा एंट्री


sehore weather update
मौसम वैज्ञानिक डॉ. तोमर ने बताया कि मानसून से पहले प्री मानसून की गतिविधियां जारी हैं। गरज-चमक के साथ हल्की बारिश के आसार बने हुए हैं। आंधी का अलर्ट जारी किया गया है, मंगलवार को हवा की गति 60 किलोमीटर प्रति घंटे तक रेकॉर्ड हो सकती है। बादल गरजने के साथ बिजली भी कडक़ेगी।
MP Rain: मौसम विभाग की ताजा भविष्यवाणी, इस तारीख से होगी मानसून की झमाझम बारिश

उन्होंने बताया कि विभाग की तरफ से तीन दिन का अलर्ट जारी किया गया है, मंगलवार को मौसम विभाग का नया बुलेटिन जारी होगा, जिससे मानसून की स्थिति और स्पष्ट हो जाएगी। बोवनी की तो झेलना पड़ेगा नुकसान: खरीफ सीजन की बोवनी के लिए किसानों ने खेत तैयार करना शुरु कर दिया है। कुछेक जगह हल्की बारिश भी हो गई है, लेकिन कृषि वैज्ञानिक खरीफ बोवनी के लिए अभी समय प्रतिकूल बता रहे हैं।
कृषि विज्ञान केन्द्र सेवनियां के कृषि वैज्ञानिक दीपक कुशवाह का कहना है कि अभी जमीन में अंदर तक नमी नहीं है, यदि इस समय सोयाबीन की बोवनी की गई तो बीज खराब हो जाएगा। जब तक 5 से 8 इंच तक गीली नहीं हो जाए, किसान बोवनी नहीं करें। किसान खरीफ बोवनी से पूर्व बीज की जांच जरूर करें।

Hindi News/ Sehore / Monsoon 2024: रास्ते में अटका एमपी का मानसून, मौसम विशेषज्ञ बोले तीन दिनों बाद बदलेगी स्थिति

ट्रेंडिंग वीडियो