निरंकारी मण्डल ने मनाया समर्पण दिवस, बताया भाईचारे से ही है मनुष्य की पहचान

निरंकारी मण्डल ने मनाया समर्पण दिवस, बताया भाईचारे से ही है मनुष्य की पहचान

By: दीपेश तिवारी

Published: 15 May 2018, 01:14 PM IST

सीहोर। मानवता मनुष्य को महान बना देती है। अगर सभी में भाईचारा हो तो धरती पर ही स्वर्ग है। हम दूसरों से उपकार की उम्मीद रखते हैं। जबकि हम में ही कुछ बदलाव कर ले तो यह दुनिया भी स्वर्ग से कम नहीं है।
चाणक्यपुरी स्थित साईं मंदिर में निरंकारी मंडल की सीहोर ब्रांच ने समर्पण दिवस मनाया। इस अवसर पर बैरागढ के प्रचारक महेश वीधानी की उपस्थिति में कार्यक्रम का आयोजन किया गया। सतसंग कार्यक्रम की शुरूआत सम्ंपूर्ण परोपकारी जीवन पर आधारित भजन एवं विचार रखे गए।

प्रचारक संत महेश वीधानी ने अपने प्रवचनों में कहा कि निरंकारी बाबा हरदेव सिंह महाराज ने पूरे विश्व में मानवता एवं भाईचारे का संदेश दिया। प्रेम और नम्रता का संदेश देते हुए मानव को मानव से जोडकर नफरत की दीवारों को तोड़ते हुए प्रेम के पुल बनाए। निरंकारी चैरिटेबल फाउंडेसन के तहत देश भर में वृक्षारोपण, सफाई अभियान, रक्तदान शिविर सहित अनेक सामाजिक समपूर्ण जीवन मानव कल्याण में लगाया। आयोजन में साई मन्दिर ट्रस्टी सुनील धाड़ी, गिरीश पाठक, बबीता वीधानी, कन्हैयालाल साधवानी, हरीश हेमनानी, जेसी पाठक, मदनलाल, मथुरा प्रसाद, पंकज, कन्हैया लाल, कान्ताप्रसाद, महेश सहित बड़ी संख्या में साधक उपस्थित रहे।

वहां मौजूद लोगों ने महेश जी के इस प्रवचन को बहुत ही ध्यान से सुना और उनकी सभी बातों को ग्रहण करने की शपत भी ले। निंरकारी मण्डल द्वारा चलाएं जा रहे। सफाई अभियान, रक्तदान शिविर और अन्य कई कार्यकर्म में लोगों ने उनका साथ देने की बात कही है। वहां मौजूद लोगों ने बताया कि निंरकाली मण्डल द्वारा किया जाने वाला कार्य बहुत ही सराहनीय है। जो हमें एक नए रास्ते पर लेकर चलता है। निरंकारी मण्डल के लोग आज के समय में भी हमारी पारम्परिक सद् भाव को जिंदा रखने का काम कर रहे हैं। जिससे नई पीढ़ी के लोग कुछ अच्छा सीख सकते है और अपने संस्कारों को जिंदा रख सकते है।

दीपेश तिवारी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned