कॉलेज में तालाबंदी कर एनएसयूआई ने की सीट बढ़ाने की मांग

पीजी कॉलेज में सीट कम होने से विद्यार्थियों एडमिशन से वंचित

By: Kuldeep Saraswat

Updated: 08 Oct 2021, 08:28 PM IST

सीहोर. भारतीय राष्ट्रीय छात्र संगठन (एनएसयूआई) ने शुक्रवार को पीजी कॉलेज में तालाबंदी कर यूजी और पीजी की सीट बढ़ाने की मांग की। एनएसयूआई ने तर्क दिया कि सीट सीमित होने के कारण बड़ी संख्या में विद्यार्थी एडमिशन से वंचित रह गए हैं। एनएसयूआई ने तहसीलदार को ज्ञापन देकर कॉलेज के मुख्य द्वार पर लगाया ताला तो खोल दिया, लेकिन सीट नहीं बढऩे पर फिर से आंदोलन की चेतावनी दी है।

एनएसयूआई जिला अध्यक्ष देवेंद्र सिंह ठाकुर ने बताया कि पीजी कॉलेज जिले का एकमात्र अग्रणी महाविद्यालय है। यहां पर भी छात्र-छात्राओं को प्रवेश से वंचित रखा जा रहा है। पीजी कॉलेज प्राचार्य को एक सप्ताह पूर्व ज्ञापन देकर छात्र संगठन ने अवगत करया था कि वह सीट बढ़ाए, बड़ी संख्या में छात्र एडमिशन नहीं ले पास हैं, लेकिन उन्होंने ध्यान नहीं दिया, जिसे लेकर कॉलेज में तालाबंदी कर विरोध प्रदर्शन किया गया है। एनएसयूआई के विधानसभा अध्यक्ष यश यादव ने बताया की पिछले साल प्रवेश लेने वाले छात्र-छात्राओ को अभी तक आवास योजना की स्कोलार्शिप का लाभ नहीं मिला है। पोस्ट मेट्रिक छात्रवृत्ति भी नहीं आई है। पीजी कॉलेज में सालों से चल रहीं विधि की कक्षाओं को भी बंद कर दिया है। कॉलेज प्रभारी प्रचार्य के भरोसे चल रहा है, जिससे छात्रों की समस्याओं का निराकरण नहीं हो पा रहा है। कॉलेज में नियमित प्राचार्य की नियुक्ति की जाए। विरोध प्रदर्शन में युवा कांग्रेस अध्यक्ष मुस्तफा अंजुम, कमलेश यादव, सुर्यांश जादौन, सोनू विश्वकर्मा, अनुभव सेन, मनीष मेवाड़ा, तनिश त्यागी, विकाश विश्वकर्मा, ऋतिक महोबिया, देवेन्द्र ठाकुर, प्रमोद वर्मा, सिद्धांत राय, यमन यादव, अरुण पटेल, मयंक पटेल, अली असगर आदि उपस्थित थे।

Kuldeep Saraswat
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned