19 गांव की पेयजल सप्लाई बंद, दो किमी दूर खेतों से पानी लाने को मजबूर ग्रामीण

19 गांव की पेयजल सप्लाई बंद, दो किमी दूर खेतों से पानी लाने को मजबूर ग्रामीण

Radheshyam Rai | Publish: Apr, 17 2019 01:59:55 PM (IST) | Updated: Apr, 17 2019 01:59:56 PM (IST) Sehore, Sehore, Madhya Pradesh, India

कई बार शिकायत के बाद भी नहीं सुधर रही पेयजल व्यवस्था

सीहोर. तहसील के करीब 19 गांव के ग्रामीण इन दिनों नलों में पानी नहीं आने से पेयजल संकट का सामना कर रहे हैं। गांव में लगे हैंडपंप पहले ही दम तोड़ चुके हैं। जो चल रहे हैं उनमें भी काफी मशक्कत के बाद दो-चार गुप्पा पानी ही आ रह है। ऐसे में ग्रामीणें को पेयजल की व्यवस्था करने के लिए एक से दो किमी दूर खेतों से पानी काने के लिए मजबूर होना पड़ रहा है। करने को मजबूर हैँ।

ज्ञातव्य है कि छीपानेर नर्मदा जल परियोजना पिछले वर्ष ही शुरू हुई थी, लेकिन रख-रखाव की व्यवस्था देख रहे ठेकेदार की लापरवाही के चलते ग्रामीणों को आए दिन जल संकट की स्थिति का सामना करना पड़ रहा है। इसको लेकर पीएचई विभाग से संबंधित अधिकारी, ग्राम के सरपंच एवं संबंधित नेता अधिकारियों से शिकायत भी की, लेकिन पिछले एक सप्ताह से गांव के लोग करीब एक से दो किलोमीटर दूर से पानी ला रहे हैं।

नर्मदा जल परियोजना समूह छीपानेर द्वारा संचालित 19 ग्रामों की पेयजल व्यवस्था के लिए डाली गई, लाइनों में पिछले एक सप्ताह से पानी नही आ रहा है। इस कारण करीब डेढ़ दर्जन गांव में पीने के पानी तक के लिए परेशान हो रहे हैं। ऐसे में इसी भीषण गर्मी में महिलाए और बच्चे करीब एक से दो किमी दूर खेतों पर से पैदल पानी लाकर पनी प्यास बुझाने को मजबूर हैं।
छीपानेर जनसमूह के कर्मचारियों द्वारा ग्रामीणों को यह बताया जा रहा है कि ट्रांसफार्मर जला हुआ है।

 

जब भोपाल से ट्रांसफर में आएगा इसके बाद में ही पेयजल व्यवस्था सुचारू रूप से चालू हो पाएगी। ग्रामीणों ने बताया कि ठेकेदार द्वारा हमें परेशान करने के अलावा कोई काम नहीं कर रहा है। उसको जब भी फोन लगाते हैं वत वह टूट-फूट का बहाना बना दिया जाता है। कभी कहता है मैं भोपाल में हूं कभी में इंदौर में हूं, तो कभी कहते हैं मैं मीटिंग में हूं। ठेकेदार की देखरेख व्यवस्था बिगडऩे के कारण ही हम ग्रामीणों को बूंद-बूंद पानी के लिए परेशानी उठाना पड़ रही है। अफसरों को इस ओर गंभीरता से ध्यान देना चाहिए।

इन गांवों में एक सप्ताह से नहीं आया पानी
छीपानेर नर्मदा जल परियोजना के तहत गांवों में होने वाली सप्लाई एक सप्ताह से बंद पड़ी है। ऐसे में छीपानेर, गोपालपुर, नारायणपुरा, शेगांव, असली, बजगांव, डोबा, कुंमनताल, श्यामपुर, वासुदेव, गोरखपुर, इटावा, इटारसी, भगवाड़ा, चौरसाखेड़ी, धौलपुर, जामुनिया सहित करीब 19 ग्राम हैं जिसमें पूरे एक सप्ताह हो गए हैं, पानी की सप्लाई छीपानेर जल समूह से पूर्ण रूप से बंद है।

विगत एक सप्ताह से पानी सप्लाई बंद पड़ हुई थी। जिससे ग्रामीणों को काफी परेशानी उठाना पड़ रही थी। जिसको लेकर मैंने पीएचई विभाग के अफसरों को कई बार अवगत कराया। तब कहीं जाकर आग कुछ गांव में पानी की सप्लाई प्रारम्भ हो सकी है। जब से रख-रखाव की व्यवस्था, जिस ठेकेदार को दी गई है। उसके द्वारा सही व्यवस्था नहीं किए जाने से यह परेशानी आ रही है।
प्रहलाद गिर, सरपंच, ग्राम पंचायत गोपालपुर

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned