हर चार कदम पर गड्ढे, छह किमी का सफर तय करने में लग रहे 40 मिनिट

हर चार कदम पर गड्ढे, छह किमी का सफर तय करने में लग रहे 40 मिनिट

Radheshyam Rai | Updated: 27 May 2019, 01:51:49 PM (IST) Sehore, Sehore, Madhya Pradesh, India

गड्ढों के कारण हादसों का शिकार हो रहे दोपहिया वाहन चालक

सीहोर. जिले में सड़कों की हालत बहुत खराब है। सड़कों पर हर चार कदम पर गड्ढे होने से इन पर वाहन चलाना लोगों के लिए हादसों भरा साबित हो रहा है। वहीं दूसरी ओर गड्ढों के कारण जहां लोग यातनाओं भरा सफर करने को मजबूर हैं। साथ ही चंद मिनटों में पूरा होना वाला समय घंटों में तय करना पड़ रहा है। ऐसे में समय अधिक खर्च होने के साथ-साथ वाहन भी क्षतिग्रस्त हो रहे हैं।

जिले की बुदनी तहसील अंतर्गत आने वाले एनएच 69 से लेकर महूकलां पांच किलोमीटर पहुंच मार्ग पहुंच मार्ग ओवर लोड डंपरों के परिवहन के चलते बड़े-बड़े गड्ढों में तब्दील हो चुका है। ऐसे में इस पांच किलोमीटर का सफर तय करने में ग्रामीणों को 40 से 50 मिनिट लग रहे हैं।

ज्ञातव्य है कि इस सड़क का निर्माण दस वर्ष पूर्व प्रधानमंत्री सड़क योजना के तहत किया गया था, जो कि रेत के अवैध रूप से परिवहन करने वाले लोड डंपरों के कारण पूरी तरह से क्षतिग्रस्त गया था। जिसका पीडब्ल्यूडी विभाग द्वारा पुन: निर्माण किया किया, लेकिन फिर ओवर लोड डंपरों कारण यह सड़क गड्ढों में तब्दील हो चुकी है। ऐसे में गुआडिय़ा, पाताल खो, महुकलां गांव के लोगों को इस सड़क पर यातनाओं भरा सफर करने के लिए मजबूर होना पड़ रहा है। वहीं दूसरी ओर दोपहिया वाहन चालक गड्ढों के कारण आए दिन दुर्घटना का शिकार हो रहे हैं।


इसी प्रकार ग्राम पांडा-डो से खाण्डाबड़ प्रधानमंंत्री सड़क योजना के तहत सन् 2010 में बनाई गई थी, जिसको अवैध डंपरों के कारण 2012 में ही जर्जर हो गई। इसके उपरांत पुन: लोक निर्माण विभाग द्वारा इस सड़क का निर्माण किया गया, लेकिन इस सड़क से अवैध रेत के ओवर लोड डंपरों के कारण सड़क गड्ढों में तब्दील हो गई। ऐसे में सात किलोमीटर के इस सड़क का सफर तय करने में ग्रामीणों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।

दोराहा-अहमदपुर सड़क से डामर हुआ गायब
इन दिनों दोराहा से अहमदपुर सड़क पूरी तरह से गड्ढों में तब्दील हो चुकी है। जिस पर वाहन चलाना ग्रामीणों के लिए किसी खतरे से कम साबित नहीं हो रहा है। सड़क निर्माण को लेकर ग्रामीण कई बार अफसरों को अवगत करा चुके हैं, लेकिन विभाग के अफसर भी इस ओर गंभीरता से ध्यान नहीं दे रहे हैं। इसी का नतीजा है कि सड़क पर गड्ढों के कारण दोपहिया वाहन चालक आए दिन दुर्घटना का शिकार हो रहे हैं। इस सड़क से करीब एक दर्जन गांव के लोगों का प्रतिदिन आना-जाना लगा रहता है। सबसे ज्यादा रात्रि के दौरान इस सड़क पर आवागमन करना खतरा भरा साबित हो रहा है।

इस संबंध में ग्रामीणों ने बताया कि दो किलोमीटर का सफर तय करने के लिए हमें काफी दिक्कतें उठाना पड़ रही हैं। गड्ढों के कारण कई बार बाइक के पीछे बैठने वाली महिलाएं गिरकर दुर्घटना का शिकार हो चुकी हैं। वहीं दोपहिया वाहन चालक भी हादसे का शिकार हो रहे हैं। इस सड़क पर चार पहिया वाहन तो आए दिन क्षतिग्रस्त हो रहे हैं। अगर शीघ्र ही विभाग द्वारा इस सड़क का निर्माण नहीं कराया तो इस पर आवागमन करना काफी मुश्किल हो जाएगा।

सीहोर-दोराहा सड़क का निर्माण कार्य चल रहा है, शीघ्र ही सड़क के छूटे हुए हिस्सा का निर्माण कार्य भी पूरा कराया जाएगा।
जेएम कुरैशी, ई, पीडब्ल्यूडी, सीहोर

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned