भाजपा से जिला पंचायत अध्यक्ष मरेठा और कांग्रेस से जिला महामंत्री परमाल ने की बगावत

भाजपा से जिला पंचायत अध्यक्ष मरेठा और कांग्रेस से जिला महामंत्री परमाल ने की बगावत

Kuldeep Saraswat | Publish: Nov, 10 2018 02:50:16 PM (IST) | Updated: Nov, 10 2018 02:50:17 PM (IST) Sehore, Sehore, Madhya Pradesh, India

जिला पंचायत अध्यक्ष ने निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में भरा नामांकन और कांग्रेस नेता ने थामा भाजपा का दामन

सीहोर. आष्टा विधानसभा में भाजपा और कांग्रेस को बड़ा झटका लगा है। जिला पंचायत अध्यक्ष उर्मिला मरेठा ने भाजपा से बगावत कर निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में नामांकन दाखिल किया है, वहीं कांग्रेस जिला महामंत्री एचआर परमाल ने पार्टी पर उपेक्षा का आरोप लगाते हुए भाजपा का दामन थामा है। भाजपा और कांग्रेस के साथ बगावत करने वाले दोनों ही नेता टिकट नहीं मिलने को लेकर नाराज हैं।

भाजपा ने आष्टा विधानसभा से पूर्व विधायक रघुनाथ मालवीय को उम्मीदवार घोषित किया है। यहां से जिला पंचायत अध्यक्ष उर्मिला मरेठा भी टिकट के लिए दावेदारी कर रही थीं। भाजपा से टिकट नहीं मिलने को लेकर मरेठा ने पहले तो संगठन स्तर पर शिकायत दर्ज कराई और जब बात नहीं बनी तो शुक्रवार को पार्टी से बगावत करते हुए समर्थकों के साथ निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में नामांकन दाखिल कर दिया। मरेठा का आरोप है भाजपा ने उनके साथ धोखा किया है। भाजपा ने सीहोर जिले में एक भी महिला उम्मीदवार को टिकट नहीं दिया है।

इधर, कांग्रेस नेता एचआर परमाल ने पार्टी पर उपेक्षा का आरोप लगाते हुए भाजपा का दामन थाम लिया है। कांग्रेस नेता परमाल ने आरोप लगाया है कि आष्टा विधानसभा सीट से पार्टी ने दो बार चुनाव हार चुके गोपाल सिंह इंजीनियर को उम्मीदवार घोषित कर कार्यकर्ताओं की अपेक्षा की है। गोपाल सिंह पिछले विधानसभा चुनाव में पांच हजार से ज्यादा वोट से चुनाव हारे थे। कांग्रेस का लगतार तीसरी बार हारे हुए व्यक्ति को टिकट देना कार्यकर्ताओं की उपेक्षा करने वाला निर्णय है। परमाल ने विधानसभा चुनाव में भाजपा के लिए काम करने की घोषणा की है।

 

कहां कितने भरे गए नामांकन फार्म
शुक्रवार नामांकन फार्म जमा करने का अंतिम दिन था। शुक्रवार को सीहोर विधानसभा से 12, आष्टा से 07 इछावर से 22 और बुदनी से 13 नामांकन फार्म जमा हुए हैं। जिले की चारों विधानसभा सीट से कुछ 54 नामांकन फार्म भरे गए हैं। सीहोर विधानसभा सीट से निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में पूर्व विधायक रमेश सक्सेना की पत्नी ऊषा सक्सेना और बेटा शशांक सक्सेना ने भी नामांकन फार्म जमा किया है। पूर्व विधायक रमेश सक्सेना भी सीहोर विधानसभा सीट से निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में नामांकन जमा कर चुके हैं।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned