भाजपा नहीं चाहती लोकसभा चुनाव से पहले किसान का कर्जा माफ किया जाए: गुर्जर

किसान कांग्रेस आभार यात्रा पहुंची सीहोर, कृषि उपज मंड़ी में की गई सभा

By: Kuldeep Saraswat

Published: 03 Mar 2019, 11:31 AM IST

सीहोर. भाजपा नहीं चाहती लोकसभा चुनाव से पहले किसानों का कर्ज माफ किया जाए। सोसाइटी और बैंकों में भाजपा के लोग बैठे हैं, वह सरकार को गलत जानकारी देकर कर्ज माफी के काम में देरी कर रहे हैं। कांग्रेस सरकार ने अभी उन्हें हटाया नहीं है। किसानों के मेरा आग्रह है कि वह हरे, गुलाबी और सफेद रंग के फार्म से भ्रमित नहीं हों। सरकार एक-एक किसान का कर्ज माफ करेगी। भाजपा किसानों को गुमराह कर रही है। यह बात किसान कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष दिनेश गुर्जर ने सीहोर कृषि उपज मंडी में मीडिया से रूबरू होते हुए कही।

किसान कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष गुर्जर शनिवार को किसान कांग्रेस की आभार यात्रा लेकर सीहोर आए थे। उन्होंने बताया कि सरकार ने चुनाव के दौरान जो वचन दिए थे, उन्हें पूरा करने का काम कमलनाथ सरकार ने शुरू कर दिया है। किसानों का कर्ज माफ किया जा चुका है। युवाओं को रोजगार देने की प्रक्रिया चल रही है। बिजली के बिल कम किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि सरकार ने जो वचन दिए हैं, वह सभी पूरे किए जाएंगे। किसान कांग्रेस की आभार सभा 45 दिन से चल रही है।

 

शनिवार का यात्रा सबसे पहले आष्टा मंडी, उसके बाद कोठरी और फिर सीहोर पहुंची। सीहोर में सभा को संबोधित करते हुए कहा कि किसान कलश यात्रा संपूर्ण प्रदेश में निकाली गई थी, उस समय प्रदेश में कांग्रेस की सरकार नहीं थी, तब हमने किसानों को यह वचन दिया गया था कि अगर प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनती है तो किसानों का कर्जा माफ, बिजली बिल हाफ किए जाएंगे। किसानों को मिलने वाले फसल के दामों में वृद्वि की जाएगी। अब किसान अन्नदाताओं के आशीर्वाद से मध्यप्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनी है। दो लाख तक का कर्जा माफ कर दिया गया।

1400 रुपए में मिलने वाले बिजली कनेक्शन को 700 रुपए कर दिया गया। मुख्यमंत्री कन्या विवाह में दी जाने वाली राशि को 51000 रुपए कर दी है। हर एक पंचायत में गौ शाला खुलने के आदेश सरकार ने दे दिए हैं। किसान कांग्रेस के नेताओं ने लोकसभा चुनाव के लिए आशीर्वाद मांगा और केन्द्र में कांग्रेस की सरकार बनाने की अपील की। इस मौके पर हरगोविंद सिंह दरबार, ओमदीप, केके मिश्रा, जगदीश धाकड़, जफरलाला, मनोज पटेल, राहुल यादव, भूरा यादव, सुरेश निवारिया, राहुल तिवारी, ओम वर्मा, गोपाल मिश्रा, दानवीरसिंह भाटी, रघुवीर सिंह भाटी, अक्षय परमार, बाबूलाल वर्मा, महेन्द्रसिंह, सचिन वर्मा, विकास राजपूत, गोपाल शर्मा, राजीव गुजराती, आनंद कटारिया, श्याम सिंह पंवार आदि मौजूद थे।

 

Kuldeep Saraswat
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned