12वीं हिन्दी विषय के पहले पेपर में पकड़ा गया एक नकलची

पहले दिन 489 परीक्षार्थी रहे अनुपस्थित, विद्यार्थी बोले- अपेक्षा के अनुरूप आया पेपर

By: Kuldeep Saraswat

Published: 03 Mar 2019, 11:32 AM IST

सीहोर. एक मार्च से बोर्ड परीक्षा प्रारंभ हो गई हैं। शनिवार को कक्षा 12वीं का पेपर कराया गया। पहले दिन हिन्दी विशिष्ट विषय के पेपर में एक नकल प्रकरण बनाया गया है। नकल प्रकरण परीक्षा केन्द्र शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय बुदनी पर बनाया गया है। परीक्षा के बाद जब पेपर को लेकर स्टूडेंट्स से बात की गई तो अधिकांश ने यही कहा कि पेपर अपेक्षा के अनुरूप रहा है।

जिला शिक्षा अधिकारी एसपी त्रिपाठी ने बताया कि 12वीं की परीक्षा में करीब 19 हजार 345 स्टूडेंट्स को शामिल होना था, लेकिन 18 हजार 856 परीक्षार्थी ही परीक्षा में शामिल हुए हैं। हिन्दी के पेपर में 489 परीक्षार्थी अनुपस्थित रहे हैं। डीईओ त्रिपाठी ने बताया कि फाइलिंग स्क्वाइड ने शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय बुदनी परीक्षा केन्द्र से एक परीक्षार्थी को नकल करते पकड़ा है, जिसका प्रकरण दर्ज किया गया है।

इंफ्रास्ट्रक्चर भी अभी भी कमी
शिक्षा विभाग के पास इंफ्रास्ट्रक्चर की अभी भी कमी है। कई परीक्षा केन्द्र पर स्टूडेंट्स जमीन पर बैठक परीक्षा देते देखे जा रहे हैं। जमीन पर बैठकर पेपर हल करने में परीक्षार्थियों को काफी परेशानी होती है। हाईस्कूल और हायर सेकंडरी की तरह मिडिल और प्राइमरी में भी इंफ्रास्ट्रक्चर की कमी बनी हुई है। मिडिल स्कूल में कई जगह बिजली और पानी की व्यवस्था नहीं है, वहीं प्राइमरी स्कूल में चपरासी के नहीं होने के कारण स्टूडेंट्स झाडू लगाते देखे जाते हैं। शिक्षा विकाग को इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलप करने की तरफ फोकस करना चाहिए।


स्टूडेंट्स बोले- अपेक्षा के अनुरूप पेपर
शासकीय बालक उत्कृष्ट स्कूल सीहोर में परीक्षा देने आए छात्र विवेक शर्मा ने बताया कि हिन्दी विषय पेपर अपेक्षा के अनुरूप रहा है। पेपर में सभी सवाल कोर्स से सीधे-सीधे पूछ गए हैं। दूसरे छात्र जगदीश मालवीय ने बताया कि पेपर सामान्य है। ज्यादा सरल तो नहीं कहा जा सकता है, लेकिन इतना कठिन भी नहीं है कि पास नहीं हुआ जा सके। पेपर ऐसा आया है कि जिसने थोड़ी भी पढ़ाई की है, वह पास हो जाएगा।

Kuldeep Saraswat
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned