रोजगार के लिए बुलाने पर भी नहीं पहुंचे युवा, जाने क्यों?

मुख्यमंत्री युवा स्वाभिमान योजना युवाओं को नहीं आ रही रास

By: Kuldeep Saraswat

Updated: 29 Mar 2019, 11:35 AM IST

सीहोर. सरकार बेरोजगार युवाओं को रोजगार देने के लिए खुद बुला रही है, लेकिन युवा पहुंच नहीं रहे हैं। जी हां, यह बात हम नहीं मुख्यमंत्री युवा स्वाभिमान योजना के आंकड़े बता रहे हैं। सीहोर जिले में मुख्यमंत्री युवा स्वाभिमान योजना के तहत करीब चार हजार 533 कार्य उपलब्ध हैं, जिनके लिए चार नगर पालिका और नगर परिषद ने दो हजार 891 युवाओं को बुलाया है, लेकिन 26 मार्च तक महज एक हजार 544 ही पहुंचे हैं।

प्रदेश की कांग्रेस सरकार ने बेरोजगार युवाओंं को लुभाने के लिए साल में 100 दिन का रोजगार देने मुख्यमंत्री युवा स्वाभिमान योजना शुरू की है। सीहोर जिले के युवाओं को सरकार की यह योजना रास नहीं आ रही है। सरकार ने योजना के तहत युवाओं से ऑनलाइन आवेदन कराए, लेकिन युवाओं ने आवेदन अपेक्षा के अनुरूप नहीं किए। इसके बाद जब नगरीय निकायों ने ऑनबोर्डिंग के लिए बुलाया तो एक तिहाई से ज्यादा पहुंचे ही नहीं और जो पहुंचे, उनमें से भी 25 प्रतिशत रिजेक्ट हो गए।

9 निकाय में से सिर्फ 4 में ऑनबोर्डिंग
सीहोर जिले की दो नगर पालिका और सात नगर परिषद में से 4 में आवेदन करने वाले युवाओं को रोजगार की टें्रनिंग देने के बुलाया गया है। पांच नगर पंचायत जावर, शाहगंज, बुदनी, रेहटी और नसरुल्लागंज में अभी आवेदन करने वाले युवाओं को ट्रेनिंग के लिए बुलाने तक की प्रक्रिया शुरू नहीं हो सकी है। नगरीय निकाय की तरफ से प्रक्रिया में देरी होने का कारण यह बताया जा रहा है कि पर्याप्त स्टाफ नहीं है।

आनबोर्डिंग के बाद 25 फीसदी रिजेक्ट
मुख्यमंत्री युवा स्वाभिमान योजना के तहत चार नगरीय निकाय सीहोर, आष्टा, इछावर और कोठरी में दो हजार 981 को ऑनबोर्डिंग के लिए बुलाया गया है। इनमें से करीब 814 रिजेक्ट हुए हैं। कुछ बायोमेट्रिक डिवाइस के कारण रिजेक्ट हुए हैं और कुछ टे्रनिंग के लिए ट्रेड उपलब्ध नहीं होने के कारण बाहर किए गए। सबसे ज्यादा करीब 121 युवा ग्रामीण क्षेत्र के होने से रिजेक्ट हुए हैं। नगरीय निकाय सिर्फ नगरीय क्षेत्र के युवाओं को ट्रेनिंग देंगे।

युवाओं के रूचि नहीं लेने का कारण
साल में 100 दिन का रोजगार देने के लिए भारत सरकार द्वारा शुरू की गई मनरेगा योजना के पहले चरण में बहुत गड़बडिय़ां सामने आईं थी। इन गड़बडिय़ों को देखते हुए प्रदेश सरकार ने मुख्यमंत्री युवा स्वाभिमान योजना की पूृरी प्रक्रिया को पारदर्शी बनाते हुए ऑनलाइन किया गया है। नगरीय निकाय क्षेत्र के ही युवाओं को रोजगार दिया जाना है। ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया में स्टूडेंट्स ने भी आवेदन कर दिए। कार्य स्थल पर उपस्थित बायोमेट्रिक डिवाइस के माध्यम से दर्ज होनी है। इन और आउट का पंच करना है। परीक्षा का समय चल रहा है, ऐसे में टे्रनिंग और कार्य के लिए 8 घंटे का समय निकालना स्टूडेंट्स के लिए काफी मुश्किल है।

एक नजर में युवा स्वाभिमान
निकाय कार्य दिवस बुलाए युवा पहुंचे युवा रिजेक्ट
सीहोर 1021 1375 845 128
आष्टा 530 990 450 515
जावर 426 --- ---- ----
कोठरी 426 179 00 00
इछावर 426 347 249 171
टोटल- ---- 2891 1544 814
(नोट - पांच निकाय में युवाओं को कॉलिंग शुरु नहीं हुई है। )
वर्जन....
- कुछ ऐसे व्यक्तियों ने आवेदन कर दिया है जो समझते थे, आसानी से काम हो जाएगा। लेकिन इसमें पूरी पारदर्शिता और सख्ती की गई है। इसलिए आवेदन करने के बाद लोग नहीं आ रहे हैं। स्टूडेंट्स ने भी आवेदन किए हैं, स्टूडेंट्स कैसे आठ घंटे समय देगा।
गणेश शंकर मिश्रा, कलेक्टर सीहोर

Kuldeep Saraswat
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned