सायलो पर लगी एक किलो मीटर लंबी लाइन, 832 किसानों से खरीदा 41 हजार क्विंटल गेहूं

गुरुवार को समर्थन मूल्य पर 13 हजार 221 क्विंटल गेहूं की खरीदी, सायलो पर रसीद नहीं मिलने की शिकायत

By: Kuldeep Saraswat

Published: 29 Mar 2019, 11:46 AM IST

सीहोर. समर्थन मूल्य पर गेहूं की खरीदी रफ्तार पकडऩे लगी है। गुरुवार को जिलेभर में समर्थन मूल्य पर करीब 13 हजार 221 क्विंटल गेहूं की खरीदी की गई है। समर्थन मूल्य पर खरीदी के दौरान सीहोर सायलो सेंटर पर कुछ किसानों ने गेहूं तुलाने के बाद रसीद नहीं मिलने की शिकायत दर्ज कराई है, जिसे लेकर अफसरों का तर्क है कि तकनीकी कारणों के चलते दिक्कत आ रही है, जल्द ही ठीक हो जाएगी।

नागरिक आपूर्ति निगम के जिला प्रबंधक असलम खान ने बताया कि सीहोर जिले में 26 मार्च से समर्थन मूल्य पर गेहूं की खरीदी शुरू हो गई है। समर्थन मूल्य पर अभी तक 832 किसानों से 41 हजार 012 क्विंटल गेहूं खरीदा गया है। गेहूं खरीदी दो स्तर पर की जा रही है, एक तो गोदाम और दूसरा सोसायटी। सोसाइटी की अपेक्षा गोदाम पर ज्यादा गेहूं आ रहा है। सरकारी रेकॉर्ड के मुताबिक 28 मार्च सुबह तक गोदाम स्तर पर 21 हजार 04 क्विंटल और समिति स्तर पर महज 6 हजार ***** क्विंटल गेहूं खरीदा गया है।

सीहोर सायलो सेंटर पर लंबी लाइन
सीहोर में आठ समितियों के किसान का गेहूं कृषि उपज मंडी स्थित सायलो सेंटर पर खरीदा जा रहा है। यहां पर गेहूं लेकर सबसे ज्यादा किसान पहुंच रहे हैं। गुरुवार को सायलो पर गेहूं की खरीदी शुरू होने से पहले ही किसानों के पहुंचने का सिलसिला प्रारंभ हो गया। जमोनिया, भोपाल नाका और पुलिस लाइन रोड पर करीब एक किलो मीटर लंबी ट्रैक्टर-ट्रॉली की लाइन लग गई। सायलो सेंटर पर गेहूं खरीदी की रफ्तार दूसरे सेंटर से अधिक होने के बावजूद भी यहां पर किसानों को गेहूं बेचने के लिए तीन से चार घंटे तक इंतजार करना पड़ा है।

रसीद नहीं मिलने की शिकायत
सीहोर सायलो सेंटर पर किसान गेहूं बेचने के बाद रसीद नहीं मिलने की शिकायत कर रहे हैं। बिजौरा निवासी किसान सरेन्द्र राठौर और मकसपुर निवासी राजू कुशवाह ने बताया कि गेहूं बेचने की रसीद नहीं दी जा रही है। अफसरों का तर्क है कि यह दिक्कत सॉफ्टवेयर के कारण आ रही है, दो दिन से इस पर काम चल रहा है। सायलो पर गेहूं खरीदी सीधे ट्रॉली से की जाती है, जबकि सरकार का सॉफ्टवेयर रसीद प्रिंट करते समय बोरे की संख्या मांगता है।
वर्जन...
- सायलो सेंटर पर रसीद नहीं मिलने की शिकायत मिली थी। यह दिक्कत सॉफ्टवेयर की वजह से आ रही है। इंजीनियर ठीक करने में लगे हैं, किसान चिंता नहीं करें।
गणेश शंकर मिश्रा, कलेक्टर सीहोर

Kuldeep Saraswat
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned