मौसम का कहर : पीडि़तों को चार-चार लाख की आर्थिक मदद

मौसम का कहर : पीडि़तों को चार-चार लाख की आर्थिक मदद

Kuldeep Saraswat | Publish: Apr, 18 2019 11:51:21 AM (IST) Sehore, Sehore, Madhya Pradesh, India

बारिश और आंधी के कारण श्यामपुर और आष्टा में सबसे ज्यादा नुकसान की आशंका

सीहोर। बारिश और आंधी के कारण अंचल में करीब ५०० परिवार प्रभावित हुए हैं। यह आंकड़ा प्रारंभिक तौर पर सामने आया है। सबसे ज्यादा नुकसान श्यामपुर और आष्टा तहसील में हुआ है। बारिश के कारण जिले के करीब एक दर्जन समर्थन मूल्य खरीदी केन्द्रों पर गेंहूं भी भीगा है। बारिश और आंधी के कारण हुए नुकसान का आंकलन करने के लिए जिला प्रशासन ने राजस्व अमले को निर्देश दे दिए हैं। आष्टा में आंधी के दौरान पेड़ की चपेट में आने से मौत का शिकार होने वाले युवक और श्यामपुर में आकाशीय बिजली गिरने के कारण मरने वाले किसान के परिजन को चार-चार लाख रुपए आर्थिक सहायता के रूप में स्वीकृत किए गए हैं।

अपर कलेक्टर वीके चतुर्वेदी ने बताया कि आईसीआईसीआई बैंक के सामने एक पेड़ गिरने के दौरान उसकी चपेट में आने से मंगलवार को दिलीप पुत्र बाबूलाल उम्र 32 साल निवासी अरनियाराम और श्यामपुर के बरखेड़़ाहसन में आकाशी बिजली गिरने से जयराम पुत्र मोहन लाल उम्र ४० साल की मौत हो गई थी। पीडि़त परिवारों के लिए आरबीसी मद से चार-चार लाख रुपए की आर्थिक सहायता स्वीकृत की गई है। एडीएम चतुर्वेदी ने बताया कि तहसीलदार और पटवारियों को आदेश दिए हैं कि वह अपने-अपने क्षेत्र का सर्वे कर रिपोर्ट कलेक्टर को दें, जिससे नुकसान का आंकलन किया जा सके। एडीएम ने बताया कि जिले में इन दो घटनाओं के अलावा बड़ी किसी घटना की अभी सूचना नहीं मिली है।

सर्वे करने घर-घर पहुंचने लगे पटवारी
राजस्व अमले ने नुकसान का आंकलन करने के लिए सर्वे शुरू कर दिया है। बुधवार सुबह पटवारी दिलीप राठौर और सुरेश विश्वकर्मा ने झरखेड़ा गांव का निरीक्षण किया। यहां पर दोनों पटवारियों ने घर-घर जाकर बारिश और आंधी के कारण हुए नुकसान की जानकारी ली। जावर में भी राजस्व अमले ने सर्वे शुरू कर दिया है। एडीएम के मुताबिक तीन दिन में सर्वे का काम पूरा हो जाएगा।


श्यामपुर, दोराहा में भीगा गेंहू
समर्थन मूल्य पर गेहूं खरीदी का काम तेजी से चल रहा है। मंगलवार शाम पांच बजे तक करीब एक लाख 20 हजासर 076 क्विंटल गेंहू खरीदा गया था। नागरिक आपूर्ति विभाग की रिपोर्ट के मुताबिक जिस समय बारिश और आंधी का दौर शुरू हुआ था, करीब 25.25 प्रतिशत गेहूं समर्थन मूल्य के खरीदी केन्द्रों पर रखा था। गोदाम में सिर्फ 89 हजाार ४५४ मीट्रिक टन गेहूं ही शिफ्ट हो सका था। इस हिसाब से काफी बड़ी मात्रा में गेहूं बारिश से भीगा है। बरखेड़ाहसन खरीदी केन्द्र पर करीब एक हजार क्विंटल, दोराहा में करीब 1200 क्विंटल, गड़ी बाघराज में डेढ़ हजार क्विंटल और अहमदपुर में करीब 800 क्विंटल गेहूं बारिश में भीगा है।

कौन क्या कहता है....
- मेरे मकान के ऊपर नीम का पेड़ गिर गया, जिसकी वजह से काफी नुकसान हुआ है। पूरे परिवार ने पड़ोसियों का सहारा लेकर रात गुजारी है। काफी नुकसान हुआ है।
लाभमल गुप्ता, निवासी अहमदपुर
- दुकान में रखे खाद बीज और कीटनाशक बारिश के खराब हो गया। बेमौसमी बारिश के कारण काफी नुकसान हुआ है। प्रशासन को गंभीरता से सर्वे करना चाहिए।
जगदीश दांगी, अहमदपुर
- राजस्व अमले को सर्वे के आदेश दे दिए हैं। पटवारी और तहसीलदार से सर्वे कर रिपोर्ट मांगी है। अभी सिर्फ दो जनहानि की शिकायत मिली है। पीडि़तों को चार-चार लाख रुपए स्वीकृत किए हैं।
वीके चतुर्वेदी, एडीएम सीहोर

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned