दो समुदाय में विवाद, पथराव कर फंूके वाहन, गांव में पुलिस बल तैनात

दो समुदाय में विवाद, पथराव कर फंूके वाहन, गांव में पुलिस बल तैनात

Kuldeep Saraswat | Updated: 17 May 2019, 11:02:50 AM (IST) Sehore, Sehore, Madhya Pradesh, India

इछावर के सतपिपलिया गांव में रात के समय हुआ विवाद, गांव में पुलिस बल तैनात

सीहोर. इछावर तहसील के सतपिपलिया गांव में रात को बारात के दौरान डीजे बजाने की बाद को लेकर दो समुदाय के बीच विवाद हो गया। विवाद में पथराव के बाद एक कार और दो पहिया वाहन आग के हवाले कर दिए गए। पुलिस ने सुरक्षा की दृष्टि से दोनों तरफ के करीब एक दर्जन व्यक्तियों पर मामला दर्ज कर गांव में बल तैनात कर दिया गया है। यहां पर सुरक्षा की दृष्टि से धारा 144 भी लगाई गई है।

पुलिस के अनुसार बुधवार को सतपिपलिया गांव में द्वारकाप्रसाद वर्मा की बेटी की शादी थी। द्वारका प्रसाद के यहां पर पास के झागरिया गांव से बारात आई थी। रात को गांव में डीजे के बरात निकल रही थी, इसी दौरान कुछ असामाजिक प्रवृति के लोग आए और डीजे के साथ बारात निकलने का विरोध करने लगे। बराती और गांव के दूसरे व्यक्तियों ने जब इस बाद का विरोध किया तो बात विवाद तक पहुंच गई। गाली-गलौच के बाद हाथापाई और फिर लाठी, डंडे चलने लगे। दोनों तरफ से पथराव शुरू हो गया। कुछ व्यक्तियों ने कार और बाइक में आग लगा दी। बताया जा रहा है कि गांव के तीन मकान भी आग की चपेट में आए हैं। विवाद में एक पक्ष से दिनेश वर्मा पुत्र राधेश्याम वर्मा और दो अन्य व्यक्ति घायल हुए हैं, वहीं दूसरे पक्ष से शेख मीर और मुन्नी बी के घायल होने की बात सामने आ रही है। विवाद के बाद पुलिस ने दोनों पक्ष के करीब एक दर्जन व्यक्तियों पर मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। सुरक्षा के लिए गांव में पुलिस बल तैनात कर धारा १४४ लागू कर दी गई है।

पुलिस ने दर्ज किया क्रॉस मामला
पुलिस ने सतपिपलिया के मंगलेश वर्मा (२७) पिता भोपाल सिंह वर्मा की रिपोर्ट पर शेख मुराद, अफसर, सन्नू खां, सलाम, शेख रहमान, नवाब खां, रफीक खां, बाबू खां और सिद्दू खां के खिलाफ मामला दर्ज किया है। वहीं दूसरे पक्ष के शेख मुराद (३८) पिता शेख करीम की रिपोर्ट पर मंगलेश, कमलेश, अनिल, दिनेश और सात-आठ अन्य के खिलाफ मामला कायम किया है। पुलिस की माने तो अभी किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है।
रात में भी अफसरों ने संभाला मोर्चा
इछावर के सतपिपलिया गांव में विवाद की जानकारी मिलते ही एएसपी समीर यादव और एडीएम बीके चतुर्वेदी पहुंच गए। डेढ़ घंटे में पूरा गांव पुलिस छावनी में तब्दील हो गया। यहां पर एक साथ डेढ़ सौ से ज्यादा पुलिसकर्मियों के पहुंचने के साथ ही असामाजिक प्रवृति के लोग इधर-उधर भाग गए। रात को डीआईजी भोपाल ने भी गांव का दौरा कर सुरक्षा इंतजाम का जायजा लिया। पुलिस ने दो से तीन घंटे मेें भी बेकाबू स्थिति पर नियंत्रण कर दिया। स्थिति पर नियंत्रण होने के बाद भी गांव में सुरक्षा की दृष्टि से पुलिस बल तैनात रहा है।
वर्जन...
- पुलिस बल तैनात कर स्थिति पर काबू कर लिया है। एतिहात के तौर पर धारा 144 भी लगाई गई है। अफवाहों से भ्रमित होने की जरूरत नहीं है, पुलिस पूरी तरह से ग्रामीणों की सुरक्षा के लिए लगी है।
समीर यादव, एएसपी सीहोर

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned