कमाई का जरिया बनेगा पौधरोपण कर उनकी सुरक्षा करना

कमाई का जरिया बनेगा पौधरोपण कर उनकी सुरक्षा करना
Plantation campaign

Bharat pandey | Updated: 23 Jun 2017, 06:58:00 PM (IST) Sehore, Madhya Pradesh, India

पौधे लगाने के बाद उनकी देखरेख के लिए जॉब कार्डधारियों को मिलेगा रोजगार

सीहोर। अब पौधारोपण करने के बाद उनकी देखरेख करना गरीब लोगों के लिए रोजगार का जरिया बनेगा। पौधा लगाने से लेकर बड़े होने तक निर्धारित मेहनताना दिया जाएगा। इसके लिए प्रत्येक गांव में दो पौधारक्षक नियुक्त किए जाएंगे। इसकी तैयारी करीब पूरी हो चुकी है।

 पौधारोपण के लिए मनरेगा के तहत गांवों में दो परियोजना स्वीकृत की जा रही है। इससे प्रत्येक गांव के दो लोगों को पौधारोपण से रोजगार मिलेगा। पौधों की सुरक्षा के लिए गांव के जिम्मेदार लोगों को पौधारक्षक के रुप में चयन किया जाएगा। वहीं पेड़ों से होने वाली आय का 50 प्रतिशत हिस्सा पौधारक्षक को मिलेगा। पौधारोपण के प्रोजेक्ट की लागत तीन लाख रुपए से पांच लाख 35 हजार रुपए तक है। पहला प्रोजेक्ट सड़क किनारे पौधारोपण करने का है। जिसमें सड़क किनारे एक किमी में 10-10 मीटर की दूरी पर 200 पौधे रोपने की लागत तीन लाख 35 हजार रुपए होगी। सड़क के किनारे आम, इमली, जामुन, महुआ, नीम, करंज, मुनगा, अर्जुन, सप्तपर्णी, कैसिया, सामिया, गुलमोहर, पेल्टाफारम, चिरोल, अमलतास, पीपल, बरगद और बांस आदि पौधे रोपे जाना प्रस्तावित किया है।

देखरेख करने तक की जिम्मेदारी
दूसरे प्रोजेक्ट के तहत सामुदायिक स्थानों पर होने वाले पौधारोपण की लागत पांच लाख 35 हजार हैं। इसमें 625 पौधों की प्रति हेक्टेयर में रोपना है। इनमें आम, जामुन, नीम, आंवला, नींबू, अमरुद, मीठी नीम, सीताफल, मुनगा, बेर, पीपल और बांस के पौधे रोपे जाएंगें। तीसरे प्रोजेक्ट में सार्वजनिक परिसरों में जैसे स्कूल, छात्रावास, खेल मैदान, मोक्षधाम परिसर का है। जहां तीन लख 35 हजार रुपए की लागत से दो सौ पौधे रोपे जाएंगें। जिला पंचायत सीईओ केदार सिंह ने बताया कि हर पंचायत के प्रत्येक गांव में पौधारोपण किया जाएगा।  इनकी देखरेख के लिए मनरेगा के तहत जॉबकार्डधारी को प्राथमिकता दी जाएगी। इसकी तैयारी पूरी कर ली है और पंचायतों को भी निर्देश दिए जा रहे हैं। पौधे लगाने से लेकर उनके बड़े होकर देखरेख करने तक की जिम्मेदारी रहेगी।

इनका कहना है
ग्राम पंचायत के तहत आने वाले प्रत्येक गांव में पौधारोपण किया जाएगा। इनकी देखरेख करने पौधारक्षक नियुक्त किया जाएगा। उनको निर्धारित मेहनताना दिया जाएगा।
केदार सिंह, सीईओ जिला पंचायत सीहोर
Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned