आवास के चक्कर में ग्रामीण परेशान 20 हजार दिए, फिर भी नहीं दे रहे किस्त

आवास के चक्कर में ग्रामीण परेशान 20 हजार दिए, फिर भी नहीं दे रहे किस्त

Yogendra Sen | Publish: Feb, 15 2018 01:39:36 PM (IST) Sehore, Madhya Pradesh, India

Pradhan Mantri Awas योजना में लगातार मिल रही शिकायतें, कई जगह भवन अधूरे,लोग हो रहे परेशान

सीहोर। जिले में प्रधानमंत्री आवास के चक्कर में ग्रामीण परेशान हैं। किस्त के भुगतान के एवज में इससे जुड़े दलाल घूस मांग रहे हैं।रुपए नहीं देने पर ग्रामीणों की किस्त जारी नहीं हो रही है। कई भोले-भाले ग्रामीणों से रुपए लेने के बाद भी राशि नहीं दी रही है। इसके चलते जिले में ग्रामीण और शहरी प्रधान मंत्री आवास योजना की रफ्तार धीमी चल रही है। कई जगह अब भी भवन अधूरे है। पीडि़त समस्याओं को लेकर कलेक्ट्रेट पहुंच रहे है, लेकिन समस्या का समाधान अब तक नहीं हो सका है।

गरीबों को सिर पर छत को लेकर जिले भर में आवास योजना चलाई जा रही है, लेकिन समय पर किस्त नहीं मिलने के कारण कई हितग्राहियों के सपनों का आशियाना अब भी अधूरा है। पीडि़त समस्या को लेकर अधिकारियों शिकायत कर रहे हैं, लेकिन समस्या का समाधान नहीं हो सका है। अधूरे निर्माण के कारण लोगों का पिछली बारिश में गृहस्थी का सामान तक खराब हो गया। इसको लेकर सहायता और किस्त को लेकर हितग्राही कलेक्ट्रेट पहुंच रहे हैं।

यह है जिले में स्थिति
प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत ग्रामीण आवास योजना में कुल 12 हजार 747 पात्र हितग्राहियों को चिन्हित किया गया था। जहां अब तक 11 हजार दौ सौ हितग्राहियों को आवास योजना का लाभ दिया जा चुका है। इनमें से अब तक 90 फीसदी निर्माण पूर्ण हो चुके है। वही एक हजार 547 के लगभग हितग्राहियों को अब तक योजना के तहत लाभ नहीं मिला है। सीहोर नपा में एक हजार आठ सौ से ज्यादा आवेदन मिले है। इसमें अभी तक 1240 हितग्राहियों का चयन किया गया है। इसमें भी 70 फीसदी से ज्यादा लोगों को दूसरी, तीसरी और चौथी किस्त जारी नहीं की गई है।

आवास योजना का काम अपनी रफ्तार से चल रहा है। अब तक 90 फीसदी काम पूर्ण हो गया है। कुछ आवास विवाद और अन्य समस्या को लेकर अटके हुए हैं। जिसकी जांच कार्रवाईचल रही है।
- योगेन्द्र राय, प्रधानमंत्री आवास योजना प्रभारी, जिला पंचायत, सीहोर

पहला मामला- 20 हजार दिए, फिर भी जारी कर कर रहे किस्त
आष्टा तहसील के ग्राम गाडराखेड़ी के निवासी हीरालाल पिता देवाजी ने जिला प्रशासन को शिकातय करते हुए आरोप लगाया है।उसका कहना हैकि ग्राम पंचायत मानाखेड़ी के सरपंच पति महेन्द्र पटेल, सचिव चन्दरसिंह वर्मा, रोजगार सहायक नीरज प्रजापति, निरीक्षक गोविन्द शर्मा द्वारा किस्त दिलाने के नाम पर दबाव बना रहे हैं।उससे 10-10 हजार रुपए दो बार ले लिए गए हैं, किन्तु अभी भी उसे 70 हजार रुपये की किस्त नही दी गई है। इसके कारण मकान का कार्य ठप हो गया है। ग्रामीण ने किस्त दिलवाने और दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करने को लेकर शिकायत की गईहै।

दूसरा मामला-आवास के लिए भटक रहा परिवार
दोराहा के ग्राम सतरोनिया में सलाउद्दीन पिता बाबू खंा परिवार के साथ आठ साल से झोपड़ी बना कर रह रहा था। पिछले दिनों अतिक्रमण के नाम पर गरीब की झोपड़ी तोड़ दी गई। आश्वासन दिया कि दूसरी जगह पट्टा दिया जाएगा, लेकिन आज तक पट्टा नहीं दिया गया। सलाउद्दीन ने पहले भी आवेदन दिया गया लेकिन आज तक समस्या का निराकरण नहीं हो सका है। एक बार फिर समस्या को लेकर कलेक्ट्रेट में शिकायत दर्ज कराईहै।

तीसरा मामला-धीमी गति से परेशान हितग्राही
शहर में आवास योजना को लेकर लगभग आठ सौ मकानों का निर्माण कार्य चल रहा है। राशि की पहली और दूसरी किस्त मिलने के बाद काम भी शुरू हो गए, लेकिन इसके बाद कई हितग्राहियों को किस्त जारी नहीं हुई। इसके चलते कई परिवारों को किराए का भवन नहीं मिलने के कारण खुले आसमान के नीचे रहना मजबूरी बनी हुई है। रविवार को हुई बारिश में पूरा समान भीग कर बर्बाद हो गया। ऐसी स्थिति में पेट भरने
के लिए भी अनाज नहीं बचा। क्षेत्र के तारा बाई, पार्वती ठाकुर, लक्ष्मी, जमना, पुनिया, धापू, सुमन, नादान बाई, संतोष प्रजापति के नेतृत्व में जल्द राशि स्वीकृत कराने और सहायता दिलवाने की मांग की गई।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned