स्कूलों की व्यवस्था देख भड़कीं कमिश्नर,बिना लंच किए लौटीं

स्कूलों की व्यवस्था देख भड़कीं कमिश्नर,बिना लंच किए लौटीं
sehore

Bharat pandey | Updated: 24 Jun 2016, 11:31:00 PM (IST) Sehore, Madhya Pradesh, India

शहरी क्षेत्र के चार स्कूलों में नहीं मिला एक भी बच्चा, हेडमास्टर को किया निलंबित, 10 शिक्षकों की रोकी दो-दो वेतनवृद्धि

सीहोर। राज्य शिक्षा केन्द्र की कमिश्नर दीप्ति गौड़ मुकर्जी शुक्रवार को जिले के नसरुल्लागंज में शहरी क्षेत्र के चार स्कूलों में पहुंचीं। कमिश्नर को एक भी स्कूलों में बच्चे नहीं मिले। एक स्कूल में बच्चों के साथ शिक्षक भी गायब थे। स्कूलों की चौपट व्यवस्था को लेकर कमिश्नर काफी नाराज हुई। उन्होंने स्कूल से गायब हैंडमास्टर का तत्काल निलंबित कर दिया। वहीं स्कूलों की चौपट को लेकर बीईओ, बीआरसीसी को जमकर फटकार लगाई। इसके साथ ही स्कूलों में बच्चों के नहीं मिलने पर करीब दस शिक्षकों की दो-दो वेतनवृद्धि रोकने डीपीसी को निर्देश दिए।

राज्य शिक्षा केन्द्र की कमिश्नर दीप्ति गौड़ मुकर्जी शुक्रवार को अपर मिशन संचालक शीला दाहिमा, लोक शिक्षण संचालनालय की अपर परियोजना संचालक शिल्पा गुप्ता  केपीएस तोमर सहित आठ सदस्यीय टीम के साथ नसरुल्लागंज पहुंचीं थी। उन्होंने शुक्रवार की सुबह सबसे पहले नसरुल्लागंज क्षेत्र में आने वाले धागा ग्राम के प्राथमिक स्कूल का निरीक्षण किया। यहां सारी व्यवस्थाएं सुचारू पाई गईं। यहां उन्होंने बाल कैबिनेट सदस्यों और बाल प्रबंधन समिति से गतिविधियों की चर्चा की। बच्चों ने यहां हाईस्कूल की मांग की। कमिश्नर और टीम इसके बाद नसरुल्लागंज क्षेत्रके शहरी क्षेत्रमें आ पहुंचीं। यहां सबसे पहले सर्वहारा कॉलोनी स्थित प्राथमिक शाला का निरीक्षण किया। यहां स्कूल में कोई भी बच्चा उपस्थित नहीं मिला। शिक्षक भी गायब पाए गए। इसके अलावा कन्या प्राथमिक स्कूल, कन्या माध्यमिक स्कूल, उत्कृष्ठ स्कूल के  निरीक्षण में भी स्कूल में कोई बच्चा उपस्थित नहीं पाया गया। स्कूलों में प्रवेशोत्सव नहीं मनाए जाने, निर्धारित गतिविधियां नहीं किए जाने को लेकर कमिश्नर काफी नाराज हुईं। उन्होंने जनशिक्षक और बीआरसीसी को भी कड़ी फटकार लगाते हुए स्कूल चले अभियान की गतिविधियां आयोजित करने की बात कहीं। वहीं बीईओ बीईओ पीएन पेठारी को स्कूलों का नियमित निरीक्षण करने निर्देश दिए।

इन पर हुई कार्रवाई
स्कूलों में बच्चे नहीं मिलने पर कमिश्नर ने बालक प्राथमिक स्कूल के हैडमास्टर रमेश चंद्र मालवीय को निलंबित कर दिया।इसके साथ ही प्राथमिक स्कूल के शिक्षक रुकमणि दुबे, वृंदा शिंदे, आरएल मालवीय, महेश कुमार धुव्रे, रामेश्वर वर्मा तथा कन्या माध्यमिक शाला के रामेश्वर  शर्मा, संध्या शर्मा, कृष्णा अग्रवाल, आशा धीमान, परवीन सुल्तान की दो-दो वेतनवृद्धिरोकने के निर्देश डीपीसी सीबी तिवारी को दिए।

नहीं किया लंच  
नसरुल्लागंज क्षेत्र में शहरी क्षेत्र की स्कूलों की चौपट व्यवस्था को देख उन्होंने कड़ी नाराजी व्यक्त करते हुए कहा इस तरह नहीं चल पाएगा। स्कूलों में बच्चे नहीं मिलेंगे तो इसके जिम्मेदार स्कूलों के शिक्षक ही होंगे। स्कूलों में चौपट व्यवस्था को लेकर वह निरीक्षण के दौरान ही बिना लंच लिए ही वापस लौट गईं। कमिश्नर के लंच की व्यवस्था रेस्ट हाउस में की गई थी। हालांकि बिना लंच लौटने के मामले में डीपीसी सीबी तिवारी ने कहा कि कमिश्नर मेडम की अचानक विशेष बैठक में जाना पड़ा। इसके कारण वह वापस लौट गईं। कमिश्नर के साथ आए शेष निरीक्षण दल ने लंच लेकर ही लौटा।

इधर, डीईओ ने दो शिक्षकों को किया संस्पेंड, दो की वेतनवृद्धि रोकी
सीहोर । शिक्षण सत्र भले ही प्रारंभ हो गया है, लेकिन शिक्षक अभी भी स्कूल नहीं पहुंच रहे हैं। जिला शिक्षा अधिकारी (डीईओ) अनिल वैद्य ने निरीक्षण में सामने आया है कि शिक्षक बिना बताए स्कूल से गायब हैं।    डीईओ ने विकासखण्ड सीहोर के शासकीय माध्यमिक शाला सतोरनिया, शासकीय प्रथमिक शाला चेनपुरा, शासकीय मध्यमिक शाला महुआखेडा-1, शासकीय प्राथमिक स्कूल हीरापुर एवं शासकीय प्राथमिक स्क्ूल पटेरा का आकस्मिक निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौरान पाया गया कि सतोरनिया स्कूल में पदस्थ सहायक अध्यापक रविन्द्र पाटीदार एवं पटेरा स्कूल में पदस्थ सहायक अध्यापक राजू भारती बिना किसी लिखित सूचना के स्कूल से गायब हैं। डीईओ ने दोनों शिक्षकों की एक-एक वेतनवृद्वि असंचयी प्रभाव से रोकने के लिए कारण बताओ नोटिस जारी किए। इसके साथ ही चेनपुरा स्कूल का निरीक्षण करते हुए सामने आया कि स्कूल में पदस्थ संविदा शाला शिक्षक श्रेणी -3 मोरसिंह अहिरवार के 21 जून से स्कूल ही नहीं पहुंचे हैं। इसके बाद जब डीईओ हीरापुर के स्कूल में पहुंचते तो पता चला कि यहां पर पदस्थ संविदा शाला शिक्षक श्रेणी -3 ज्योति राजोरिया 22 जून से बिना बताए गायब हैं। डीईओ ने दोनों शिक्षकों की संविदा अवधि एक वर्ष अतिरिक्त रूप से बढ़ाने के लिए कारण बताओ नोटिस दिया है। डीईओ को निरीक्षण में महुआखेडा-1 स्कूल में पदस्थ अध्यापक सैयद अनुस अली एवं सरिता चैधरी भी अनुपस्थित मिलीं, जिसे लेकर दोनों को निलंबित करने के आदेश जारी किए गए। डीईओ अनिल वैद्य ने बताया कि अनुपस्थित मिलने वाले शिक्षकों के खिलाफ एक-एक दिन का वेतन काटने के आदेश भी दिए हैं।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned