scriptsehore : Jait women driving tractor | मुख्यमंत्री शिवराज के राज में जैत की महिलाएं चला रहीं ट्रैक्टर | Patrika News

मुख्यमंत्री शिवराज के राज में जैत की महिलाएं चला रहीं ट्रैक्टर

जैत में महिला समूह ने की कस्टम हायर सेंटर की शुरुआत

सीहोर

Published: April 30, 2022 08:05:31 pm

सीहोर. आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश में युवाओं को रोजगार भले ही उनकी अपेक्षा के अनुरूप नहीं मिल रहा है, लेकिन महिलाएं हर दिन सफलता की नई कहानी लिख रही है। इस बार खेती के क्षेत्र में महिलाओं की नई कहानी लिखी गई है मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के गृह जिले जैत से। यहां पर महिलाएं आत्मनिर्भरता की तरफ कुछ इस तरीके से बढ़ रही हैं कि उनके हाथ में ट्रैक्टर और रोटावेटर, कल्टीवेटर की कमान आ गई है।

मुख्यमंत्री शिवराज के राज में जैत की महिलाएं चला रहीं ट्रैक्टर
मुख्यमंत्री शिवराज के राज में जैत की महिलाएं चला रहीं ट्रैक्टर

जी हां, हम सच बता रहे हैं, बुदनी के ग्राम जैत की कुशल और दक्ष महिलाओं ने कस्टम हायर सेंटर यानि किराए पर कृषि यंत्र देने का सेंटर की शुरुआत की है। यह प्रदेश का पहला महिला कस्टम हायर सेंटर है। महिलाओं का यह कदम आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश की दिशा में एक नई पहल है। यह सभी महिलाएं आजीविका मिशन के स्व सहायता समूह से जुड़ी हुई हैं। इस समूह की महिलाओं की खास बात यह है कि कई ऐसी महिलाएं हैं, जो इन कृषि यंत्र ट्रैक्टर, रोटाविटर आदि को स्वयं चला लेती हैं।

महिलाएं खुद चला लेती हैं कृषि यंत्र
बुदनी के ग्राम जैत के गंगा आजीविका समूह की महिलाएं इसके जरिए आत्मनिर्भरता की तरफ बढ़ रही हैं। कहानी कुछ यूं है कि सीहोर जिले में अनेक आर्थिक गतिविधियां संचालित कर रही हैं, इसमें से एक समूह की महिलाओं ने कस्टम हायरिंग सेंटर संचालित किया है। कृषि विभाग द्वारा गंगा आजीविका स्वसहायता समूह को ट्रैक्टर, रोटावेटर, कल्टीवेटर एवं अन्य कृषि उपकरण प्रदान किए गए है। महिला स्वसहायता समूह द्वारा चलाए जा रहे इस कस्टम हायरिंग सेंटर से इस क्षेत्र के लघु एवं सीमांत किसानों को रियायती दर पर किराए से कृषि उपकरणों की उपलब्धता आसानी से होगी। महिला स्वसहायता समूह की रानू केवट, राजमणी केवट ने बताया कि आमदानी का एक अतिरिक्तसाधन प्राप्त होने से उनकी आर्थिक स्थिति सुदृढ़ होगी। उन्होंने कहा कि इस नए कार्य से हम अत्यधिक उत्साहित है और हमारी कोशिश होगी कि हम किसानों को त्वरित एवं बेहतर सेवाएं दें। वर्तमान में इस स्वसहायता समूह के साथ ही जिले के 27 महिला स्वसहायता समूहों द्वारा सफलता पूर्वक रबी उपार्जन का कार्य किया जा रहा है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

यहाँ बचपन से बच्ची को पाल-पोसकर बड़ा करता है पिता, जैसे हुई जवान बन जाता है पतियूपी में घर बनवाना हुआ आसान, सस्ती हुई सीमेंट, स्टील के दाम भी धड़ामName Astrology: पिता के लिए भाग्यशाली होती हैं इन नाम की लड़कियां, कहलाती हैं 'पापा की परी'इन 4 राशियों के लड़के अपनी लाइफ पार्टनर को रखते हैं बेहद खुश, Best Husband होते हैं साबितजून में इन 4 राशि वालों के करियर को मिलेगी नई दिशा, प्रमोशन और तरक्की के जबरदस्त आसारमस्तमौला होते हैं इन 4 बर्थ डेट वाले लोग, खुलकर जीते हैं अपनी जिंदगी, धन की नहीं होती कमी1119 किलोमीटर लंबी 13 सड़कों पर पर्सनल कारों का नहीं लगेगा टोल टैक्ससंयुक्त राष्ट्र की चेतावनी: दुनिया के पास बचा सिर्फ 70 दिन का गेहूं, भारत पर दुनिया की नजर

बड़ी खबरें

Texas School Firing : अमरीका फिर लहूलुहान, 18 वर्षीय युवक की अंधाधुंध फायरिंग में 18 छात्र और 3 शिक्षकों की मौतमहंगाई से जंग: रिकॉर्ड निर्यात से घबराई सरकार, गेहूं के बाद अब 1 जून से चीनी निर्यात भी प्रतिबंधितआंध्र प्रदेश में जिले का नाम बदलने पर हिंसा, मंत्री का घर जलाया, कई घायलपंजाब के पूर्व स्वास्थ्य मंत्री के OSD प्रदीप कुमार भी हुए गिरफ्तार, 27 मई तक पुलिस रिमांड में विजय सिंगलारिलीज से पहले 1 जून को गृहमंत्री अमित शाह देखेंगे अक्षय कुमार की 'पृथ्वीराज', जानिए किस वजह से रखी जा रहीं स्पेशल स्क्रीनिंगMonkeypox Quarantine: मंकीपॉक्स के मरीज को चार हफ्ते तक रहना होगा क्वारंटाइन, वरना बढ़ती ही जाएगी बीमारीCoronavirus News Live Updates in India : दिल्ली में 24 घंटों में 400 से ज्यादा नए केसRBSE Rajasthan Board Result 2022 Today: आज जारी हो सकते हैं राजस्‍थान बोर्ड के ये रिजल्‍ट, यहां करें चेक
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.