नगर सरकार ने छोटे व्यापारियों को दिया बड़ा झटका

 दो माह बाद ही नई नगर पालिका परिषद ने दिखाया अपना रंग, शहर में मुनादी कराकर दिए फुटकर दुकानदारों से तहबाजारी वसूली के आदेश

By: Bharat pandey

Published: 02 Apr 2016, 11:42 PM IST

सीहोर । पुरानी परिषद के कार्यकाल पर सवाल उठाते हुए तहबाजारी ठेका निरस्त करने की घोषणा कर वाहवाही लूटने वाली नगर सरकार ने शनिवार को फुटकर दुकानदारों को बड़ा झटका दिया है।

23 जनवरी को नवनिर्वाचित नगर पालिका परिषद की बैठक में सर्वसम्मति से तहबाजारी ठेका निरस्त करने की घोषणा की गई थी, जो कि नगर पालिका ने वापस ले ली है। शनिवार को नगर पालिका ने शहर में मुनादी कराकर आदेश दिए हैं कि दुकानदारों को तहबाजारी शुल्क नियमित देना पड़ेगा। तहबाजारी शुल्क नहीं देने वाले दुकानदार सड़क पर खड़े होकर व्यापार नहीं कर सकेंगे।

तहबाजादी शुल्क वसूली की मुनादी होते ही शहर में नवनिर्वाचित नगर सरकार के प्रतिनिधियों की कार्यप्रणाली पर भी सवाल उठने लगे हैं। विरोधी खेमे के नेताओं का कहना है कि नगर पालिका में नवनिर्वाचित जनप्रतिनिधि मनमानी कर रहे हैं। नगर पालिका की यह मुनादी फुटकर दुकानदारों के साथ धोखा है। यदि नगर पालिका को तहबाजारी ठेका निरस्त नहीं करना था तो परिषद में इसकी घोषणा कर झूठी वाहवाही क्यों लूटी गई।

नई परिषद के कई काम उलझे
नवनिर्वाचित परिषद के कई काम प्रक्रिया के अधीन नहीं होने के कारण उलझ गए हैं। जानकारी के अनुसार नवनिर्वाचित नपा प्रतिनिधियों के मौखिक निर्देश पर पिछले महीने शहर में एक ठेकेदार द्वारा पेंचवर्क कार्य किया गया। नगर पालिका ने पेंचवर्क कार्य के लिए टेंडर प्रक्रिया नहीं होने को लेकर भुगतान से इंकार कर दिया है। इसी प्रकार सीवन से मजदूरों द्वारा जलकुंभी निकालने का भुगतान भी अटक गया है।

परिषद के हाथ में नहीं तहबाजारी बंद करना
तहबाजारी की शुल्क वसूली बंद करना नगर पालिका के हाथ में नहीं है। नगर पालिका परिषद शुल्क में बढ़ोत्तरी और कटौती लोकल बॉडी के माध्यम से कर सकती है। तहबाजारी शुल्क वसूली बंद करने का अधिकार नगरीय प्रशासन को है। नवनिर्वाचित परिषद ने वाहवाही लूटने के लिए बिना सोचे विचारे परिषद की पहली बैठक में तहबाजारी ठेका निरस्त करने का प्रस्ताव पारित कर दिया।
Bharat pandey Desk
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned