अचानक उठी आग ने सैकड़ों पेड़-पौधों को जलाकर किया खाक

चार दमकल की मदद से चार घंटे में पाया आग पर काबू, अचानक उठी आग की चिंगारी ने इस तरह से रफ्तार पकड़ी की पूरे जंगल को अपनी चपेट में ले लिया।

सीहोर/मेहतवाड़ा. अचानक उठी आग की चिंगारी ने इस तरह से रफ्तार पकड़ी की पूरे जंगल को अपनी चपेट में ले लिया। देखते ही देखते जंगल में खड़े पेड़-पौधे जलने लगे। इससे अफसर, कर्मचारियों में अफरा तफरी का माहौल बन गया। सूचना मिलने पर पहुंची दमकल से इसे बुझाने की कवायद शुरू हुई, लेकिन आग का रूद्र रूप ठंडा पडऩे का नाम नहीं ले रहा था। चार घंटे से अधिक समय तक मशक्कत करने के बाद काबू पाया जा सका। यह नजारा भोपाल इंदौर हाइवे स्थित मेहतवाड़ा के सेल धागा फेक्ट्री के पीछे स्थित पहाड़ी जंगल में देखने को मिला।

रविवार दोपहर एक बजे के करीब फेक्ट्री के इस जंगल में अज्ञात कारणों के चलते आग लगी थी। जिस जगह पर यह आग लगी, उसके पास अधिकारियों, कर्मचारियों के रहवासी स्थान है। वहीं फेक्ट्री का ऑफिस भी है। जंगल में भड़की आग को देख कंपनी के अधिकारी और कर्मचारियों में हड़कंप मच गया था। बताया जा रहा है कि आग इतनी तेजी फैली कि उसने करीब २० एकड़ जंगल को कुछ देर में ही घेर लिया। आग की चपेट में आने से जंगल में खड़े सागौन, पलास, तेंदूपत्ता के पेड़-पौधे जलने लगे। कंपनी की दमकल से अधिकारी और कर्मचारियों ने इसे बुझाने का प्रयास किया। जब काबू नहीं हुआ तो सोनकच्छ, जावर, आष्टा, कोठरी से भी दमकल बुलाई गई। इन दमकल से काफी देर बाद आग बुझी। कई जीव जंतु भी आग की भेंट चढ़ गए।

दहशत में बीता समय
आग पर जल्द काबू नहीं पाया जाता तो कंपनी को भी नुकसान हो सकता था। साथ ही यह आग गांव तक भी फैल सकती थी। आग बुझने तक अधिकारियों और कर्मचारियों में दहशत रही। इसके बुझने के बाद ही सभी ने राहत महसूस की। बता दे कि गर्मी का मौसम में तेजी से आगजनी की घटनाएं सामने आ रही है।

बुझ चुकी आग
कंपनी के पीछे साइड पहाड़ी इलाका है। उसमें अचानक आग लग गई। इसे दमकल से बुझा दिया है। आग बुझाने सोनकच्छ, आष्टा के अलावा अन्य जगह भी दमकल बुलाई थी। -प्रवीण तंवर, मैनेजर सेल कंपनी मेहतवाड़ा

वीरेंद्र शिल्पी Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned