शव को पीएम हाल ले जाने नहीं मिला वाहन तो परिजन ने किया हंगामा

आधे घंटे चले हंगामे से जिला अस्पताल में भर्ती मरीजों में मची अफरा-तफरी

By: Anil kumar

Published: 03 Dec 2019, 02:06 PM IST

सीहोर.
जिला अस्पताल से शव को पीएम हाल ले जाने परिजन को तीन घंटे शव वाहन का इंतजार करना पड़ा। उसके बाद भी वाहन नहीं आया तो उनका आक्रोश भड़क गया और अस्पताल में हंगामा शुरू कर दिया। करीब आधे घंटे चले हंगामेे के दौरान परिजन ने प्रबंधन पर कई आरोप लगाएं। सूचना मिलने पर पहुंची कोतवाली पुलिस ने समझाइश देकर मामला शांत कराया। इधर हंगामे से भर्ती मरीजोंं में अफरा तफरी का माहौल बन गया था।

जानकारी के अनुसार बडनग़र बमूलिया निवासी नाथूराम (50) पिता बक्शीलाल को हार्टअटैक आने से रविवार को परिजन इलाज के लिए जिला अस्पताल लेकर आएं थे। यहां डॉक्टर ने जांच के बाद उसे मृत घोषित कर दिया। परिजन का कहना था कि उनके पास वाहन की कोई व्यवस्था नहीं होने से शव को पीएम हाल ले जाने नंबर डायल कर शव वाहन बुलाने सूचना दी। मृतक के परिजन बद्रीप्रसाद और दिलीप सूर्यवंशी ने आरोप लगाया कि सूचना के करीब तीन घंटे

हंगामा किया तो पहुंची पुलिस
शव वाहन नहीं आने पर अस्पताल में सवा 8 बजे के करीब परिजन ने आक्रोशित होकर हंगामा शुरू कर दिया। इस दौरान प्रबंधन पर आरोप लगाया कि उनके परेशान होने के बावजूद किसी ने ध्यान नहीं दिया। हंगामे की सूचना मिलने पर पहुंची कोतवाली पुलिस ने परिजन को समझाइश देकर शव वाहन का इंतजाम किया। उसके बाद परिजन माने और शव को पीएम हाल ले गए। सोमवार को पीएम के बाद शव परिजन को सौंप दिया गया।
शव वाहन आ गया था
हार्टअटैक के मरीज को रविवार 7 बजकर 40 मिनट पर मृत अवस्था में परिजन लेकर आएं थे। शव को पीएम हाल ले जाने वाहन नहीं मिलने की बात कहकर उनकी तरफ से हंगामा किया। जबकि कुछ देर बाद ही शव वाहन पहुंच गया था। परिजन ने जो आरोप लगाएं वह निराधार हैं।
डॉ. आनंद शर्मा, सिविल सर्जन जिला अस्पताल सीहोर

Show More
Anil kumar Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned