नवरात्र में लगेगा भक्तों का मेला, एक हजार फीट ऊंची पहाड़ी पर विराजित हैं माता रानी

खनिज वाहनों सहित भारी-भरकम वाहनों को किया बुदनी-नसरुल्लागंज-सलकनपुर रोड पर प्रतिबंधित

By: Satish More

Published: 10 Oct 2018, 10:41 AM IST

सीहोर/ रेहटी. लाखों श्रद्धालुओं की आस्था का केन्द्र सलकनपुर देवी धाम में नवरात्र में भक्तों का मेला लगा रहेगा। एक हजार फीट की ऊंची पहाड़ी पर विराजित मातारानी के दरबार में लाखों श्रद्धालु पहुंचेगे।

श्रद्धालुओं की आस्था का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि नवरात्र के एक दिन पहले मंगलवार को 50 हजार से अधिक श्रद्धालुओं ने मत्था टेक कर मातारानी का आशीर्वाद लिया। पहले दिन भी ७५ हजार से एक लाख श्रद्धालु पहुंचेंगे। इधर, प्रशासन ने खनिज वाहनों सहित भारी-भरकम वाहनों को बुदनी-नसरुल्लागंज-सलकनपुर रोडपर प्रतिबंधित कर दिया है।

पर्यटन विकास एवं सलकनपुर ट्रस्ट ने इस भीड़ को नियंत्रण करने अनेक प्रयास किए हैं। श्रद्धालुओं के मंदिर में प्रवेश के लिए तीन गेट का निर्माण किया है। इन गेट पर माता के दर्र्शन के लिए आने वाले श्रद्धालुओं की कतार अलग-अलग लगाई जा रही है।

तीन रास्तों पर ट्रैफिक डायवर्ट होने से भीड़ भी एक साथ एकत्रित नहीं होगी। विध्यांचल पर्वत श्रेणी पर विराजित हैं मां विजयासन। मंदिर के महंत प्रभुदयाल ने बताया कि माता की आरती के समय श्रद्धालु मंत्र मुग्ध हो जाते है यहा 5.30 बजे 11.30 बजे और शाम 7.30 बजे आरती होती है। नवरात्र के समय माता का मंदिर रात 12 बजे से 03 बजे तक मंदिर के पट बंद रहते हैं। तड़के तीन बजे से रात 12 बजे तक माता रानी भक्तों को दर्शन देती है।

 

श्रद्धालुओं की भीड़ को देखते हुए प्रशासन ने प्रमुख मार्गों पर भारी-भरकम वाहनों को प्रतिबंधित कर दिया है। कलेक्टर तरुण कुमार पिथौड़े, एसपी राजेश चंदेल ने आदेश जारी किए गए हैं। आदेश के तहत सलकनपुर से नसरुल्लागंज, सलकनपुर-बुदनी मार्ग, भोपाल-सलकनपुर मार्ग पर खनिज वाहनों और समस्त भारी ट्रक व डंपरों के आवागमन को 10 अक्टूबर से 21 अक्टूबर 2018 तक पूर्ण प्रतिबन्ध लगा दिया है। यह आदेश तत्काल प्रभाव से लागू कर दिया गया है।

58 कैमरे से रहेगी नजर, रोपवे से मिलेगी सुविधा

सलकनपुर देवी धाम पर लगाए गए 58 सीसीटीवी कैमरों का कंट्रोल रूम भी बनाया गया है। इन सीसीटीवी के फुटेज सीधे जिला मुख्यालय और भोपाल स्थित मुख्यालय से भी देखे जा सकेंगे। इससे भक्तों की सुरक्षा व्यवस्था पर आसानी से निगरानी रखी जा सकेगी। इसके साथ ही श्रद्धालुओं को ठंडे पानी एवं रुकने की अलग व्यवस्था की है।

बुजुर्ग विकलांग एवं असहाय श्रद्धालुओं को माता के दर्शन करने के लिए रोपवे से आने-जाने की सुविधा की है। रोपवे का संचालन सलकनपुर ट्रस्ट कर रहा है। नवरात्र के समय रोपवे सुबह से देर रात तक चलता है। यहां सर्व सुविधायुक्त अतिथि निवास तैयार किया गया है। इस अतिथि गृह मे 60 लाख की लागत से 40 कमरे बनाए गए हैं, जो आधुनिक सुविधाओं से लेस एसी कक्ष हैं। मामूली शुल्क पर यह दिए जा रहे हैं।

चप्पे चप्पे पर तैनात रहेगी पुलिस
नवरात्र में करीब 500 पुलिस कर्मी तैनात रहेंगे उनकी निगरानी चप्पे चप्पे पर रहेगी। इसके साथ ही सलकनपुर देवीधाम में प्रदेश की पहली हाईटेक पुलिस चौकी से पुलिस विभाग किसी भी प्रकार की अनहोनी पर सीधे नजर रखेगा। चार मंजिला अत्याधुनिक हाइटेक पुलिस चौकी नियंत्रण कक्ष के अलावा पुलिस अधिकारियों और पुलिस कर्मियों के रुकने की व्यवस्था है।


पार्क और रंग बिरंगी लाइट बनेगी आकर्षण
सलकनपुर ट्रस्ट के अनुसार सलकनपुर को पर्यटक स्थल घोषित करने के बाद यहां 20 करोड़ रुपए खर्च कर श्रद्वालुओं के लिए सुविधा जुटाई गई है। इसमेें श्रद्धालुओं के लिए शुद्ध जल, स्ट्रीट लाइट, पार्क का निर्माण, धर्मशालाएं, स्टील की रैलिंग आदि निर्माण कार्य प्रमुख है। पहाड़ी पर मंदिर परिसर के एरिया का विस्तार भी किया है। इससे यहां करीब एक साथ एक लाख श्रद्धालु एक साथ माता के दर्शन के लिए एकत्रित हो सकते हैं।

यह रहेगी व्यवस्था
-ऊपर की जगह 5 एकड़ जमीन में पार्किंग की व्यवस्था।
-नीचे 16 एकड़ जमीन मेला और पार्किंग के लिए निर्धारित की है।
-तीन नंबर गेट पर श्रद्धालुओं को रुकने खुली धर्मशाला बनाई है।
-शुद्ध पानी के लिए तीन बड़ी फिल्टर मशीन लगाई गई है।
-मंदिर, परिसर और आसपास निगरानी करने हाइटेक कैमरे लगाए हैं।

Satish More
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned