scriptUnemployed stunned to hear salary in job in Paytm | राजधानी में लगे रोजगार मेले में तन्ख्वाह सुनकर बेरोजगार रह गए दंग, बोले ये रोजगार मेला कम मजाक मेला ज्यादा | Patrika News

राजधानी में लगे रोजगार मेले में तन्ख्वाह सुनकर बेरोजगार रह गए दंग, बोले ये रोजगार मेला कम मजाक मेला ज्यादा

- कंपनियों ने भी नहीं दिखाई रुचि, आधी कंपनियां ही पहुंची रोजगार देनें

- पेटीएम में नौकरी के लिए आए बेरोजगार, सैलरी सुनकर रह गए दंग

- रोजगार की तलाश: 585 ने कराया रजिस्ट्रेशन, 211 को ही मिली प्राथमिकता

सीहोर

Published: April 26, 2022 07:37:11 am

मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल के जिला रोजगार कार्यालय में रोजगार के लिए पहुंचे बेरोजगारों के हाथ एक बार फिर निराशा ही लगी। दरअसल बेरोजगारों को नौकरी देने के लिए जिला रोजगार कार्यालय,भोपाल में लगा रोजगार मेला अधिकतर युवाओं को रोजगार ही नहीं दें पाया। यहां आई कई कंपनियों की सैलरी यानि तन्ख्वाह सुन कर बेरोजगार भी हैरान रह गए, इसी से नाराज बेरोजगार युवाओं ने यह तक कह दिया कि यह रोजगार मेला कम मजाक मेला ज्यादा है।

rojgar_companies.jpg

दरअसल यहां अधिकतर युवा पेटीएम के नाम पर दौड़े आए, लेकिन सैलरी सुनकर दंग रह गए। कुल 15 हजार की सैलरी में कटपिट कर 11 हजार 500 रुपए ही जेब में आते। इसे लेकर युवाओं में निराशा छा गई।

रोजगार मेले को देख दुखी करोंद से आए महेश प्रजापति ने बताया कि कंपनियों ने इतनी कम सैलरी कर दी है कि रोजगार मेला कम मजाक मेला ज्यादा बन गया है। सैलरी के अच्छे पैकेज और बड़ी कंपनियां बेरोजगारों की भीड़ एकत्र कर लेती हैं, लेकिन सही मायने में रोजगार कम ही लोग पाते हैं। सोमवार को लगे रोजगार मेले में 585 बेरोजगारों ने रजिस्ट्रेशन कराया था लेकिन 211 में ही कंपनियों ने रुचि दिखाई।

इनमें से कितनों को नौकरी मिलेगी ये भी आने वाले दिनों में ही तय होगा। वहीं, ईदगाह हिल्स स्थित रोजगार मेले में आए बेरोजगारों में से काफी लोग पहले भी रोजगार के लिए अलग-अलग मेलों में आ चुके हैं। अवधपुरी के सुरेंद्र दांगी ने बताया कि गोङ्क्षवदपुरा में लगे मेले में ही सैलरी के लिए उसकी बात हुई थी। लेकिन पहले महीने में ही कार शो रूम में काम देने के बाद सैलरी भी कम कर दी। मजबूरी में जॉब छोडऩा ही रास्ता बचा है क्योंकि इतनी कम सैलरी में गुजारा संभव नहीं है।

इतनी कंपनियों को बुलाया, आधी ही पहुंचीं
मेले में इमरजेंसी मैनेजमेंट, ट्रेङ्क्षनग इंस्टीटयूट प्रालि, फ्यूजन माइक्रोफिलांस, पेटीएम, एडिको इंडिया प्रालि, मेग्नम बीपीओ, आईएमपीएस, अटेम्पस प्रालि आदि कंपनियां बुलाई गईं थी। इसमें से पेटीएम, 108 टेक्रोटास्क, मैग्रम व तीन अन्य कंपनियां ही आईं। बाकी ने रोजगार देन में रुचि नहीं दिखाई।
इस बार कुछ कंपनियां कम आईं हैं, ये बात सही है। सैलरी संबंधी स्ट्रक्चर कंपनी का ही रहता है। 585 बेरोजगारों का रजिस्ट्रेशन हुआ है।
- केएस मालवीय, जिला रोजगार कार्यालय

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Amravati Murder Case: उमेश कोल्हे की हत्या का मास्टरमाइंड नागपुर से गिरफ्तार, अब तक 7 आरोपी दबोचे गए, NIA ने भी दर्ज किया केसमोहम्‍मद जुबैर की जमानत याचिका हुई खारिज,दिल्ली की अदालत ने 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेजाSharad Pawar Controversial Post: अभिनेत्री केतकी चितले ने लगाए गंभीर आरोप, कहा- हिरासत के दौरान मेरे सीने पर मारा गया, छेड़खानी की गईIndian of the World: देवेंद्र फडणवीस की पत्नी अमृता फडणवीस को यूके पार्लियामेंट में मिला यह पुरस्कार, पीएम मोदी को सराहाGujarat Covid: गुजरात में 24 घंटे में मिले कोरोना के 580 नए मरीजयूपी के स्कूलों में हर 3 महीने में होगी परीक्षा, देखे क्या है तैयारीराज्यसभा में 31 फीसदी सांसद दागी, 87 फीसदी करोड़पतिकांग्रेस पार्टी ने जेपी नड्डा को BJP नेता द्वारा राहुल गांधी से जुड़ी वीडियो शेयर करने पर लिखी चिट्ठी, कहा - 'मांगे माफी, वरना करेंगे कानूनी कार्रवाई'
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.