रुपयों की लालच के लिए बहन और जीजा ने नाबालिग लड़की को राजस्थान में बेचा

रुपयों की लालच के लिए बहन और जीजा ने नाबालिग लड़की को राजस्थान में बेचा
Girl sold in Rajasthan due to greed for money

Vishal Yadav | Updated: 07 Aug 2019, 10:23:42 AM (IST) Sendhwa, Barwani, Madhya Pradesh, India

नाबालिग लड़की ने अपनी बहन और जीजा पर लगाया खुद को जयपुर निवासी को बेचने का आरोप, पिता और अन्य परिजन के साथ एसडीएम कार्यालय पहुंची नाबालिग

बड़वानी/सेंधवा. सेंधवा निवासी नाबालिग ने मंगलवार को जनसुनवाई में पहुंचकर विधायक और पुलिस अधीक्षक के नाम एसडीएम कार्यालय के नायब तहसीलदार को ज्ञापन सौंपा है। इसमें ज्ञापन के माध्यम से अपनी सगी बड़ी बहन और जीजा पर खुद को राजस्थान निवासी व्यक्ति को बेचने का और जबरन शादी कराने का आरोप लगाकर जीजा और बहन पर कार्रवाई की मांग की है। ज्ञापन में बताया कि नाबालिग होने के बाद भी उसका विवाह कर दिया गया। इसके बाद राजस्थान निवासी व्यक्ति ने उसका शारीरिक शोषण की शिकायत की है।
नाबालिग लड़की ने बताया कि 5 साल की थी, तब उसकी मां की मृत्यु हो गई। उसके बाद सगी बहन मौसम पति फूलचंद शर्मा निवासी चोमू राजस्थान के पास ले गई। इसके बाद वह अपने जीजा के घर रहने लगी। नाबालिग ने आरोप लगाया कि जब वह 14 वर्ष की थी, तो जीजा फूलचंद ने 40 वर्षीय व्यक्ति राधेश्याम गोपाल से मेरी शादी जबरन करा दी गई। चोमू राजस्थान में हलवाई का काम करता है। राधेश्याम ने मेरे साथ मारपीट की और शारीरिक शोषण किया। जब मैं इसकी शिकायत मेरे दीदी और जीजा को करती, लेकिन वह कोई बात नहीं सुनते थे। मेरी सास को जब मारपीट और शारीरिक शोषण के बारे में बताया तो उन्होंने मुझसे कहा कि 9 लाख में उसे खरीदा है। तेरे जीजा और बहन ने उसे हमें बेच दिया है।
नाबालिग ने बताया कि करीब 10 दिन पहले मेरी अन्य बहन मंजू राजस्थान आई थी। वह मुझे घुमाने के बहाने सेंधवा ले आई। जब अंजू को मैंने पूरे मामले की जानकारी दी तो उसने वापस राजस्थान भेजने से मना कर दिया। सेंधवा आने के बाद मुझे मेरे जीजा और पति राधेश्याम धमकी दे रहे है। यदि तू वापस नहीं आई तो तुझे जान से मार देंगे। उन्होंने झूठी रिपोर्ट लिखा कर फंसाने की धमकी भी दी थी।
विधायक, मुख्यमंत्री को लिखा पत्र, जल्द कार्रवाई की मांग की
नाबालिग ने जब पूरा मामला विधायक ग्यारसी लाल रावत और राजेंद्र मोतियानी को बताया कि तो उन्होंने तत्काल कार्रवाई कराने के निर्देश दिए। विधायक रावत ने प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ को पत्र लिखकर नाबालिग के साथ हुए शारीरिक शोषण और अन्य अपराधों में सख्त कार्रवाई करने का निवेदन किया। सेंधवा सिटी थाना प्रभारी टीएस डावर ने कहा कि मामले की गंभीरता को देखते हुए नाबालिग के बयान लेकर कायमी की गई है आरोपितों के विरुद्ध सख्त कार्रवाई की जाएगी।
आधार कार्ड बनवाने में आ रही दिक्कतें
वार्ड क्रमांक 18 के पूर्व पार्षद कयूम शेख एसडीएम के नाम आवेदन देकर बताया कि वर्तमान में नागरिकों को आधार कार्ड बनवाने के लिए किसी राजपत्रित अधिकारी से पत्ते और पहचान का प्रमाणीकरण कराना होता है। इसके बाद ही किसी कम्प्यूटर सेंटर से आधार कार्ड बनने की कार्रवाई हो रही है। इस बारे में लगातार शिकायतें मिल रही है कि आधार कार्ड के आवेदन में पहचान व पते के प्रमाणीकरण के लिए हस्ताक्षर के लिए राजपत्रित अधिकारियों द्वारा आनाकानी की जा रही है। शासकीय महाविद्यालय के प्राध्यापक, शासकीय बालक एवं कन्या हायर सेकंडरी स्कूल के व्याख्याता विभिन्न स्कूलों के प्रधान पाठक एवं अन्य सहित 50 से अधिक प्रमाणीकरण अधिकारी सेंधवा में है, लेकिन हस्ताक्षर करने से मना कर रहे है। अधिकतर प्रमाणीकरण अधिकारी कहते है कि हमने तो सील ही नहीं बनवाई। कुछ कहते है कि हमें अभी तक आदेश प्राप्त नहीं हुए है। इससे आधार कार्ड बनवाने के लिए नागरिक भटक रहे है। पूर्व पार्षद शेख ने जनसुनवाई में आवेदन देकर एसडीएम से प्रमाणीकरण अधिकारियों को निर्देश देने की मांग की है कि वह आम लोगों के हित में कार्य करें।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned