एक स्कूल, एक मार्गदर्शक, एक जैसे तीन मॉडल

Sunil Vandewar

Updated: 06 Jan 2019, 12:13:48 PM (IST)

Seoni, Seoni, Madhya Pradesh, India

सिवनी. जिला स्तरीय इंस्पायर अवार्ड प्रदर्शनी में जिले भर से चुने हुए छात्र-छात्राओं के विज्ञान मॉडल को प्रदर्शित किया जा रहा है। मॉडल बनाने प्रत्येक विद्यार्थी को १० हजार रूपए की राशि प्रदान की गई है, लेकिन देखने में आ रहा है, कि कई मॉडल ऐसे हैं, जिनको महज औपचारिकता के लिए या कहें संख्या बढ़ाने के लिए विज्ञान प्रदर्शनी में शामिल किया गया है। हद तो इस बात की है कि एक ही विद्यालय से एक जैसे तीन मॉडल भी यहां प्रदर्शित हो रहे हैं, जिनको एक ही मार्गदर्शी शिक्षिका द्वारा अलग-अलग नाम दे दिया गया है। यह आयोजन शासकीय उत्कृष्ट विद्यालय सिवनी में किया जा रहा है। प्रथम दिवस वैज्ञानिक व प्रशासनिक अधिकारी भी पहुंचे।
ऐसे-ऐसे मॉडल -
इंस्पायर अवार्ड प्रदर्शनी में शासकीय माध्यमिक शाला खमरिया के तीन विद्यार्थी आए हैं। जो कि टेबल नम्बर १४२ पर अमन चंद्रवंशी का अग्नि यंत्र, १४३ पर शिवराम चंद्रवंशी का जल वर्षा यंत्र एवं टेबल नंबर १४४ पर रजनीश चंद्रवंशी का सोलर लाइट मॉडल प्रदर्शित हैं। इनकी मार्गदर्शी शिक्षिका एक ही हैं। इन विद्यार्थियों ने बताया कि जैसा शिक्षिका ने निर्देशित किया वैसा ही मॉडल बनाया है, गौर किया जाए, तो तीनों ही मॉडल को अलग-अलग नाम दे दिए गए हैं, मॉडल एक जैसे ही हैं। अहम बात तो ये भी है कि प्रत्येक विद्यार्थी को मॉडल के लिए १०-१० हजार रूपए दिए गए हैं। ऐसे ही कई और मॉडल हैं, जो चर्चा का विषय बने हुए हैं।
वैज्ञानिक, अधिकारी भी पहुंचे -
इंस्पायर अवार्ड कार्यक्रम में अहमदाबाद से आए वैज्ञानिक नीरज सेठिया ने विद्यार्थियों को प्रेरित करते हुए कहा कि सृजनशील और कल्पनाशील बच्चे किसी भी राष्ट्र की बहूमुल्य सम्पत्ति होते हैं। संवेदना, सृजनशीलता और सहयोग की भावना बच्चों को भारत ही नहीं बल्कि संसार के लिए एक योग्य नागरिक बनाती है, यह सभी बच्चों में जन्मजात होती है, लेकिन सबकी क्षमताएं अलग-अलग होती हैं। ऐसे में हमें अपने बच्चों को मौलिक और सृजनशील बनाने पर बल देना चाहिए भविष्य में उनका यही गुण समाज के नेतृत्व में मदद करेगा तब वह नवाचार की ऊर्जा से देश के लिए रचनात्मक और समावेशी भविष्य बना सकेंगे। हमारे समाज का समावेशी विकास बच्चों को यह मौका देता है कि वह समस्याओं के निदान के लिए अभिनव राह तैयार कर सकें। जिला पंचायत की सीईओ मंजूषा विक्रांत राय ने कहा इंस्पायर अवाडर्स मानक भारत सरकार के विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग द्वारा संचालित एक विशिष्ट कार्यक्रम है। इसका मुख्य उद्देश्य प्रतिभाशाली विद्यार्थियों को किशोरावस्था में आकर्षित करना और उन्हें विज्ञान की रचनात्मक खोज से परिचित करना है। पहले दिन हुए आयोजन में डीइओ एसपी लाल, एडीपीसी महेश गौतम, विपनेश जैन, प्रदर्शनी नोडल आरएस बोरकर, सहायक नोडल यतिन अग्रवाल, विजय शुक्ला, प्राचार्य प्रेमनारायण बारेश्वा, पीयूष जैन, सुधीर ठाकुर, मोहन विश्वकर्मा, प्रभात मिश्रा, मनोज सनोडिया, शमसुननिशा, रंजना चौहान व अन्य उपस्थित हरे कार्यक्रम का संचालन आराधना राजपूत ने किया।
ऑनलाइन हुआ पंजीयन -
इंस्पायर अवार्ड प्रदर्शनी में शामिल हुए मॉडल का पंजीयन ऑनलाइन किया गया है, इसमें ३३० चयनित हुए थे, पहले दिन २८२ मॉडल शामिल हुए हैं। चयन का काम नवप्रवर्तन संस्थान का है। पंजीकृत मॉडल आए हैं या नहीं यह जानकारी ली जाएगी।
एमके गौतम, एडीपीसी, सिवनी

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned