चांद थाना के प्रधान आरक्षक की चौरई में हत्या कर सिवनी में शव को दफनाया

पुलिस की गिरफ्त में आए आरोपियों की निशादेही पर जेसीबी से निकाला गया शव

By: akhilesh thakur

Published: 24 Sep 2021, 08:48 AM IST

सिवनी. छिंदवाड़ा जिले के चांद थाने में तैनात प्रधान आरक्षक विजय बघेल (४६) का शव गुरुवार को डूंडासिवनी थाना क्षेत्र के बम्होड़ी स्थित एक खाली जमीन से जेसीबी से खुदाई कर निकाला गया। प्रधान आरक्षक की हत्या छिंदवाड़ा जिले के चौरई में करने के बाद आरोपी कार से उसके शव को सिवनी लाए और बम्होड़ी स्थित एक आरोपी की खाली जमीन पर दफना दिया। छिंदवाड़ा जिले की चौरई व डूंडासिवनी पुलिस की उपस्थिति में आरोपियों की निशानदेही पर शव बरामद हुआ। चौरई थाना प्रभारी शशि विश्वकर्मा ने बताया इस मामले में सिवनी के दो आरोपी सहित पांच को गिरफ्तार किया गया है। प्रथम दृष्टया प्रधान आरक्षक की हत्या पैसे के लेन देन में किए जाने का मामला सामने आया है।
पुलिस के अनुसार सिवनी जिले के ग्राम जैतपुर निवासी प्रधान आरक्षक विजय बघेल की तैनाती छिंदवाड़ा जिले के चौरई थाने में थी। बीते कुछ दिन पूर्व उसका नाम एएसआई पद पर पदोन्नत हुए पुलिसकर्मियों की सूची में शामिल हुआ था, लेकिन अभी तक उसके कंधे पर स्टार नहीं लगा था। इसबीच वह पुलिस लाइन चला गया था, जहां से करीब पखवाड़ेभर पूर्व उसका स्थानांतरण चांद थाने पर हुआ था। २० सितंबर को वह चौरई स्थित घर से ड्यूटी करने के लिए निकला और वापस नहीं आया। २१ की शाम को उसकी पत्नी ने चौरई थाने में शिकायत की। पत्नी की शिकायत के बाद पुलिस ने मामले की छानबीन शुरू कर दी। इसबीच मृतक की मोटरसाइकिल व मोबाइल छिंदवाड़ा जिले के कुंडीपुरा थाना क्षेत्र में मिला, लेकिन उसका सुराग नहीं लगा। पुलिस ने कॉल डिटेल खंगाला और उसके आधार पर कुछ लोगों को उठाकर पूछताछ की, लेकिन सफलता नहीं मिली। पुलिस द्वारा उठाए गए लोग प्लाटिंग (जमीनी की खरीदी-बिक्री) का कार्य करते हैं। वे चौरई और सिवनी के बम्होड़ी में प्लॉट की बिक्री करते हैं। बताया जा रहा है कि इस कार्य में विजय बघेल का भी पैसा लगा था। विजय को उन लोगों से पैसे लेने थे। पुलिस ने संदेह के आधार पर जब कठोरता से पूछताछ किया तो उन लोगों ने चौरई में २० सितंबर की शाम को करीब ४.३० बजे एक मकान में चार पहिया वाहन के लोहे के पट्टे से सिर पर हमला कर हत्या करने तथा शव को बम्होड़ी में दफनाने की बात स्वीकार किया। छिंदवाड़ा पुलिस ने सिवनी पुलिस के सहयोग से आरोपियों को उक्त स्थल पर लेकर आई और उनकी निशानदेही पर शव को बाहर निकलवाया। वह वर्दी पहने हुआ था। इसके पूर्व पुलिस ने बुधवार की देर रात इस मामले से जुड़े अन्य आरोपियों को अलग-अलग स्थानों से गिरफ्तार किया।


नेहरू रोड से शव लेकर गई थी कार, पहले ही करा दिया था गड्ढा
आरोपियों ने चौरई से बम्होड़ी शव लाने के पहले एक किराए की जेसीबी से खाली जमीन पर गड्ढा करा दिया था। उक्त जमीन पर बीते कुछ वर्ष से प्लाटिंग का कार्य चल रहा है। वह जमीन आरोपी राहुल नेमा की बताई जा रही है। ऐसे में आरोपियों ने जेसीबी संचालक को बताया कि इस जमीन को बराबर करने के साथ ही रास्ता बनाया जाना है। उन लोगों ने खाली जमीन पर समतलीकरण का कुछ कार्य भी कराया। इसके बाद जिस स्थान पर शव दफनाया जाना था वहां पर भूमि पूजन करने के नाम पर गड्ढा कराया। फिर शाम को कार से शव को चौरई के मुख्य मार्ग से होकर नेहरू रोड होते हुए बम्होड़ी लेकर पहुंचे और उसे करीब ६.३० बजे गड्ढे में डालकर मिट्टी से पाट दिया। इसके बाद जेसीबी से भरवा दिया। दूसरे दिन बुधवार को जेसीबी का काम बंद करा दिया।


सुबह आठ बजे पहुंची पुलिस तो चौक गए रहवासी
ग्राम बम्होड़ी के सड़क किनारे खाली जमीन पर गुरुवार की सुबह आठ बजे जब पुलिस के कई वाहन पहुंचे तो लोग चौक गए। पुलिस ने जब उक्त स्थान पर आरोपी राहुल नेमा व अन्य की निशानदेही पर खुदाई करानी शुरू की और शव निकला तो लोग अवाक रह गए। किसी को तनिक भी अंदेशा नहीं था कि वहां शव दफनाया गया है। आसपास के लोग बात करते सुनाई दिए कि वे बुधवार से गुरुवार की सुबह तक कई बार वहां गए लेकिन उनको इसका अनुमान ही नहीं रहा कि वहां पर शव दफनाया गया है। लोगों ने बताया कि खाली जमीन होने से लघुशंका आदि के लिए लोग उधर ही जाते हैं। बताया कि कई लोगों ने उक्त जमीन पर प्लाट खरीदने के लिए आधे पैसे दे दिए हैं, लेकिन प्लांट स्वामी आजकल बोलकर रजिस्ट्री नहीं कर रहा है।


आरोपियों में एक भाजपा का नगर मंत्री
प्रधान आरक्षक विजय बघेल की हत्या के मामले का एक आरोपी भाजपा उत्तर सिवनी नगर मंडल मंत्री राहुल नेमा बताया जा रहा है। इसके पूर्व सिवनी में भाजपा जिला उपाध्यक्ष व जिला मंत्री के बीच हुए विवाद के बाद संगठन की किरकिर हुई थी। इसके बाद संगठन की प्रदेश कार्य समिति ने दोनों को पार्टी से बाहर का रास्ता दिखा दिया है। इस संबंध में भाजपा जिलाध्यक्ष आलोक दुबे ने बताया कि आरोपियों में नगर मंत्री का नाम शामिल है। यह मेरे संज्ञान में नहीं आया है। इसकी पूरी जानकारी ली जाएगी।

akhilesh thakur Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned