एमपी बोर्ड रिजल्ट के बाद, कॉलेज में ऐसे होगा एडमीशन

एमपी बोर्ड रिजल्ट के बाद, कॉलेज में ऐसे होगा एडमीशन

Sunil Vandewar | Publish: May, 13 2018 12:40:21 PM (IST) Seoni, Madhya Pradesh, India

12वीं के परीक्षा परिणाम घोषित होने के बाद शुरु होगी प्रवेश प्रक्रिया

सिवनी. उच्च शिक्षा विभाग के अधीन संचालित शासकीय एवं मान्यता प्राप्त अशासकीय अनुदान प्राप्त एवं गैर-अनुदान प्राप्त महाविद्यालयों में प्रथम वर्ष स्नातक प्रथम सेमेस्टर स्नातकोत्तर सत्र 2018-19 में ऑनलाइन प्रवेश पोर्टल के माध्यम से होंगे। इ-प्रवेश पोर्टल पर इच्छुक आवेदक अपना पंजीयन करवाते हुए स्नातक प्रथम वर्ष, स्नातकोत्तर प्रथम सेमेस्टर में प्रवेश ले सकेंगे। इस पोर्टल पर पंजीकृत आवेदकों के प्रवेश पर ही विचार किया जाएगा।
माध्यमिक शिक्षा मण्डल के 12वीं के परीक्षा परिणाम घोषित होने के बाद उच्च शिक्षा विभाग द्वारा पृथक से जारी समय-सारणी के अनुसार प्रवेश शुरू होंगे। प्रवेश प्रक्रिया में तीन चरण एवं एक सीएलसी चरण की व्यवस्था रहेगी। प्रवेश पोर्टल पर लगभग 469 शासकीय और 827 अशासकीय महाविद्यालय एवं 74 अनुदान प्राप्त अशासकीय महाविद्यालयों में प्रवेश उपलब्ध रहेंगे। प्रदेश स्थित पात्र अल्पसंख्यक महाविद्यालय में इच्छुक आवेदक प्रवेश ले सकते हैं। इन महाविद्यालयों की सूची उच्च शिक्षा विभाग की वेबसाइट पर शीघ्र जारी होगी।
इ-प्रवेश 2018-19 में पूर्व वर्षों की तुलना में नए परिवर्तन किए गए हैं। पंजीबद्ध असंगठित कर्मकार की संतानों को शासकीय-अशासकीय अनुदान प्राप्त महाविद्यालय के स्नातक एवं स्नातकोत्तर दोनों नियमित पाठ्यक्रमों में प्रवेश लेने पर शैक्षणिक शुल्क से छूट दी गई है। सभी वर्गों की छात्राओं के लिए केवल प्रथम चरण में नि:शुल्क ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन की व्यवस्था है। यदि कोई छात्रा प्रथम से अन्येत्तर चरण में रजिस्ट्रेशन करवाती है, तो निर्धारित शुल्क लिया जाएगा।
स्नातक (यूजी) एवं स्नातकोत्तर (पीजी) कक्षाओं में अधिकतम आयु सीमा का बंधन समाप्त कर दिया गया है। प्रत्येक महाविद्यालय में प्रथम वर्ष में प्रवेशित विद्यार्थियों के लिये जुलाई माह के प्रथम सप्ताह में व्याख्यान होंगे। डिजिटल इण्डिया प्रोग्राम में ऑनलाइन प्रवेश शुल्क भुगतान की व्यवस्था है। इससे प्रवेशार्थीध्उनके अभिभावकों को भुगतान के लिये एक बेहतर सुविधा उपलब्ध रहेगी और उनके समय की बचत होगी। दिव्यांगों के लिये आरक्षित स्थान को 3 प्रतिशत से बढ़ाकर 5 प्रतिशत किया गया है। इससे दिव्यांग आवेदकों को उच्च अध्ययन के लिए अधिक अवसर प्राप्त होंगे।
अन्य विशेषताओं में आवेदकों को एसएमएस अलर्ट द्वारा प्रवेश संबंधी जानकारी समय.समय पर दी जाएगी। आवंटन के बाद प्रवेश नहीं लेने वाले पंजीकृत आवेदक अथवा अनावंटित आवेदकों के लिए पुन: आगामी चरण के लिए ऑनलाइन महाविद्यालय विषय पाठ्यक्रम के चयन का विकल्प देना अनिवार्य है।
सम्पूर्ण इ-प्रवेश प्रक्रिया के सुचारु संचालन और आवेदकों की प्रवेश प्रक्रिया से जुड़ी समस्याओं के समाधान के लिए महाविद्यालयों एवं संचालनालय स्तर पर हेल्प-डेस्क स्थापित किया जा रहा है। साथ ही प्रवेश संबंधी समस्याओं के समाधान के लिए वेब-बेस्ड व्यवस्था इ-प्रवेश पोर्टल पर उपलब्ध कराई जा रही है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned