अखिलेश को नहीं लगता सर्पों से डर, दे रहे सर्प न मारने का संदेश

जहरीले सर्प को ऐसे पकड़ लेते हैं जैसे कोई प्लास्टिक का खिलौना

By: sunil vanderwar

Published: 24 Apr 2019, 11:20 AM IST

सिवनी. यदि किसी के घर में सर्प निकल जाए और वो भी यदि जहरीली प्रजाति का हो तो लोगों की रूह कांप जाती है। लोग उसे किसी प्रकार प्रयत्न करके बाहर करना चाहते हैं या जोखिम न लेने उसको मार देने पर आमादा रहते हैं। इससे अलग दूसरी तस्वीर छपारा ब्लॉक के ग्राम चमारीखुर्द में दिखाई दे रही है। यहां के अखिलेश बरकड़े सर्प को पकड़ते हैं, जंगल में छोड़ते हैं और लोगों को यही संदेश दे रहे हैं कि सर्प को न मारें।
किसी के घर में कोई जहरीला सर्प निकल गया है तो लोग उसे मारते नहीं हैं, लोग गांव के युवा अखिलेश बरकड़े को बुलाते हैं और अखिलेश भी खुशी-खुशी लोगों के बुलावे पर तुरंत पहुंच जाते हंै और जहरीले सर्प को ऐसे पकड़ लेते हैं जैसे कोई प्लास्टिक का खिलौना पकड़ा हो।
बताया कि अखिलेश जहां भी जाते है उनके इस तरीके और साहस को देखने लोगो की भीड़ इकट्ठा हो जाती है। सांप को पकडऩे के बाद अखिलेश उसे जंगल में छोड देता है। सर्प को पकडऩे के लिए लोग आसपास के गांवों से भी अखिलेश को बुलाकर ले जाते हंै।
ग्राम के रामस्वरूप कुशवाहा के घर विगत दिवस घर की मचान में कोडिय़ा प्रजाति का सर्प दिखाई पड़ा, काफी मशक्कत के बाद भी जब परिवार के लोग सर्प को नही तलाश पाए तो उनके द्वारा ग्राम के अखिलेश बरकड़े को फोन करके बुलाया गया। अखिलेश ने मौके पर पहुंचकर तुरंत ही सर्प पर काबू पाकर पकड़ लिया। इस दौरान वहां ग्रामीणों की भीड़ एकत्रित हो गई। पकड़े हुए सर्प को अखिलेश द्वारा जंगल ले जाकर छोड़ दिया गया।

डरें नहीं, हिम्मत से काम लें -
सांप भी हमारी तरह जीव होता है, उसके निकलने पर लोगों को डरना नही चाहिए, बल्कि हिम्मत से काम लेना चाहिए। मुझे लोगों की सेवा करके खुशी मिलती है।
अखिलेश बरकड़े, युवा

सर्प को न मारने का दे रहे संदेश -
अखिलेश बहुत कुशलता से सांप पकडता है। उसके प्रयासों के कारण लोग सांप को मारना छोड रहे है। अखिलेश भी सभी को सर्प न मारने का संदेश देते हैं।
शिवकुमार कुशवाहा, ग्रामीण

sunil vanderwar Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned