scriptAlert - Mobile is the biggest medium of cyber crime | अलर्ट - साइबर क्राइम का सबसे बड़ा माध्यम है मोबाइल | Patrika News

अलर्ट - साइबर क्राइम का सबसे बड़ा माध्यम है मोबाइल

एडीजीपी ने साइबर क्राइम से बचने के बताए तरीके

सिवनी

Published: June 17, 2022 07:53:42 pm

सिवनी. साइबर सुरक्षा के विषय में सिवनी के नागरिकों, विद्यार्थियों को अहम जानकारी देने साइबर सिक्युरिटी अवेयरनेस प्रोग्राम का आयोजन पुलिस विभाग के एडीजीपी डॉ. वरूण कपूर की उपस्थिति में नगर के नागपुर रोड स्थित एक निजी लॉन में हुआ।
डॉ. वरूण कपूर ने छात्रों को डिजिटल डिवाइस के इस्तेमाल में जागरूकता बरतने की सलाह देते हुए कहा कि युवा छात्र-छात्राओं से लेकर नौकरीपेशा एवं पैसे के लेन-देन मे जिस तरह से अपराध बढ़ रहा है, जो कई तरीके से मैसेज भेजकर अपनाए जा रहे हैं, उससे बचने का एक मात्र विकल्प आपकी अंगुलियों पर नियंत्रण एवं संयम से संभव है।
बताया कि वॉट्सएप, फेसबुक, इंस्टाग्राम आदी सोशल नेटवर्क साईट आपसे कोई राशि नहीं लेते परंतु आपकी जानकारी कहीं संरक्षित हो रही है। कहीं तीसरी ऑंख आपको देख रही है, आपको पता नही होता है जिसका दुरूपयोग करने वाले कई युवा इसी से बड़ी राशि एकत्रित कर अपने चिर-परिचित, मित्रों से जानकारी विलोपित करने के लिए उगाही करते हैं, हमे इसकी तत्काल शिकायत पुलिस को करनी चाहिए ताकि पीडि़त को बिना डरे न्याय मिल सकें। इसके लिए ब्लैकमेंलिंग आदि को आधार बनाकर अपने आपको लुटने से बचाऐं। ब्लैकमेल बिल्कुल ना हों आपने कोई अपराध नहीं किया है, अपराधी आपको ब्लैकमेल कर रहा है। आज की युवा पीढ़ी सस्ते मोबाइल खरीदने के चक्कर मे मोबाइल वायरस से अपने डाटा बेच रहे हैं, सस्ते के चक्कर में युवा ना फंसे, अच्छे एवं उच्च तकनीकि के मोबाइल का ही उपयोग करें।
कोरोनाकाल में बढ़ा साइबर क्राइम
छात्रों से कहा कि विश्व मे कोरोनाकाल के समय लड़के ऑनलाइन गेम्स के आदि हो गए हैं, ऑनलाईन आध्यापन के स्थान पर मोबाइल गेम्स में जुड़कर अपने घर की संपत्ति एवं गहने आदि बेचकर स्वयं को समाप्त कर रहे हैं, जो बेहद चिंतनीय है। साइबर क्राइम हर वक्त आपके आस-पास है, आपको दिखता नहीं और हर खूबसूरत चीज वास्तविक नहीं होती। इंटरनेट मे बड़ा झोलमाल है, इसके अधिक इस्तेमाल से बचना और सुरक्षित रहने के लिए मन, मस्तिष्क, हृदय और अंगुलियों पर नियंत्रण करना होगा। क्योंकि साइबर क्राइम की उस तीसरी आंख से आपको सिर्फ और सिर्फ आप ही बचा सकते हो, वह भी अपने आप पर नियंत्रण करके।
कई गुना बढ़ गया है साइबर क्राइम
बताया कि पिछले कुछ वर्षों में साइबर क्राइम कई गुना बढ़ गया है, जो आज समाज के लिए बेहद घातक है। इसके लिए सभी को जागरूक रहने की जरूरत है। साइबर क्राइम से बचने का यदि कोई तरीका है तो सिर्फ हमारी जागरूकता। किसी भी चीज के बारे में पहले जानना फिर करना ही जागरूकता कहलाती है। साइबर क्राइम का शिकार का सिर्फ एक ही तरीका है और वो है मोबाइल, जो कि आज हर किसी के पास आसानी से उपलब्ध है। जिसमें युवाओ को ज्यादा प्रभावित करने वाली चीजें होती है।
साइबर क्राइम को रोकने वर्षों से कर रहे काम
एडीजीपी कपूर ने बताया कि मैं इस क्षेत्र में कई वर्र्षों से काम कर रहा हूं। आज के युग में साइबर सुरक्षा सभी के लिए सबसे बड़ी चुनौती इसलिए है, क्योकि यह अपनी दुनिया का अपराध नहीं है। यह एक अलग ही दुनिया का अपराध है। साइबर की दुनिया में जाने से पहले अपनी मानसिकता बदलनी होगी, हमें अपनी दुनिया में रहना होगा। इस दुनिया के आदमी को कुछ भी दिखाया और सुनाया जा सकता है, लेकिन वो सही नही हो सकता। हम जब भी किसी उपकरण का उपयोग कर रहे हों तो मान लेना चाहिए कि यह असली दुनिया नहीं है। कहा कि हमारी हर तरह की जानकारी इन्फार्मेशन, कम्यूनिकेशन, सोशल नेटवर्किंग, एन्टरटेनमेंट और कॉमर्स के माध्यम से अपराधियों तक पहुंच सकती है। जिसकी ज्यादातर जानकारी हम स्वयं उन्हें देते है। हम अपनी सूचना जब किसी को प्रदान करते हंै तो अपराधियों के लिए साइबर क्राइम का एक आधार बन जाता है। हमें बड़ी ही जिम्मेदारी से सोशल नेटवर्किंग का उपयोग करना चाहिए। हमसे समाज देश और राष्ट्र बनता है। हम मोबाइल का उपयोग सबसे ज्यादा मनोरंजन करने में बिताते हैं।
साइबर क्राइम से बचने के बताए उपाय
सावधानी के अहम उपाय बताते कहा कि साइबर क्राइम से बचने हमें किसी की भी बात का जवाब नही देना है। दूसरे को नजर अंदाज करना है। कोई ज्यादा परेशान कर रहा हो तो अनफ्रेंड कर दो इसके अलावा सबूत को किसी भी तरह सुरक्षित करके रखना है। इसके अलावा यूआरएल भी सेव कर सकते हैं। यदि कोई फोन करता है तो उसकी आवाज रिकार्ड कर लेना है। जब भी आप फेसबुक, व्हाटसआप पर या अन्य साधन से मैसेज भेजते हैं तो ध्यान रखना है कि किसी की भावना तो आहत नहीं हो रही है। साथ ही किसी को अपमानित करने वाले कोई भी मैसेज ना डालें वरना ये आपके लिए बहुत बड़ी परेशानी बन सकता है। आज के युग में ऑनलाइन गेमिंग एक व्यापार है, जिसकी लत युवाओं और बच्चों में लग जाती है, जिससे बचना है। किसी भी अनजान के संपर्क में नही रहना है। यदि कोई परिचित मोबाइल से फे्रंड रिक्वेस्ट भेजता है तो उसके पहले वैरिफाई कर लें। इसके अलावा अभिभावकों को चाहिए कि वे अपने बच्चो की मॉनिटरिंग करें, कहां जा रहा है, किसके साथ रह रहा है, खाना बराबर खा रहा है कि नहीं, यदि थोड़ा भी परिवर्तन उसमें दिखे तो उससे बात करें और जानने की कोशिश करें इससे आप अपने बच्चे को बहुत बड़ी मुसीबत से बचा सकते हंै। आप भी सावधान रहें सतर्क रहें और सुरक्षित रहें।
ओटीपी न करें किसी को शेयर
आयोजन में सहयोगी डॉ. केके चतुर्वेदी ने कहा कि साइबर क्राइम का जाल शहरों से गांव कस्बों तक पहुंच गया है, इस बावत लोगों को इंटरनेट सेवा के अधिकाधिक इस्तेमाल से बचना चाहिए तथा किसी को भी अपनी महत्वपूर्ण जानकारी सोशल नेटवर्क साइट मे शेयर नही करना चाहिए। ओटीपी आदि किसी से शेयर ना करने की समझाइस दी।
अलर्ट - साइबर क्राइम का सबसे बड़ा माध्यम है मोबाइल
अलर्ट - साइबर क्राइम का सबसे बड़ा माध्यम है मोबाइल

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

बिहारः कांग्रेस ने बुलाई विधायकों की बैठक, नीतीश कुमार के साथ जाने पर बन सकती है सहमति!Maharashtra Cabinet Expansion: कल 15 मंत्री लेंगे शपथ, देवेंद्र फडणवीस को मिलेगा गृह विभाग? जानें शिंदे कैबिनेट के संभावित मंत्रियों के नाम'इनकी पुरानी आदत है पूरे सिस्टम पर हमला करने की', कपिल सिब्बल के बयान पर बोले कानून मंत्री किरेण रिजिजूअरविंद केजरीवाल ने कहा- देश की राजनीति में परिवारवाद और दोस्तवाद खत्म कर भारतवाद लाएंगेAmit Shah Visit To Odisha: अमित शाह बोले- ओडिशा में अच्छे दिन अनुभव कर रहे लोग, सीएम नवीन पटनायक की तारीफ भी की'नीतीश BJP का साथ छोड़े तो हम गले लगाने को तैयार', बिहार में मचे सियासी घमासान पर बोले RJD नेता शिवानंद तिवारीगालीबाज भाजपा नेता पर रखा गया 25 हजार का इनाम, 40 टीमें तलाश में जुटीTET घोटाले में हुआ बड़ा खुलासा, शिंदे गुट के विधायक अब्दुल सत्तार की बेटियों के नाम आए सामने, शिवसेना ने बोला हमला
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.