हाजिरी लगाकर गायब हो जाने वाले शिक्षकों पर होगी कार्रवाई

हाजिरी लगाकर गायब हो जाने वाले शिक्षकों पर होगी कार्रवाई

Sunil Vandewar | Updated: 07 Apr 2019, 11:50:32 AM (IST) Seoni, Seoni, Madhya Pradesh, India

कलेक्टर, डीइओ निरीक्षण के दौरान देख चुके हैं स्कूलों की हकीकत

सिवनी. पिछले शिक्षण सत्र में कलेक्टर, डीइओ, डीपीसी ने जब सरकारी स्कूलों का आकस्मिक निरीक्षण किया था, तब कई स्कूलों में बिना सूचना प्राचार्य, शिक्षकों के गायब रहने की हकीकत से सामना हुआ था। इस सत्र में सरकारी स्कूलों में शैक्षणिक व्यवस्था सुधारने स्कूल शिक्षा विभाग व जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय, जिला शिक्षा केन्द्र द्वारा स्कूल से हाजिरी लगाकर गायब रहने वाले शिक्षकों पर सख्त कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं।
नए शैक्षणिक सत्र की शुरुआत के साथ सरकारी स्कूलों का निरीक्षण कर ऐसे शिक्षकों की सूची तैयार की जाएगी। इसके लिए सम्बंधित जनशिक्षकों को निर्देशित भी किया गया है। ये जनशिक्षक प्रतिदिन स्कूलों में जाकर वहां की मैदानी रिपोर्ट बीआरसीसी कार्यालय को भेजेंगे।
उल्लेखनीय है कि बीते दिनों कलेक्टर, डीईओ, डीपीसी, बीआरसीसी ने अलग-अलग स्कूलों का औचक निरीक्षण किया था, जिसमें गैरहाजिर पाए गए प्राचार्य, प्रधानपाठक, शिक्षक और अन्य कर्मियों पर निलंबन, वेतनवृद्धि रोकने, वेतन काटने, शोकॉज नोटिस की कार्रवाई की गई थी। पूर्व में डीइओ, डीपीसी ने सम्बंधितों को निरीक्षण करने व स्पष्ट जानकारी भेजने के निर्देश भी दिए थे। जिस पर बीआरसीसी, जनशिक्षकों ने बहुत गंभीरता से कार्य नहीं किया। जिससे स्कूलों में हाजिरी लगाकर शिक्षक गायब होने की पुरानी आदत पर लग गए थे।
इस सत्र में होगा नियमित निरीक्षण -
शिक्षा विभाग के अधिकारियों का कहना है कि इस शिक्षण सत्र में सतत निरीक्षण कर व्यवस्था में आवश्यक सुधार लाया जाएगा। ब्लॉक के अलावा जिला स्तर की एक टीम बनाकर स्कूलों निरीक्षण भी किया जाएगा। ऐसे में यदि बिना अवकाश लिए शिक्षक स्कूल से गायब मिलते हैं तो उनके खिलाफ सख्त अनुशासनात्मक कार्यवाही की जाएगी। वहीं जो जनशिक्षक कार्य के प्रति लापरवाही बरतेंगे, उन्हें भी कार्रवाई का सामना करना पड़ सकता है। जनशिक्षकों का कहना है कि स्कूलों में शिक्षकों की मॉनिटरिंग से लेकर स्कूलों की मैपिंग तक का काम दे दिया गया है। ऐसे में व्यवस्थित कार्य में समस्या आ रही है। विभागीय अधिकारियों से व्यवस्था में आवश्यक सुधार के लिए चर्चा भी की जाती रही है।
यहां लटका था ताला, हुई जांच -
बीती ३० मार्च को सिवनी ब्लॉक के जमुनिया गांव में प्राथमिक शाला के प्रधानपाठक, शिक्षक तय समय से पहले ही बिना वरिष्ठ कार्यालय को सूचित किए ताला लगाकर चले गए थे। अब इस मामले में बीआरसीसी राहुल प्रताप सिंह ने जनशिक्षक आरके दुबे के माध्यम से जांच कराई और प्रतिवेदन डीइओ, डीपीसी को भेजा है। उनके द्वारा इस पर आगे की कार्रवाई तय होना है। ग्रामीण, अभिभावक, पूर्व पालक शिक्षक संघ के अध्यक्ष ने लापरवाह प्रधानपाठक, शिक्षक पर कार्रवाई की मांग की है।

गैरहाजिरी पर निश्चित होगी कार्रवाई -
सभी प्राचार्यों, शिक्षकों को लगातार निर्देशित किया जा रहा है, कि शाला संचालन के निर्धारित समय तक उपस्थित रहें। जो बिना अनुमति गैरहाजिर रहेंगे, उन पर निश्चित कार्रवाई होगी। पूर्व में निरीक्षण में कुछ जगह गैरहाजिर पाए गए शिक्षकों पर कार्रवाई भी की गई थी। अब सतत निरीक्षण भी होगा।
जीएस बघेल, डीइओ सिवनी

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned