बोर्ड परीक्षा - सरल था प्रश्नपत्र, बहुत लिखा फिर भी छूट गए कुछ प्रश्न

14451 विद्यार्थियों ने दी 12वीं के हिन्दी विशिष्ट की परीक्षा

By: sunil vanderwar

Published: 03 Mar 2020, 01:02 AM IST

सिवनी. प्रश्नपत्र तो बहुत सरल था, बहुत लिखा, फिर भी दो-तीन प्रश्न छूट ही गए, फिर भी खुशी है कि पेपर बहुत अच्छा रहा। ऐसी बातें सोमवार को बोर्ड परीक्षा की 12वीं का हिन्दी विशिष्ट का प्रश्नपत्र हल कर परीक्षा केन्द्र से निकले परीक्षार्थी एक-दूसरे से बताते दिखाई दिए।
माध्यमिक शिक्षा मण्डल भोपाल द्वारा निर्धारित 76 परीक्षा केंद्रों पर परीक्षा का आरंभ सोमवार को हुआ। हायर सेकेण्डरी (12वीं) के लिए कुल दर्ज 14723 में से 14451 परीक्षार्थियों ने हिन्दी विशिष्ट का पर्चा हल किया। 272 की अनुपस्थिति दर्ज की गई। परीक्षा केंद्रों पर सभी जरूरी इंतजाम व सुरक्षाकर्मियों की मौजूदगी में परीक्षा सम्पन्न हुई। वहीं जिले भर में एक भी नकल प्रकरण नहीं बना। परीक्षा आरंभ होने से पहले विद्यार्थियों में कुछ हड़बड़ाहट, घबराहट थी, लेकिन केन्द्र में पहुंचने पर जैसे ही हिन्दी विशिष्ट का प्रश्नपत्र हाथ में आया तो चेहरे पर मुस्कान आ गई। विद्यार्थियों ने बताया कि प्रश्नपत्र बहुत अच्छा था, अच्छे नम्बर मिलने की उम्मीद भी की जा रही है।
परीक्षा की गोपनीयता पर पूरा ध्यान -
सिवनी. जिले के 17 थानों में बोर्ड परीक्षा की गोपनीय सामग्री (प्रश्नपत्र) रखवाए गए हैं। यह सामग्री गोपनीयता के बीच परीक्षा केन्द्र तक पहुंचे। इसके लिए कलेक्टर द्वारा ३८ प्रतिनिधि नियुक्त हुए हैं, इनमें विभिन्न विभागों के अधिकारी शामिल हैं। परीक्षा केन्द्र के नजदीकी थाना से कलेक्टर प्रतिनिधि की मौजूदगी में पेटी खोलकर हिन्दी विशिष्ट का प्रश्नपत्र परीक्षा केन्द्र अध्यक्ष के सुपुर्द किया गया। केन्द्र पर निर्धारित समय में ०९ बजे गोपनीय सामग्री का लिफाफा खोला व परीक्षार्थियों में वितरण कराया गया।
कहीं समय पर तो कहीं विलम्ब से पहुंचे छात्र
जिले भर के 76 परीक्षा केंद्रों में आयोजित 12वीं बोर्ड की परीक्षा के प्रथम दिन अधिकांश परीक्षार्थी निर्धारित समय से कोई आधा घण्टे पहले तो कोई निर्धारित समय सीमा से 10-15 मिनट लेट परीक्षा केंद्रों में पहुंचे। वहीं जिले के अतिसंवेदनशील व संवेदनशील 10 परीक्षा केंद्रों पर जहां नियमित व स्वाध्यायी परीक्षार्थी सम्मिलित हुए, वहां नकल रोकने के लिए कड़े बंदोबस्त किए गए थे। कक्ष में प्रवेश से पहले परीक्षार्थियों के जूते-मोचे, सेंडल, मोबाइल, पर्स व अन्य इलेक्ट्रानिक सामग्री बाहर रखवा ली गई व सूक्ष्म जांच की गई। मोबाइल एक जगह बाहर सुरक्षित रखने की व्यवस्था बनाई गई थी।
विद्यार्थियों का भय दूर करने लगाया तिलक, दिया उपहार
छात्रों में परीक्षा का भय दूर करने और उन्हें प्रोत्साहित करने के लिए उत्कृष्ट विद्यालय सिवनी के प्राचार्य, शिक्षक-शिक्षिकाओं ने नवाचार किया। सोमवार से प्रारंभ हुई हायरसेकण्डरी परीक्षा के प्रथम दिवस शासकीय उत्कृष्ट विद्यालय सिवनी के प्राचार्य डॉ. आरपी बोरकर और उनके सहयोगी स्टाफ द्वारा एक अभिनव पहले करते हुए विद्यालय का परिणाम शत-प्रतिशत प्राप्त करने को दृष्टिगत रखते हुए एवं छात्रों के मन से परीक्षा का भय समाप्त कर उन्हें उत्कृष्ट परीक्षा परिणाम लाने के लिए प्रोत्साहित करने के लिए परीक्षा केंद्र महारानी लक्ष्मी बाई उच्चतर माध्यमिक विद्यालय सिवनी में प्राचार्य एवं उनकी टीम प्रात: 8 बजे से उपस्थित रही। विद्यालय के कक्षा 12वीं के सभी 485 छात्र-छात्राओं का तिलक लगाकर चाकलेट एवं पेन भेंट कर सभी उत्कृष्ट परीक्षा परिणाम की शुभकामना देते हुए समस्त स्टाफ ने आशीर्वाद दिया। सभी छात्र-छात्रा विद्यालय द्वारा किए इस कार्य से प्रसन्न और उत्साहित हुए। जिला शिक्षा अधिकारी जीएस बघेल का भी आगमन छात्र-छात्राओं के बीच हुआ। उन्होंने भी उपस्थित छात्र-छात्राओं को तिलक लगाकर उज्जवल भविष्य की कामना की और विद्यालय परिवार द्वारा किए गए इस अभिनव प्रयास की प्रशंसा करते हुए इसे अनुकरणीय बताया। इस अवसर पर पीपी पाण्डेय, एससी सिंह, अनुराग सक्सेना, प्रभात मिश्रा, ओपी अग्रवाल, एसएस सनोडिया, अरविंद श्रीवास्तव, कल्पना कोष्ठा, शरद मिश्रा, अनिल राजपूत, नितिन करमेले, सुधांशु श्रीवास्तव व अन्य उपस्थित रहे।
सरल था प्रश्नपत्र, छूट गए कुछ प्रश्न -
बारहवीं के पहले प्रश्न पत्र की परीक्षा को लेकर परीक्षार्थियों के मन में कौतूहल था, लेकिन जैसे ही उनके हाथ प्रश्न पत्र आया परीक्षार्थियों के चेहरे खिल गए। सरल प्रश्न पत्र होने से परीक्षार्थियों ने पूरे समय का इस्तेमाल किया। प्रश्न पत्र को बेहतर ढंग से पूरा कर बाहर निकले परीक्षार्थी एक-दूसरे से खुशी जाहिर करते नजर आए। वहीं बताते देखे गए कि लगातार लिखने के बाद भी समय कम पड़ गया और कुछ प्रश्न छूट गए।
डीइओ की टीम करती रही निरीक्षण -
कलेक्टर प्रवीण सिंह द्वारा तहसीलदार, नायब तहसीलदार की बनाई गई टीमों के अलावा डीइओ की टीम लगातार परीक्षा केन्द्रों का जायजा लेते रही। परीक्षा केन्द्रों के इंतजाम देखे। इस दौरान डीइओ जीएस बघेल, सहायक संचालक एसएस कुमरे, एपीसी विपनेश जैन, एपीसी चुनेन्द्र बिसेन व अन्य उपस्थित रहे।

सहायक संचालक पहुंचे दूरस्थ परीक्षा केन्द्र -
जिले के घंसौर, धनौरा, लखनादौन विकासखण्ड के दूरस्थ गांव में बनाए गए परीक्षा केन्द्रों पर विधिवत आयोजन के लिए जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय के सहायक संचालक एसएस कुमरे भी सतत निरीक्षण करते रहे। उन्होंने शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय शिकारा, गोरखपुर, अशासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय घंसौर, शासकीय कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय घंसौर व अन्य केन्द्रों का निरीक्षण किया।
10वीं का पहले प्रश्नपत्र की परीक्षा मंगलवार को
माध्यमिक शिक्षा मण्डल द्वारा निर्धारित किए गए 80 केन्द्रों पर मंगलवार को हाइस्कूल (10वीं) के पहले प्रश्नपत्र की परीक्षा आयोजित होगी। इस परीक्षा में 20317 नियमित एवं 1752 स्वाध्यायी परीक्षार्थी सम्मिालित होने की पात्रता रखते हैं। परीक्षा से आधा घंटा पूर्व परीक्षार्थियों को केन्द्र पर उपस्थिति देने के लिए कहा गया है।

Show More
sunil vanderwar Reporting
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned