बरघाट विस के पूर्व भाजपा प्रत्याशी पर हमला करने वालों पर 24 घंटे बाद प्रकरण दर्ज, आरोपी नहीं हुए गिरफ्तार

मीडिया से मुखातिब होकर बोले बरकड़े जिला प्रशासन निष्क्रिय, कलेक्टर, एसपी के पास समय नहीं, करेंगे शिकायत

By: akhilesh thakur

Published: 23 Feb 2021, 08:35 PM IST

सिवनी. जिले में कानून व्यवस्था बेपटरी है। आमजन की छोडि़ए यहां भाजपा के टिकट पर विधानसभा का चुनाव लडऩे वालों के साथ मारपीट हो रही है और जिले के आला अफसर उसकी बात सुनने समय नहीं दे पा रहे है। यह आरोप बरघाट विस के प्रत्याशी रहे नरेश बरकड़े ने लगाए हैं। बरघाट थाने में उनके शिकायत करने के २४ घंटे बाद प्रकरण दर्ज हुआ है। हमला करने वाले आरोपी अब भी पुलिस की पकड़ से दूर है। उन्होंने जिला प्रशासन को निष्क्रिय बताया है। संगठन में ऊपर शिकायत करने की बात कही है। कहा है कि ८४ हजार लोगों ने मुझे वोट दिया था। ऐसे में मेरी जिम्मेदारी है कि मैं उनकी बातों को सुनकर उनके समस्याओं को समाधान कराने का प्रयास करूं।
उन्होंने कहा कि २० फरवरी को दोपहर अतरी निवासी पूर्व सरपंच डीमान सिंह भगत के पिता यादोरावजी भगत के निधन पर उनके अंतिम संस्कार में गोरखपुर हिर्री नदी स्थित मोक्षधाम पर शामिल होने गया था। वहां से कुछ दूर नदी में एक पोकलेन मशीन से रेत निकाला जा रहा था, पास में ही एक डंफर खड़ा था। ग्रामीणों ने बताया कि वहां रेत निकालने वाले लोग कहीं से भी मशीन डालकर रेत निकाल रहे हैं। वे नियमों को ताक पर रखकर कार्य कर रहे हैं। इसकी वजह से नदी किनारे तक गहरे-गहरे गड्ढे हो गए हैं। इसकी वजह से किसानों का खेत नदी में मिलते जा रहा है। इससे उनको क्षति हो रही है। उनके कहने पर मैं मौके पर गया और आपरेट से पूछताछ की। उसने काल किया तो लग्जरी कार से कुछ लोग मौके पर पहुंच गए। उन लोगों ने मारपीट किया और जाति ***** तथा अपशब्द बोलते जान से मारने की धमकी दी। उनके पास असलहे भी थे। बताया कि उस समय मौके पर मेरे काल करने के बाद बरघाट थाने से चार पुलिसकर्मी मौके पर भी पहुंच गए थे। हमला करने वाले लोग उनसे भी नहीं डरे। बरकड़े की शिकायत पर पुलिस ने एससी/एसटी एक्ट सहित संबंधित धाराओं में अमित सूर्यवंशी उर्फ शेरू, विक्की सूर्यवंशी, लवी राय उर्फ सिद्धार्थ राय, कमलेश कुमरे के खिलाफ प्रकरण दर्ज कर लिया है। सभी आरोपी पुलिस की प्रकरण से दूर है।
बताया कि मैंने इस संबंध में बात करने के लिए कलेक्टर व एसपी से मुलाकात करना चाहा, लेकिन उन लोगों से मेरी मुलाकात नहीं हो पाई। कई बार काल किया, लेकिन काल रिसीव नहीं हुआ। एसपी से मेरी सोमवार को सिवनी पहुंचने के बाद मोबाइल पर बात हुई तो उन्होंने मंगलवार को मिलने का समय दिया है, लेकिन कलेक्टर ने मेरा काल उठाना बंद कर दिया है। मैं इसकी शिकायत ऊपर संगठन में करुंगा।

वर्जन -
मुझे इस मामले में कोई जानकारी नहीं है। मैं पूरे दिन कार्र्यालय में रहा। मुझसे मिलने कोई नहीं आया है।
- डॉ. राहुल हरिदास फटिंग, कलेक्टर सिवनी

akhilesh thakur Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned